छोटा पैकेज बढ़ा धमाल, ऐसे हैं ये प्रोजेक्टर!

Written By:

पॉकेट प्रोजेक्‍टर बड़े प्रोजेक्‍टरों का एक छोटा रूप है जिसे आप ट्रैवल करते समय अपने साथ रख सकते हैं, ये न सिर्फ ऑफीशियल कामों को आसान बनाते हैं बल्कि अगर आप एक शहर से दूसरे शहर अपने ऑफिशियल या फिर पर्सनल टूर में इन्‍हें कैरी भी कर सकते हैं।

हालांकि इनकी कीमत इनके साइज के मुताबिक बड़े प्रोजेक्टरों से कुछ खास कम नहीं हैं। लेकिन अपने आकार की वजह से ये काफी पसंद किए जाते हैं।

तो चलिए जानते हैं कुछ पॉपुलर पॉकेट प्रोजेक्टरों के बारे में-

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

UO Smart Beam Laser

दुनिया का सबसे छोटा प्रोजेक्टर है यूओ स्मार्ट बीम लेज़र। 2.2 इंच के इस प्रोजेक्टर को आप अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं। यह प्रोजेक्टर लेज़र डायोड्स का इस्तेमाल करता है, इससे आपको एक ब्राइट स्क्रीन का अनुभव प्राप्त होता है। यह प्रोजेक्टर 100 इंच व 720 पिक्सल का हाईडेफिनेशन वीडियो डिस्प्ले करता है।

Celluon Epic Laser Keyboard

आज कि मोबाइल सोसाइटी के लिए ये छोटा सा प्रोजेक्टर काफी सटीक है। ये प्रोजेक्टर आपके किसी भी डिवाइस से ब्लूटूथ के जरिए कनेक्ट हो कर एक वर्चुअल लेजर क्वॉट्री की-बोर्ड देता है। इससे आप आराम से टाइपिंग कर सकते हैं।

Door Shadow laser Projector

ये प्रोजेक्टर ज्यादातर गाड़ियों में प्रयोग किए जाते हैं। ये प्रोजेक्टर दरवाजा खुलते ही कंपनी का लोगो जमीन पर डिस्प्ले करते हैं।

PicoPro

सबसे पतले प्रोजेक्टरों की लिस्ट में एक नाम PicoPro भी है। इसका वजन केवल 181 ग्राम है. यह प्रोजेक्टर 360 डिग्री तक रोटेट हो सकता है। यह 250 इंच तक की स्क्रीन साइज देता है।

ZTE SPro 2

इस प्रोजेक्टर में 5इंच की टचस्क्रीन हैं। कनेक्टिविटी के लिए इसमें वाई-फाई और 4G सुविधा दी गयी है।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
This is Tech generation. So here are some tiny and advanced projectors for you.
Please Wait while comments are loading...
 गुस्से में मुस्लिम समुदाय, काली पट्टी बांधकर पढ़ेंगे ईद की नमाज
गुस्से में मुस्लिम समुदाय, काली पट्टी बांधकर पढ़ेंगे ईद की नमाज
चार पैरों वाले बच्चे ने लिया जन्म, भगवान विष्णु का अवतार समझ कर लोग करने लगे पूजा
चार पैरों वाले बच्चे ने लिया जन्म, भगवान विष्णु का अवतार समझ कर लोग करने लगे पूजा
Opinion Poll

Social Counting