स्मार्टफोन पर ऐसे बंद करें एप नोटिफिकेशन, नहीं होगी परेशानी

स्मार्टफोन में यदि हर टाइम आने वाले एप नोटिफिकेशन से परेशान हैं तो अब कर दीजिए इन्हें बंद।

Written By:

स्मार्टफोन इन दिनों सभी की आदत से ज्यादा जरुरत है। हर कोई स्मार्टफोन पर निर्भर करता है। चाहे सोशल मीडिया के जरिए सबसे जुड़े रहने के लिए हो या फिर दोस्तों से चैटिंग के लिए। बल्कि इन दिनों तो लोग फोन से शॉपिंग भी कर लेते हैं और इन सभी के लिए आती है एप्स, जो आपका काम और भी आसान बनती हैं।

स्मार्टफोन पर ऐसे बंद करें एप नोटिफिकेशन, नहीं होगी परेशानी

अब यदि आपको मूवी देखने जाना तो उसके लिए फोन में एक एप, शॉपिंग के लिए एक एप, सोशल मीडिया एप्स, न्यूज़ एप्स और भी कई सारी एप्स हैं जो स्मार्टफोन यूज़र्स फोन में रखते हैं। इन एप्स से आसानी तो होती है लेकिन एक आफत भी और वो है नोटिफिकेशन की आफत।

बंद हुई शेयरिंग, अब ओला उबर पर नहीं बचा पाएंगे पैसे

सुबह शाम जब देखो फोन में नोटिफिकेशन ही आते रहते हैं। कभी ऑफिस में काम करते हुए तो कभी गहरी नींद से आपको जगाने के लिए यह नोटिफिकेशन आते ही रहते हैं। यदि आप भी इस परेशानी से छुटकारा पाना चाहते हैं तो लीजिए फॉलो करें ये आसान ट्रिक।

स्मार्टफोन पर ऐसे बंद करें एप नोटिफिकेशन, नहीं होगी परेशानी

> यदि आप किसी एप के नोटिफिकेशन से परेशान हैं तो आप सबसे पहले उस एप के नोटिफिकेशन पर लॉन्ग प्रेस करें।
> लॉन्ग प्रेस करने पर आपके सामने एक नई विंडो आएगी उसमें कई सारे विकल्प दिए होंगे।
> इन्हीं विकल्पों में नोटिफिकेशन का भी आपको आप्शन मिलेगा।

स्मार्टफोन पर ऐसे बंद करें एप नोटिफिकेशन, नहीं होगी परेशानी

> यदि आप ब्लॉक करना चाहते हैं या फिर बंद करना चाहते हैं तो 'शो नोटिफिकेशन' के आप्शन को ऑफ कर दें। > किसी फोन में यह ब्लॉक ऑल के नाम से हो सकता है।
> जैसे ही आप इसे बंद करेंगे आपके उस एप से नोटिफिकेशन आना बंद हो जाएंगे।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज


English summary
How to get rid of apps's notifications on smartphone. Read more in Hindi.
Please Wait while comments are loading...
बूचड़खानों पर 'योगी एक्शन' को लेकर आजम खान का बड़ा बयान
बूचड़खानों पर 'योगी एक्शन' को लेकर आजम खान का बड़ा बयान
जानिए, नवरात्रों में क्या खाते हैं पीएम मोदी और सीएम योगी
जानिए, नवरात्रों में क्या खाते हैं पीएम मोदी और सीएम योगी
Opinion Poll

Social Counting