एक फोन से दूसरे फोन में कैसे ट्रान्सफर करें कॉन्टेक्ट्स..!

Written By:

आज समय स्मार्टफोन का है और अगर आप भी नया स्मार्टफोन खरीदते है तो सबसे पहली समस्या आती है पुराने मोबाइल के कॉन्टेक्ट्स, डाॅटा व टेक्सट मैसेज आदि नए में ट्रांसफर करना।

कहीं अपने फोन में इन एप्स का इस्तेमाल तो नहीं कर रहे आप..!

हो भी क्यों न क्योंकि स्मार्टफोन का डाॅटा सभी के लिए महत्वपूर्ण होता है। इसलिए इस काम को अन्जाम देने के लिए बहुत ही सर्तकता की जरूरत है।

इन पांच तरीकों से अपने स्मार्टफोन की बढ़ाएं मेमोरी..!

अब आप पूछेंगे कौन सी सावधानियां, तो चलिए आज हम आपको ऐसे टिप्स देने जा रहे हैं जिससे आप सरलता से एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में कॉन्टेक्ट व टेक्सट मैसेज आदि ट्रांसफर कर सकते हैं।

ये है स्मार्ट साइकिल, जानिए क्या है इसमें खास..!

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

गूगल अकाउंट्स से कॉन्टेक्ट्स ट्रांसफर

अगर आप अपने कॉन्टेक्स को गूगल अकाउंट्स से सिंक करके रखते हैं तो जैसे ही आप नए स्मार्टफोन में गूगल अकाउंट्स में साइन इन करते हैं तो सारे कॉन्टेक्ट्स अपने आप ही नए मोबाइल के कॉन्टेक्ट्स एप में सिंक हो जाते हैं और दिखने लगते हैं।

 

सिम कार्ड से कॉन्टेक्ट्स ट्रांसफर

अब अगर आपने अपने कॉन्टेक्टस गूगल अकाउंट से सिंक नहीं किए हैं तो भी परेशान होने की जरूरत नहीं क्योंकि इसके बिना भी आप इन्हें दो तरीकों से ट्रांसफर कर सकते हैं। मोबाइल सिम कार्ड में 250 कॉन्टेक्ट्स सेव हो जाते हैं। अगर आपके सिम में 250 से कम कॉन्टेक्ट हैं तो आसानी से इन्हें नए स्मार्टफोन में ट्रांसफर किया जा सकता है। सर्वप्रथम मोबाइल में कॉन्टेक्ट्स एप ओपन करें। फिर मेन्यू आइकन पर टैप करें। अब मैनेज, इम्पोर्ट/एक्सपोर्ट को सलेक्ट कर लें। यद्यपि अनेक मोबाइल्स में ऑटोमेटिक ही इम्पोर्ट/एक्सपोर्ट का ऑप्शन्स आ जाता हैं। अब आपको पॉप-अप विंडो दिखाई देंगी जहां से आपको एक्सपोर्ट टु सिम कार्ड सलेक्ट करना है। इतना करते ही

आपके सारे कॉन्टेक्ट्स फोन से सिम कार्ड में ट्रांसफर हो जाएंगे। अब आप सिम कार्ड को नए मोबाइल में डालकर नए स्मार्टफोन में भी उपर्युक्त प्रक्रिया को दोहराए बस इतना याद रखें कि इस प्रक्रिया के दौरान आपको एक्सपोर्ट करने की जगह इंपोर्ट करना होगा। अब सारे कॉन्टेक्ट्स आपके नए मोबाइल में आ जाएंगें।

मेमरी कार्ड से कॉन्टेक्ट्स ट्रांसफर

एक दूसरे तरीके यानि अपने मोबाइल में एड्रेसबुक को .वीसीएफ फाइल के रूप में अपने मेमोरी कार्ड में एक्सपोर्ट करके भी यह काम कर सकते हैं। अब आपको करना भर इतना है कि मेमरी कार्ड को नए मोबाइल में लगाना है और अपने कॉन्टेक्ट्स को उसमें इंपोर्ट कर लेना है।

टेक्स्ट मैसेज ट्रांसफर करना

टेक्स्ट मैसेज ट्रांसफर करने के लिए गूगल प्ले से आपको फ्री एसएमएस बैकअप और रीस्टोर ऐप डाउनलोड करना पड़ेगा। इसके बाद एक टच से ही आप एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में मैसेज बैकअप रीस्टोर कर सकते है। साथ ही मैसेज बैकअप के लिए अलग फोल्डर भी बना सकते हैं।

 

कंप्यूटर द्वारा ट्रांसफर

यदि आपके सिम में अधिक नंबर सेव हैं तो मोबाइल को कंप्‍यूटर से कनेक्‍ट करे। इसके बाद अपने सारे कांटैक्ट कंप्यूटर में सेव कर लें। अब नए मोबाइल को डाटा केबल की सहायता से कनेक्‍ट करके सारा डाटा उसमें दुबारा डाल लें। इसी प्रकार मीडिया फाइल ट्रांसफर करने के लिए आपको पहले वाले फोन को डाटाकार्ड द्वारा कंप्यूटर से जोड़ना होगा। फिर कंप्यूटर में फाइल को ट्रांसफर करना होगा। अब वहां से उस फाइल को डाटाकार्ड से नए मोबाइल में ट्रांसफर करना होगा।

नोकिया/ब्लैकबेरी मोबाइल के लिए

यदि आपके पास नोकिया/ब्लैकबेरी मोबाइल है तो कॉन्टेक्ट्स ट्रांसफर करने के लिए सबसे पहले आपको नोकिया के लिए नोकिया पीसी सूट और ब्‍लैकबेरी के लिए ब्‍लैकबेरी लिंक अपने कंप्यूटर में इंस्‍टॉल करना होगा जिसमें आपका मोबाइल का सारा डाटा सेव रहेगा।

बैकअप सिस्टम

आजकल आने वाले अधिकांश स्मार्टफोनों में अपना बैकअप सिस्टम होता है जैसेकि Samsung Kies, HTC Sync और Motorola MotoCast। इसमें आप कांटेक्ट व दूसरे फाइल का बैकअप लेकर एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में ट्रांसफर कर सकते हैं।

 


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

WHAT OTHERS ARE READING


English summary
One problem which everyone faces who changes their Phone. yes it is contacts problem. Here is how to transfer contacts from one mobile to another.
Please Wait while comments are loading...
एक शख्‍स ने करण जौहर को कहा नपुंसक तो मिला करारा जवाब
एक शख्‍स ने करण जौहर को कहा नपुंसक तो मिला करारा जवाब
शाहरुख खान बोले- 'पजामा भी बेचना पड़े तब भी खरीद लूं धोनी जैसा खिलाड़ी'
शाहरुख खान बोले- 'पजामा भी बेचना पड़े तब भी खरीद लूं धोनी जैसा खिलाड़ी'
Opinion Poll

Social Counting