वायरस अटैक से बचने के लिए आजमाएं ये तरीके

Written by: Super

बेशक, एंड्रायड मोबाइल और टेबलेट डिवाइस में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम है। इसमें इस्तेमाल होने वाले ऐप्स भी अनलिमिटेड हैं, जिनका यूज हम अपनी जरूरत के अनुसार कर सकते हैं। लेकिन वायरस अटैक डिजिटल वर्ल्ड का एक साइड इफेक्ट, जिससे अपने डिवाइस को बचाना कई बार बड़ी चुनौती बन जाती है। वायरस कभी-भी किसी भी रूप में हमारे सामने आ सकता है। कभी-कभी वायरस किसी थर्ड पार्टी ऐप के रूप में भी सिस्टम में जगह बना लेता है, जो आपके डेटा को नुकसान पहुँचा सकता है। एंटी-वायरस भी वायरस के हमले से बचने का एक समाधान है, लेकिन एंड्राइड डिवाइस में इस मुश्किल को बिना एंटीवायरस के भी काफी हदतक आसान किया जा सकता है। तो लेकिन घबराइये नहीं, जहाँ समस्या होती है, वहां समाधान भी होता है। कुछ टिप्स हैं, जिनके उपयोग से आप अपने डिवाइस को वायरस और मालवेयर के हमले से बचा सकते हैं। टिप्स जानने के बारे में नीचे विस्तार से पढ़ें।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

#1

मालवेयर के साथ रन करने वालीं ऐप्स आपके फोन को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इसका मुकाबला डिवाइस के माध्यम से ही किया जा सकता है। इसके लिए अपने डिवाइस को सेफ मोड में रन कराना होता है। सेफ मोड को सक्षम करने के लिए पॉवर बटन को दबाएँ, जिससे आपको पॉवर ऑफ विकल्प नजर आने लगेगा। पॉवर ऑफ बटन को दबाएं और होल्ड करें, इससे फोन सेफ मोड में रीस्टार्ट हो जाएगा। इससे आपको मालवेयर मुक्ति मिल सकती है।

#2

कई बार हमारे मोबाइल में कुछ अन-नोन ऐप्स भी जगह बना लेते हैं, जिनके बारे में हमें पता नहीं होता। लेकिन ये लगातार रन करती रहती हैं। इसका पता लगाने के लिए डिवाइस सेटिंग में जाकर डाउनलोड टैब्स के अंतर्गत चल रहीं ऐप्स को खोजें। इनमें से उस ऐप का पता लगा लें जो आपके डिवाइस पर नहीं चलनी चाहिए। उस ऐप को सिलेक्ट करके डिलीट कर दें।

#3

मैलिसियस ऐप (DODGY एंड्राइड वायरस एक उदाहरण है) पर टैप करें और अनइनस्टॉल करने के लिए क्लिक करें। कई बार वायरस डिवाइस एडमिन बन जाता है और इस कारण अनइंस्टॉल बटन ग्रे रंग का नजर आने लगता है। इसकी पहचान होने पर अनइंस्टॉल करने में देर ना करें।

#4

अब डिवाइस एडमिनिस्ट्रेटर पर जाएँ, जहाँ आपको ऐप्स की पूरी लिस्ट मिलेगी। आपको बस इसमें से उन ऐप्स को चुनना है, जिन्हें आप अपने डिवाइस में नहीं रखना चाहते हैं। हटाई जाने वाली ऐप्स को चुन कर अगली स्क्रीन पर डी-एक्टिवेट बटन पर क्लिक कर दें। इससे वह ऐप आपके मोबाइल से निकल जाएगी।

#5

मैलिसियस ऐप को अनइंस्टॉल करने के बाद अपने फ़ोन को सेफ मोड में लाने के लिए री-स्टार्ट करें। ऐसा करने से आपके फ़ोन से बेकार की ऐप्स या वे ऐप्स हट जायेंगी जिनमें वायरस के रहने के संभावना रहती है। और बस आपका स्मार्टफोन या टेबलेट वायरस से मुक्त हो जाएगा। तो देखा हो गयी ना मुश्किल आसान।

अन्य टेक टिप्स

फ्रीडम 251 नहीं खरीद पाए तो खरीद लीजिए फ्रीडम 651!

ईमेल भेजते हुए ध्यान रखें ये 10 जरुरी बातें!

ये टिप्स फेसबुक ऐप के फीचर्स को बेहतर बनाएंगी!

हिंदी गिज़बॉट

ऐसे ही अन्य न्यूज़ के लिए पढ़ें हिंदी गिज़बॉटलाइक करें हमारा फेसबुक पेज!


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
Android is an open source and likely to get virus and malware. If you believe your Android smartphone or tablet has a virus then don't worry, it can be easily deleted. These is what you need to do if your phone is down with virus.
Please Wait while comments are loading...
क्‍या किया कानपुर ने जब कुपवाड़ा हमले के शहीद कैप्‍टन आयुष का शव पहुंचा शहर
क्‍या किया कानपुर ने जब कुपवाड़ा हमले के शहीद कैप्‍टन आयुष का शव पहुंचा शहर
अन्ना के खिलाफ रिट्वीट मामले में मनीष सिसोदिया की सफाई- मेरा अकाउंट हैक किया गया
अन्ना के खिलाफ रिट्वीट मामले में मनीष सिसोदिया की सफाई- मेरा अकाउंट हैक किया गया
Opinion Poll

Social Counting