फेसबुक से क्यों बेहतर हैं व्हाट्स ऐप, जानिये 5 कारण!

Written by: Super

अगर लोगों से पूछा जाए कि फेसबुक और व्हाट्स ऐप में से उन्हें ज्यादा क्या पसंद है, तो ज्यादातर लोगों की पसंद व्हाट्स ऐप हो सकती है। हालाँकि, दोनों सोशल नेटवर्किंग का ही माध्यम हैं, लेकिन दोनों के फंक्शनेलिटी में काफी बड़ा फर्क है। यही वजह है कि यूथ का झुकाव फेसबुक से ज्यादा व्हाट्स ऐप और वीचेट जैसी ऐप्स के प्रति ज्यादा हो रहा है। आइये जानते हैं, पसंद में आए बदलाव के पांच बड़े कारण।

आर्मी वालों के लिए बेहद जरुरी हैं ये सोशल मीडिया टिप्स!

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

#1

फेसबुक को अपनी पसंद ना मानने की बड़ी वजह इसका ज्यादा सोशल होना है। दरअसल, अगर आप फेसबुक पर अपनी सेटिंग में बदलाव ना कर पाएं, तो आपकी कई सारी बातें सार्वजनिक हो सकती हैं। जबकि व्हाट्स ऐप और वी-चेट में आपकी बातें तभी सार्वजनिक हो सकती हैं, जब आप उन्हें करना चाहें। इसके लिए सेटिंग में कोई ख़ास बदलाव करने की जरूरत भी नहीं है।

#2

फेसबुक से आपका पर्सनल डेटा हैक होने या उसका गलत इस्तेमाल होने का ज्यादा खतरा रहता है। क्योंकि एक ये एक पब्लिक प्लेटफार्म है और इस पर किसी की भी प्रोफाइल पर जाने के लिए कोई रोक-टोक नहीं है। जबकि व्हाट्स ऐप जैसी एप्लीकेशन में अब तक इस तरह की शिकायतें सामने नहीं आई हैं और ऐसा को प्रत्यक्ष खतरा भी नजर नहीं आता है। इसलिए यह सिक्योरिटी के दृष्टिकोण से ज्यादा सेफ एंड सिक्योर है।

#3

फेसबुक पर मैसेज भेजने के बाद आप यह नहीं समझ पाते कि वह मैसेज उस तक पहुंचा है या नहीं, क्या उसने मैसेज पढ़ा है या नहीं। जबकि व्हाट्स ऐप में आपको इस इंतजार से मुक्ति मिलती है। अगर आप ऑफलाइन भी हैं, तो भी आपको तुरंत ये मैसेज मिलेंगे। ऑनलाइन होने पर इन्हें आप पढ़ सकते हैं। इसमें मैसेज का रीड/अनरीड स्टेट्स का भी पता लगा सकते हैं।

#4

फेसबुक पर आपको पता नहीं होता कि जिसे आप फ्रेंड मान रहे हैं, उसे आप वास्तव में जानते भीं हैं या नहीं, उसका फोटो और अन्य डिटेल्स सही या नहीं। इसलिए अननॉन और गलत लोगों से फेसबुक पर जुड़ने का खतरा ज्यादा होता है। क्योंकि आपकी फ्रेंड्स लिस्ट में वे लोग भी एड होते हैं, जिन्हें आप व्यक्तिगत रूप से नहीं जानते हैं। उनकी डिटेल्स ज्यातर फेक होती है। ख़ासतौर पर प्रोफाइल पिक्चर के बारे में तो इस बात को गारंटी से कहा जाने लगा है कि 70 प्रतिशत से ज्यादा लोग फेक प्रोफाइल पिक का यूज करते हैं। जबकि व्हाट्स ऐप पर फेक होने का खतरा बहुत कम है। इसमें आप उन्हीं लोगों से जुड़ते और मिलते हैं, जिन्हें आप व्यक्तिगत तौर पर जानते हैं। उनके फोन नंबर भी आपके पास होता है। जोकि वेरीफाइड किया गया होता है।

#5

फेसबुक के फ्रेंड लिस्ट में नजर आने वाले फ्रेंड में ज्यादातर बस नाम के दोस्त होते हैं, जिन्हें हम उनके प्रोफाइल के नाम और लाइक व कमेंट के द्वारा ही जानते हैं। ये रियल फ्रेंड नहीं होते। जबकि व्हाट्स ऐप पर ऐसा नहीं है।

अन्य टेक न्यूज़

आर्मी वालों के लिए बेहद जरुरी हैं ये सोशल मीडिया टिप्स!

क्या आप भी हैं एंड्रायड के इन फीचर्स से अंजान!

आईडिया यूज़र्स के लिए फ्री इंटरनेट टिप्स!

हिंदी गिज़बॉट

ऐसी अन्य न्यूज़ के लिए पढ़ें हिंदी गिज़बॉट और लाइक करें हमारा फेसबुक पेज!


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
Facebook and whatsapp both are very famous among youth. but do you know which one is better! Let's check it out here. Here are top 5 reasons why we prefer whatsapp over facebook.
Please Wait while comments are loading...
 गलत जर्सी पहनकर मैदान में उतर गए युवराज, लोगों ने ऐसे उड़ाया मजाक
गलत जर्सी पहनकर मैदान में उतर गए युवराज, लोगों ने ऐसे उड़ाया मजाक
पाक की पूर्व पीएम बेनजीर भुट्टो की 'सीक्रेट सेक्‍स लाइफ' का सच
पाक की पूर्व पीएम बेनजीर भुट्टो की 'सीक्रेट सेक्‍स लाइफ' का सच
Opinion Poll

Social Counting