कुछ ऐसे तय किया ब्‍लैकबेरी ने 957 फोन से लेकर जेड 10 स्‍मार्टफोन तक का सफर

Posted by:

ब्‍लैकबेरी ने करो या मरो की स्‍थित में नए ब्‍लैकबेरी 10 ओएस के साथ नए हैंडसेट बाजार में उतारे हैं। मोबाइल बाजार में ब्‍लैकबेरी की धीमी स्‍पीड उसे काफी भारी पड़ी है जिसकी वजह से कंपनी के शेयरों में गिरावट के साथ उसके उपभोक्‍ताओं की संख्‍या में भी कमी आई है।

पढ़ें: सैमसंग गैलेक्‍सी ग्रांड एंड्रायड स्‍मार्टफोन की टॉप 5 ऑनलाइन डील्‍स

ब्‍लैकबेरी ने अपनी सबसे पहली डिवाइस 1999 में पेजर के रूप में पेश की थी इसके बाद 2002 में सबसे पहला हैंडसेट पुशमेल सपोर्ट के साथ बाजार में उतारा था। इसके बाद धीरे धीरे ब्‍लैकबेरी ने अपने ओएस के साथ कर्व और टार्च सीरीज लांच की जो उसकी सबसे पॉपुलर सीरीज में से एक हैं।आईए तस्‍वीरों के माध्‍यम से देखते हैं कैसे ब्‍लैकबेरी ने कैसे तय किया नए स्‍मार्टफोन तक का सफर ।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर

ब्‍लैकबेरी ने कुछ ऐसे तय किया अपना सफर


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
संभल में अपनी सास से संभलकर रहना दामाद जी!
संभल में अपनी सास से संभलकर रहना दामाद जी!
Opinion Poll

Social Counting