5 कारण: क्‍यों न खरीदें सस्‍ते एंड्रायड फोन

Posted by:

क्‍या आप स्‍मार्टफोन लेने जा रहे हैं, लेकिन कही कम कीमत चक्‍कर में आप गलत स्‍मार्टफोन न चुन लें। दोस्‍तों अक्‍सर हम कोई भी फोन लेने से पहले उसकी कीमत पर नजर डालते हैं। लेकिन कम कीमत ज्‍यादा फीचर लेने के चक्‍कर में कभी न पड़े क्‍योंकि कुछ बाहरी फीचरों के चक्‍कर में आप ऐसा फोन चुन लेते हैं जिससे बाद में आपको पछतावा होता है।

जैसे फोन में कितनी रैम दी गई है, उसमें प्रोसेसर कौन सा है। फोन की स्‍क्रीन साधारण ग्‍लास की है या फिर इसमें महंगे स्‍मार्टफोन की तरह गोरिल्‍ला ग्‍लास लगा हुआ है। इसके अलावा भविष्‍य में आप फोन को अपग्रेड कर सकते हैं या नहीं, इसके अलावा कई ऐसी बाते हैं जिन्‍हें स्‍मार्टफोन खरीदने से पहले हमेशा ध्‍यान में रखना चाहिए।

स्‍मार्टफोन गैलरी देखने के लिए क्लिक करें

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

लो क्‍वालिटी टच स्‍क्रीन

सस्‍ते एंड्रायड फोन में दी गई स्‍क्रीन क्‍वालिटी कॉफी खराब होती है। ज्‍यादातर लो कॉस्‍ट मोबाइल फोनों में 480x320 रेज्‍यूलूशन सपोर्ट होता है जो अच्‍छी क्‍लियरिटी नहीं प्रोवाइड करता। यानी अगर आप फोन में मूवी या फिर वीडियो देखना चाहते हैं तो फोन में फुल एचडी यानी हाईडेफिनीशन क्‍वालिटी का मजा नहीं ले पाएंगे।

लो स्‍पीड सिंगल कोर प्रोसेसर के साथ कम रैम

कम कीमत के एंड्रायड स्‍मार्टफोन में लो स्‍पीड सिंगल कोर प्रोसेसर इनबिल्‍ड होता है। जबकि अब ज्‍यादातर स्‍मार्टफोनों में क्‍वॉड कोर प्रोसेसर मिल रहा है। ज्‍यादा कोर प्रोसेसर होने से फोन के काम करने की क्षमता काफी बढ़ जाती है। दूसरी ओंर लो कॉस्‍ट स्‍मार्टफोनों में 512 एमबी या फिर उससे कम की रैम होती है। जबकि मल्‍टीटास्‍किंग के लिए कम से कम 1 जीबी रैम होनी चाहिए।

लो क्‍वालिटी मैटीरियल

सस्‍ते एंड्रायड फोन की बॉडी को बनाने में लो क्‍वलिटी मैटीरियल का प्रयोग किया जाता है जिससे फोन की कीमत बढ़े न, इसके लिए कुछ फोनों में स्‍टील के ऊपर प्‍लास्‍टिक कोटिंग की जाती है ताकि पैनल मजबूत हो लेकिन इससे फोन का भार बढ़ जाता है। जबकि महंगे फोनों की स्‍क्रीन में गोरिल्‍ला ग्‍लास का प्रयोग होता है जो साधारण स्‍क्रीन के मुकाबले ज्‍यादा बेहतर होती है।

एंड्रायड अपडेट नहीं

एंड्रायड प्‍लेटफार्म की सबसे बड़ी खासियत है इसे आप अपग्रेड कर सकते हैं। मानलीजिए अगर आपने आईस्‍क्रीम सैंडविच स्‍मार्टफोन लिया है और उसमें अपग्रेड ऑप्‍शन मौजूद है तो फोन में जैली बीन ओएस अपग्रेड कर सकते हैं। लेकिन ज्‍यादातर सस्‍ते एंड्रायड फोन में अपग्रेड ऑप्‍शन नहीं मिलता जिसका सबसे बड़ा कारण होता है लो प्रोसेसर और कम रैम।

कांट्रैक्‍ट ऑप्‍शन नहीं

अगर आप पोस्‍टपेड स्‍मार्टफोन लेना चाहते हैं तो इसके वोडाफोन, एयरटेल, आईडिया के अलावा कई दूसरी कंपनियां है जो आपको कई एंड्रायड हैंडसेट ऑप्‍शन प्रोवाइड करती हैं। लेकिन कम कीमत में आपके पास केवल प्रीपेड ऑप्‍शन ही मिलेगा।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
​वृंदावन शर्मसार, फेसबुक पर कई लड़कियों की फोटो का गंदा इस्तेमाल
​वृंदावन शर्मसार, फेसबुक पर कई लड़कियों की फोटो का गंदा इस्तेमाल
बिहार पुलिस का कारनामा, गर्भवती हुई महिला तो किया नौकरी से बर्खास्त!
बिहार पुलिस का कारनामा, गर्भवती हुई महिला तो किया नौकरी से बर्खास्त!
Opinion Poll

Social Counting