छोटे से कमरे में हुई थी विश्व की इन 10 बड़ी इंटरनेट कंपनियों की शुरुआत!

Written by: Super

इंटरनेट की दुनिया में यूं तो कई कंपनियों ने अपना नाम कमाया है, लेकिन कुछ कंपनियां ऐसी हैं जिनका नाम हर किसी ने सुना होगा। ये कंपनियां आज भले ही बड़े नाम हों, लेकिन इनकी शुरुआत इतनी बड़ी नहीं थी। इनकी शुरुआत एक सोच और एक छोटे से अपार्टमेन्ट से हुई।

लगातार मेहनत और लोकप्रियता ने इन्हें बड़ा मुकाम दिया। बात करते हैं ऐसी दस कंपनियों की जो आज इंटरनेट और तकनीक की दुनिया में बड़े नाम हैं :

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

1.

कार्टून कैरेक्टर मिकी माउस की रचना करने वाले वाल्ट डिज्नी ने अपने क्रिएशन की शुरुआत अपने अंकल के घर से की थी। उस वक़्त उनके पास ऐसी कोई जगह नहीं थी, जहाँ वे अपनी कल्पनाओं में रंग भर सकें। उन्होंने अपने भाई रॉय डिज्नी के साथ मिलकर वाल्ट डिज्नी प्रोडक्शन की शुरुआत की। आज यह कंपनी बड़ा मीडिया हाउस है।

2.

रिलायंस की शुरुआत धीरू भाई अम्बानी ने दक्षिण मुंबई में एक छोटी सी जगह से यार्न ट्रेडिंग कंपनी के रूप में की थी। रिलायंस इंडस्ट्री आज भारत की सबसे बड़ी कंपनी है, जिसके पास करीब 24 बिलियन यूएस डॉलर की संपत्ति है। यह कंपनी कई टेलिकॉम समेत अन्य व्यापार में भी अपना अच्छा दखल रखती है।

3.

फ़्लिपकार्ट की शुरुआत आईआईटी से स्नातक सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने साथ मिलकर की। इसकी शुरुआत एक ऑनलाइन बुकस्टोर के तौर पर हुई थी, लेकिन आज यह अग्रणी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी है। भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों में से एक फ़्लिपकार्ट के पास 15 बिलियन यूएस डॉलर की संपत्ति है।

4.

मिशेल डेल ने डेल कंप्यूटर की शुरुआत अपनी यूनिवर्सिटी की एक कमरे से की थी। उस वक़्त उनके पास 1000 डॉलर की कार्यशील पूँजी थी। वर्तमान में डेल तकनीक की दुनिया का एक सबसे बड़ा नाम है।

5.

ओयो रूम्स की शुरुआत रितेश अग्रवाल ने की। कॉलेज से ड्रापआउट रितेश को इसे शुरू करने का आईडिया एक होटल के रूम में ठहरने के दौरान आया। इसके बाद रितेश ने अपने इस आईडिया को फंडिंग की मदद मिलने के साथ ही हकीकत में बदल दिया।

6.

रेडडिट की शुरुआत स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले स्टीव और अलेक्सिस के दिमाग में आये आईडिया से हुई। यह साइट अपने एएमए (आस्क मी एनीथिंग) से पोपुलर हुई। वर्तमान में कंपनी का स्वामित्व अग्रणी प्रकाशन कंपनी कांड नेस्ट के पास है। इसकी अनुमानित वैल्यू आज के समय में 500 मिलियन डॉलर है।

7.

1994 में जेफ़ बेजोस वाल स्ट्रीट में काम करते थे, यहाँ से जॉब छोड़ कर उन्होंने अमेज़न डॉट कॉम की नींव रखी। इसकी आरंभिक फंडिंग के लिए उन्होंने अपने पैरेंट्स की मदद ली। तब यह एक ऑनलाइन बुक स्टोर थी। आज इस पर दुनियाभर का सामान उपलब्ध है।

8.

हेवलेट पैकार्ड को डेव और लुसिली पैकार्ड ने शुरू किया। पति-पत्नी द्वारा इस कंपनी को द्वितीय विश्व युद्ध के समय शुरू किया गया था। एचपी का पहला उत्पाद एक ऑडियो ओस्सिल्लेटर था। वर्तमान में यह तकनीक की दुनिया का जाना-पहचाना नाम है।

9.

फ़ूड रेटिंग और रिव्यु वेबसाइट जोमोटो को दीपिंदर गोयल और पंकज चड्डा ने मैनेजमेंट कंपनी की जॉब छोड़ कर शुरू किया। अब इस साइट से आप अपनी पसंद का खाना भी आर्डर कर सकते हैं। यह छोटी से कंपनी आज बड़ी बन चुकी है और 23 देशों में ऑपरेट की जा रही है।

10.

फेसबुक को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट मार्क जुकरबर्ग और उनके रूममेट्स ने मिलकर शुरू किया था। बहुत शुरुआत में यह सिर्फ दोस्तों से मिलने-जुलने का जरिया थी। लेकिन समय के साथ यह सोशल नेट्वर्किंग की दुनिया में बड़ी क्रान्ति साबित हुई और अपनी पहचान कायम की।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
Some companies were started out of small rooms, garages and one room apartments. These companies later went on to become some of the most admired and respected companies. We all can throw in a couple of names like Microsoft,Apple among others. These companies defined the future and today are some of the most watched after companies of the world.
Please Wait while comments are loading...
पीएम नरेंद्र मोदी की रैली के लिए काट दी 27 बीघा खड़ी फसल
पीएम नरेंद्र मोदी की रैली के लिए काट दी 27 बीघा खड़ी फसल
सूर्यग्रहण आज इसलिए बहुत जरूरी है आपको ये बात जानना
सूर्यग्रहण आज इसलिए बहुत जरूरी है आपको ये बात जानना
Opinion Poll

Social Counting