कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

Written By:

2 कारण ये कोई घोटाला नहीं

1- पॉलिटिकल लीडरों ने इसे लांच किया है
ये एक बड़ा कारण है फ्रीडम 251 को लांच करने वालों में बीजेपी सांसद मुरली मनोहर जोशी भी थे हालाकि इसमें डिफेंस मिनिस्‍टर मनोहर परिकर को भी आना था लेकिन वे नहीं आ सके।

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

2- फोन कंपनी के मालिक कौन हैं ये साफ है
ये बात साफ है कि रिंगिंग बेल्‍स कंपनी के मालिक मोहित कुमार गोयल हैं, उनकी फेसबुक प्रोफाइल में भी यही बात लिखी हुई है यानी कंपनी के मालिकों की प‍हचान छुपी नहीं है।

पढ़ें: घर बैठे ऑनलाइन अप्लाई करें वोटर आईडी कार्ड!

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

वहीं अखबारों में भी फोन की डिलीवरी के समय को लेकर पूरी जानकारी दी गई है जैसे बुक किए गए फोन जून तक सभी को डिलीवर कर दिए जाएंगे।

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

4 कारण ये एक घोटाला हो सकता है

1- देखने में क्‍वालिटी काफी खराब है

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

प्रोडेक्‍ट को पहली नजर में देखकर ये अंदाजा आसान से लगाया जा सकता है कि ये किसी दूसरे ब्रांड का स्‍मार्टफोन है जिसे कंपनी अपना नाम देकर बेंच रहीं है। फोन में एडकॉम का नाम लिखा हुआ है, एडकॉम के मार्केटिंग मैनेजर का कहना है उन्‍हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं कि उनकी कंपनी के नाम से फ्रीडम 251 बेंचा जा रहा है।

पढ़ें: निखिल बंसल ने 68 रुपए में खरीदा आईफोन 5एस, जानिए कैसे

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

एडकॉम A400 वही हैंडसेट है जिसे 2 साल पहले लांच किया गया था हो सकता है रिंगिंग बेल कंपनी इसे रीब्रांड करके लांच कर रही है। हिंदुस्‍तान टाइम ने फ्रीडम 251 रिव्‍यू के दौरान फोन में लगी व्‍हाइटनर की एक सफेद को हटाया जिसके बाद उसमें Adcom A400 ब्रांड नेम लिखा मिला, कोई भी जेन्‍युन कंपनी ऐसा नहीं करती।

2- वादा तोड़ा

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

वेबसाइट में दिए गए फोन के फीचरो पर नजर डालें तो इसमें कई प्रीलोडेड एप्‍लीकेशन दी गई है जैसे स्‍वच्‍छ भारत, वुमेन सेफ्टी ऐप, फेसबुक, वाट्सएप इनके अलावा कई दूसरे एप्‍लीकेशन भी है जो फोन में दी गईं हैं। लेकिन जो फोन यूनिट रिव्‍यू के लिए भेजी गईं हैं वो साइट में दिखाए गए फोन से बिल्‍कुल अलग है।

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

3- इतनी कम कीमत में शक के दायरे में इसे लाती है
"251 में स्‍मार्टफोन" इन तीन शब्‍दों में इतनी आसानी से यकीन नहीं किया जा सकता, भाई इतने में मोबाइल कवर भी ढंग का नहीं मिलता। मोबाइल इंड्रस्‍टी बॉडी इंडियन सेलुलर एसोसिएशन ने टेलिकॉम मिनिस्‍टर रवी शंकर को एक पत्र लिखकर पूछा है 2700 रुपए से नीचे के दाम में ये फोन बेंचना काफी चौंकाने वाला है।

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

भले ही इसमें सारे डिस्‍काउंट भी क्‍यों न दे दिए जाएं। अगर सबसे सस्‍ते फोन बनाने वाली कंपनी से इसकी लागत भी पता करें तो ये 2,700 रुपए बैठती है। क्‍योंकि इसमें 4 इंच की स्‍क्रीन, क्‍वॉलकॉम 1.3 गिग क्‍वॉड कोर प्रोसेसर, 1 जीबी रैम दी गई है जो 251 रुपए में देना लगभग नामुमकिन है।

कहीं फ्रीडम 251 फोन खरीदने वाले ठगे तो नहीं गए

4- सरकारी मान्‍यता नहीं मिली है
रिंगिंग बेल द्वारा लांच किए फ्रीडम 251 को लेकर सबसे बड़ा सवाल ये भी है कि कंपनी ब्‍यूरो ऑफ इंडियन स्‍टैंर्डड (BIS) में रजिर्स्‍टड नहीं है यानी ये कंपनी भारत में किसी भी उत्‍पाद को बेंचने के लिए सर्टिफाइड नहीं है। इसके अलावा कंपनी की साइट में कोई भी पता नहीं दिया गया है जो काफी चौंकाने वाली बात है।

English summary
Something similar has happened with Freedom 251, the smartphone which is being offered at earth-shattering price of Rs 251 by a little known company called ‘Ringing Bells’.
Please Wait while comments are loading...
विधवा से पहले किया इश्क, फिर हुआ शक तो दी बेरहम मौत
विधवा से पहले किया इश्क, फिर हुआ शक तो दी बेरहम मौत
एलओसी पर बढ़ा तनाव, अलर्ट पर भारत-पाकिस्तान की सेनाएं
एलओसी पर बढ़ा तनाव, अलर्ट पर भारत-पाकिस्तान की सेनाएं
Opinion Poll

Social Counting