हाईटेक कंप्‍यूटर की मदद से 4,000 किलोमीटर की दूरी तय कर सकेगी अग्नि-4

Posted by:

डीआरडीओ ने भारत की सेना की ताकत में और इजाफा किया है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने आज अग्नि-4 का सफल परीक्षण किया जोकि एक रणनीतिक मिसाइल है। इस मिसाइल का भार एक टन भार है साथ ही यह परमाणु हथियार को ले जाने में सक्षम है। मिसाइल का परीक्षण सुबह 10.19 बजे व्हीलर द्वीप में लांच पैड से किया गया।

15 बेस्‍ट स्‍मार्टफोन जो पिछले महिने छाए रहे स्‍मार्टफोन बाजार में

डीआरडीओ के प्रवक्ता रवि गुप्ता ने बताय कि यह एक सफल परीक्षण सफल रहा है। मिसाइल ने 3,500 किलोमीटर तक की दूरी तय की। साथ ही मिसाइल की रक्षा तट पर लगाए गए रडार और इलेक्ट्रो ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम की मदद से उड़ान के दौरान सभी मानदंडों से जांच की गई। मिसाइल का वजन 17 टन है और यह 20 मीटर लंबा है। इसमें अत्याधुनिक सुविधाएं और पांचवीं पीढ़ी का ऑन-बोर्ड कम्प्यूटर है।

हाईटेक कंप्‍यूटर की मदद से 4,000 किलोमीटर की दूरी तय कर सकेगी अग्नि-4

इसमें रास्ते में आने वाले अवरोधों को दूर करने के लिए नवीनतम व्यवस्था की गई है।आपको बता दें कि अग्नि-4 मिसाइल का यह लगातार चौथा सफल परीक्षण है। पहला परीक्षण नवंबर, 2011 में, दूसरा परीक्षण सितंबर, 2012 में और तीसरी परीक्षण जनवरी, 2014 में किया गया था। डीआरडीओ के सूत्रों ने बताया कि अग्नि-4 को पहले ही सेना को सौंपा जा चुका है।

डीआरडीओ द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, सेना के जखीरे में पहले से ही अग्नि-1, 2, 3 और पृथ्वी मिसाइलें हैं। अब अग्नि-4 मिसाइल सेना की पहुंच और मारक शक्ति को और बढ़ाने वाली है।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
बूचड़खानों पर 'योगी एक्शन' को लेकर आजम खान का बड़ा बयान
बूचड़खानों पर 'योगी एक्शन' को लेकर आजम खान का बड़ा बयान
योगी इफेक्ट: पांच साल से अधूरी सड़क आदेश के बाद रातों रात बनकर हो गई तैयार
योगी इफेक्ट: पांच साल से अधूरी सड़क आदेश के बाद रातों रात बनकर हो गई तैयार
Opinion Poll

Social Counting