वाट्स एप्‍प और ब्‍लैकबेरी मैसेंजर पर रहेगी सेबी की नजर

Posted by:

व्‍हाट्स एप्‍प और ब्‍लैकबेरी मैसेंजर ने सेबी के माथे पर चिंता की लकीरे उकेर दी है। जिसकी वजह से सेबी इस सेवाओं पर नजर रखने की कोशिश करने में लगा हुआ है। सेबी के अनुसार इन एप्‍लीकेशनों की मदद से बाजार की कई संवेदनशील सुचनाएं तेजी से फैला दी जाती हैं जो कभी-कभी शेयर मार्केट के लिए खतरा पैदा कर देतीं हैं।

इनसे निपटने के लिए सेबी फेसबुक और ट्विटर एकाउंट पर भी नजर रखने की कोशिश कर रहा है अगर तकनीकी रूप से इसे समझा जाए तो व्‍हाट्स एप्‍प और ब्‍लैकबेरी मैसेंजर से भेजे जाने वाले मैसेजों को थर्ड पार्टी द्वारा डीकोड करना काफी मुश्‍किल काम है। जबकि किसी ब्‍लॉग और वेबसाइट द्वारा भेजी गई जानकारी का पता लगाना आसान होता है।

वाट्स एप्‍प और ब्‍लैकबेरी मैसेंजर पर रहेगी सेबी की नजर

जांच करने पर इस बात का खुलासा हुआ है की जो कारोबारी शेयर मार्केट में गलत सुचनाओं को आदान प्रदान करते हैं वे ज्‍यादातर व्‍हाट्स एप्‍प और ब्‍लैकबेरी मैसेंजर सेवाओं का प्रयोग करते हैं। इस तरह की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सेबी आईटी विशेषज्ञों की मदद भी ले रहा है ताकि जल्‍द से जल्‍द इस पर लगाम लगाई जाए।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
'योगीराज' में 'यादवराज' की 24 भर्तियों के साक्षात्कार पर रोक
'योगीराज' में 'यादवराज' की 24 भर्तियों के साक्षात्कार पर रोक
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
Opinion Poll

Social Counting