ज्‍यादा मोबाइल पर बात करने से आपको कैंसर हो सकता है

Posted by:

मोबाइल फोन चाहे जितना भी महंगा हो उसका अत्‍यधिक इस्‍तेमाल आपके को काफी भारी पड़ सकता है। एक ताजा अध्ययन से पता चला है कि मोबाइल फोन का अत्यधिक इस्तेमाल करने से कोशिकाओं में एक तरह का तनाव पैदा होता है, जो कोशिकीय एवं अनुवांशिक बदलाव से जुड़ा हुआ है इस बदलाव के कारण कैंसर का खतरा पैदा हो जाता है।

पढ़ें: सैमसंग गैलेक्‍सी नोट की दीवानी है ये हॉट गर्ल

अध्ययन के मुताबिक मोबाइल फोन के इस्तेमाल से कोशिकाओं में उत्पन्न होने वाला विशेष तनाव (ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस) डीएनए सहित हमारी कोशिका के सभी अवयवों को खत्‍म कर देता है। ऐसा जहरीले पराक्साइड एवं स्वतंत्र कणों के विकसित होने के कारण होता है। तेल अवीव यूनीवर्सिटी के औषधि संकाय एवं ईएनटी डिपार्टमेंट के अध्यक्ष यानिव हमजानी ने मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने वालों के लार का अध्ययन किया, जिसके आधार पर उन्होंने मोबाइल फोन के इस्तेमाल और कैंसर से पीड़ित होने की दर के बीच संबंध स्थापित किया।

पढ़ें: देखिए फोटोशॉप का कमाल इंदिरा गांधी को लगाया गूगल ग्‍लास

हमजानी, राबिन चिकित्सा केंद्र में गर्दन की सर्जरी विभाग के अध्यक्ष भी हैं। वेबसाइट साइंसडेली डॉट कॉम के अनुसार, हमजानी और उनके सहयोगी शोधकर्ता रफील फीनमेसर, थॉमस शपित्जर, गीडॉन बहर, रफी नागलर और मोशे गेविश ने अपना शोध के आधार पर पता लगाया कि मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते समय लार ग्रंथि बहुत नजदीक रहती है, इसलिए लार में उपस्थित तत्वों के आधार पर इसे जाना जा सकता है कि क्या इसका संबंध कैंसर होने से है।

पढ़ें: सिर में दर्द दे सकता है गूगल ग्‍लास

मोबाइल फोन का अत्यधिक इस्तेमाल करने वाले और इस्तेमाल न करने वाले लोगों के बीच तुलनात्मक अध्ययन में उन्होंने पाया कि मोबाइल फोन का अत्यधिक इस्तेमाल करने वालों के लार में ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस की उपस्थिति के संकेत अधिक हैं। यह अध्ययन, वैज्ञानिक शोधपत्रिका 'एंटीऑक्सिडेंट्स एंड रिडॉक्स सिग्नलिंग' में प्रकाशित हुआ है।

पढ़ें: चलिए चलते हैं एवरग्रीन गैजेटों की दुनियां में

कैसे बचें मोबाइल रेडिएशन से

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Dont talk long

मोबाइल में ज्‍यादा लम्‍बी बातें करने से बचें, लम्‍बी बातों का मतलब लगातार 1 घंटे या 2 घंटे आकड़ों के मुताबिक अगर आप 10 साल तक रोज आधा घंटे से अधिक बाते करते हैं तो आपको ब्रेन कैंसर होने का खतरा काफी बढ़ जाता है।

Use Handfree

अगर आपको देर तक बात करनी ही होती है तो हैंडफ्री का इस्‍तेमाल करें इससे मोबाइल रेडिएशन का असर काफी कम हो जाता है।

low signal more radiation

अगर आपके इलाके में नेटर्वक काफी कम आता है तो आपको रेडिएशन का खतरा ज्‍यादा है क्‍योंकि जहां पर नेटर्वक‍ कम रहता है वहां पर मोबाइल रेडिएशन फोन से ज्‍यादा निकलता है इसलिए जिस कंपनी को नेटर्वक अच्‍छा हो उसकी सर्विस प्रयोग करें।

Use radiation shield

रेडिएशन शील्‍ड फोन में लगाने से फोन की कनेक्‍शन क्‍वालिटी कम हो जाती है जिससे वो रेडिएशन की संभावना भी कम रहती है। फोन ने निकलने वाले हाईपॉवर सिग्‍नल भी कम निकलते हैं।

Use Text messages

अगर आपको केवल एक मैसेज ही देना है तो कॉल करने की बजाए आप एसएमएस भी भेज सकते हैं खासकर तब जब आपके आसा-पास कोई छोटा बच्‍चा हो क्‍योंकि आपसे ज्‍यादा रेडिएशन का असर उस बच्‍चे पर पड़ेगा।

Limit children phone use

बच्‍चों के फोन प्रयोग करने पर जरा ध्‍यान रखें क्‍योंकि हो सकता है वे आधे-आधे घंटे तक फोन में बाते करते रहते हों अगर वे रोज ऐसा करते हैं तो उन्‍हें रेडिएशन का खतरा काफी ज्‍यादा बढ़ जाता है।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
संभल में अपनी सास से संभलकर रहना दामाद जी!
संभल में अपनी सास से संभलकर रहना दामाद जी!
Opinion Poll

Social Counting