आईओएस 6 और एंड्रायड 4.1 जैलीबीन ओएस में क्‍या अंतर है

Posted by:

अक्‍सर लोग स्‍मार्टफोन खरीदने से पहले ओएस को लेकर काफी कंफ्यूज रहते हैं, मोबाइल शॉप में जाने के बाद सेल्‍समैन से हमारा सीधा सवाल होता है भैया सबसे लेटेस्‍ट फीचरों वाला स्‍मार्टफोन दिखाना लेकिन क्‍या आप जानते हैं लेटेस्‍ट स्‍मार्टफोन का मतलब उसमें दिया गया ओएस का वर्जन कौन सा है, रैम कितनी है इसके अलावा कौन से नए फीचर दिए गए हैं।

स्‍मार्टफोन में दिए गए सभी फीचरों में से सबसे जरूरी होता है फोन में दिया गया ऑपरेटिंग सिस्‍टम जिस पर अक्‍सर लोग ध्‍यान नहीं देते और पूराने ओएस का फोन खरीद लेते हैं। इसलिए जब भी कोई स्‍मार्टफोन खरीदें उसमें इस बात की जांच कर लें कि कौन सा ओएस पड़ा हुआ है।

आईओएस 6 और एंड्रायड 4.1 जैलीबीन ओएस में क्‍या अंतर है

ओएस में क्‍या अंतर है

ओएस यानी फोन में दिया गया ऑपरेटिंग सिस्‍टम जिस पर फोन का पूरा इंटरफेस रन करता है। इस समय मार्केट में गूगल का एंड्रायड ओएस छाया हुआ है जिसका सबसे लेटेस्‍ट वर्जन जैली बीन है। इसके अलावा ब्‍लैकबेरी 10 और एप्‍पल का आईओएस भी काफी पसंद किया जाता है। चलिए हम आपको एप्‍पल आईओएस और एंड्रायड जैली बीन ऑपरेटिंग सिस्‍टम के बीच दिए गए कुछ अंतरों के बारे में बताते हैं।

जैलीबीन

एंड्रायड का जैलीबीन ओएस में कई कूल फीचर दिए गए हैं। एंड्रायड 4.1 जैलीबीन ओएस को डिजाइन करने वाले बॉबफ्रीकिंग के अनुसार जैलीबीन ओएस में कई फीचर दिए गए हैं तो आईस्‍क्रीम सैंडविच ओएस के मुकाबले इसे बेहतर बनाते हैं जैसे

  • गूगल नॉओ
  • ऑफलाइन वॉयस टाइपिंग
  • अपग्रेड एंड्रायड बीम
  • आकर्षक टाइपिंग कीबोर्ड
  • जैलीबीन कैमरा एप्‍लीकेशन
  • बैटरी सेवर
  • रीसाइजेबल विजिट
  • गूगल क्‍लाउड मैसेजिंग
  • न्‍यू फॉन्‍ट

एप्‍पल आईओएस 6

एप्‍पल का आईओएस 6 जून 2012 को लांच किया गया था जिसे शुरुआत में इतना पसंद नहीं किया गया था लेकिन बाद में इसमें कुछ और अपग्रेड किए गए। हम आपको बता दें आईओएस एप्‍पल के आईपैड, आईफोन और आईपॉड में प्रयोग में प्रयोग किया जाता है। आईए नजर डालते हैं आईओएस में दिए गए फीचरों पर एक नजर,

  • 3डी मैप सपोर्ट
  • अपग्रेड सीरी
  • फोटो शेयर स्‍ट्रीम
  • पासबुक
  • फेसटाइम
  • वॉयसमेल और मेसेज भेजने की सुविधा
  • सफारी ब्राउजर
  • 200 नए फीचर

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
यूपी विधानसभा चुनाव 2017: राजपाल यादव की पार्टी को चुनाव चिन्‍ह मिला टायर
यूपी विधानसभा चुनाव 2017: राजपाल यादव की पार्टी को चुनाव चिन्‍ह मिला टायर
बिन ब्‍याही मां की दर्दनाक कहानी, जिसे जानने के बाद छिप-छिपकर प्यार करना भूल जाएंगे आप
बिन ब्‍याही मां की दर्दनाक कहानी, जिसे जानने के बाद छिप-छिपकर प्यार करना भूल जाएंगे आप
Opinion Poll

Social Counting