अगर आपके पास आईफोन है तो इस खबर को न पढ़ें पछताएंगे

Posted by:

इस बात में कोई शक नहीं कि आईफोन यूजर खुद को किसी करोड़पति या फिर तीसमारखां से कम नहीं समझते फिर भले ही उनके सामने आप 1 लाख रुपए का सैमसंग या फिर किसी दूसरे ब्रांड का फोन लेकर चले जाएं।

पढ़ें: क्‍या होता है अगर एक कलाकार और फोटोग्राफर मिल जाएं

अगर आप आईफोन यूजर के पास जाकर अपने फोन के बारे में कुछ सावाल या जवाब करने लगे तो शायद अपना सर पकड़ लेंगे क्‍योंकि इन्‍हें आईफोन के अलावा न तो कोई दूसरा ब्रांड दिखता है और न ही कोई दूसरा गैजेट, ऐसे आपको एक नहीं बल्‍कि कई यूजर मिल जाएंगे तो आईफोन लेने के बाद अपना रूप ही बदल लेते हैं फिर वो कालेज में हो या फिर ऑफिस में, आईए देखते हैं कैसे-कैसे होते हैं इंडियन आईफोन यूजर।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

इनके लिए आईफोन ही एक ऐसा प्रोडेक्‍ट होता है जिनके बारे में वे पूरा एक लेक्‍चर दे सकते हैं।

सैमसंग, नोकिया के अलावा दूसरे ब्रांड इनके लिए चाइनीज़ होते हैं।

आप जब भी इनसे मिलेंगे कुछ देर बाद ये अपने आईफोन को बीच में जरूर ले आएंगे।

इंडियन आईफोन यूजर अपने आईफोन को ऐसे टाइट कवर से ढक कर रखते हैं कि अगर स्‍टीव जॉब आईफोन देखें तो उसे पहचान नहीं पाएंगे।

अगर इनके आस-पास कोई एंड्रायड यूजर खड़ा हो जाए तो वे उसे ऐसे देखेंगे जैसे उसे कोई भयानक बीमारी हो गई हो।

ये आईफोन की परफार्मेंस और दूसरे फीचरों के बारे में आपको जीभर कर बताते रहेंगे लेकिन खुद उसमें कॉल से ज्‍यादा कुछ भी नहीं करेंगे।

यहां तक अगर ग्‍लोबल वार्मिंग पर भी डिबेट या बातचीत चल रही है तो ये उसमें भी अपने आईफोन की बात रखेंगे।

आईफोन यूजर को सेल्‍फी की बुरी आदत होती है जिसे कोई काबू में नहीं कर सकता।

आईफोन और खुद से एक ऐसा नाता जोड़ लेते है जिसे दुनिया का कोई शख्‍स तोड़ नहीं सकता।

अगर किसी दूसरे ब्रांड के यूजर ने आईफोन यूजर से चार्जर मांग लिया तो इनका सीधा जवाब होता सॉरी मेरे पास आईफोन है।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
अरुण जेटली ने संसद में माना, जबरदस्ती आधार कार्ड को अनिवार्य कर रही है सरकार
अरुण जेटली ने संसद में माना, जबरदस्ती आधार कार्ड को अनिवार्य कर रही है सरकार
Opinion Poll

Social Counting