जीमेल ने पूरे किए 10 साल, जानिए क्‍या-क्‍या बदला इन 10 सालों में ?

Posted by:

मेल के जरिए अपनों से सहज संपर्क स्थापित करने की सुविधा प्रदान करने वाली सबसे बड़ी सेवा जीमेल ने अपने 10 वर्ष पूरे कर लिए। गूगल ने बेहद सरलता से उपयोग किए जाने योग्य इस ईमेल सेवा की शुरुआत एक अप्रैल 2004 को की थी, और आज 10 वर्ष बाद यह निस्संदेह रूप से दुनिया की सबसे विशाल ईमेल प्रदान करने वाली सेवा बन चुकी है। जीमेल ने 2004 में जब इसकी शुरुआत की थी, तब इसे सिर्फ बीटा संस्करण के रूप में ही शुरू किया गया था और कई परिवर्तनों के बाद अंतत: 2009 में से सार्वजनिक कर दिया गया।

पढ़ें: पिछले महिने लांच हुए 33 स्‍मार्टफोनों पर डालिए एक नजर

जीमेल ने ही सबसे पहले ईमेल सेवा को डेस्कटॉप एप्लिेकशन के रूप में भी शुरू किया। वेबसाइट वायर्ड डॉट कॉम के अनुसार, "इसने (जीमेल) अपनी सेवा की शुरूआत के साथ ही हॉटमेल को बहुत पीछे छोड़ दिया। इसमें नए संदेश अपने आप दिखने लगते थे और इसके लिए ब्राउजर को रीफ्रेश भी नहीं करना पड़ता था। आज हम सभी किसी वेबसाइट को एक एप्लिकेशन के रूप में पसंद करते हैं। जीमेल सेवा का उपयोग करने के लिए किसी तरह के विशेष सॉफ्टवेयर की जरूरत नहीं पड़ती, न ही आपको स्टोरेज की चिंता करनी पड़ती है। इसकी सेवाएं हर हाल में आपको मिलती रहती हैं।

आईए नजर डालते हैं जीमेल के शानदार 10 साल के सफर पर

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

2004: Launch

1 अप्रेल को जीमेल ने अपने 10 पूरी कर लिए हैं, 2001 में जब जीमेल को डिज़ाइन करने वाले Paul Buchheit ने इस ईमेल वेब ऐप पर काम करना शुरु किया था तो शुरुआती चरण में वो सफल नहीं हो पाए थे। 2009 तक जीमेल का बीटा वर्जन ही चलता रहा इसके बाद इसकी डिज़ाइन में भारी फेरबदल किए गए।

2006: Chat and Calendar

2006 जीमेल के लिए बदलाव का साल रहा, गूगल ने जीमेल में चैटिंग सर्विस शुरु की, चैट सर्विस शुरु होने के 2 महिनों बाद गूगल कैलेंडर का फीचर जीमेल में जोड़ा गया।

2010: Priority Inbox

अगस्‍त 2010 में जीमेल में बदलाव करते हुए प्राइरोरिटी इनबॉक्‍स जोड़े गए जिसमें मेल फिल्‍टर होकर अलग-अलग तीन बॉक्‍स में आती थी इससे यूजर को मेल चेक करने में ज्‍यादा सहूलियत मिली।

2011: Visual Upheaval

2011 में गूगल ने जीमेल की डि़जाइन को थोड़ा और बेहतर बनाने के लिए उसमें हाईडेफिनेशन थीम जोड़ी साथ इंनबॉक्‍स में "comfortable," "cozy" और "compact" लुक वाले ऑप्‍शन जोड़े।

2013: Categories

हाल ही में किए गए अपडेट में यूजर को हर ई-मेल बॉक्‍स अपने आप फिल्‍टर होकर सेपरेट बॉक्‍स में मिलेगी। जैसे सोशल नेटवर्किंग साइट से जुड़ी ई-मेल दूसरे बॉक्‍स में आएगी और जरूरी मेल दूसरे में।

Gmail for Android (2008 vs. Now)

गूगल ने अपनी जीमेल सेवा एंड्रायड प्‍लेटफार्म के लिए 2008 में लांच की थी ये सबसे पहले टी मोबाइल जी 1 फोन के लिए बनाई गई थी। आज जेमेल एप्‍लीकेशन गूगल प्‍ले से किसी भी एंड्रायड फोन में कभी भी डाउनलोड की जा सकती है।

Gmail for iOS (2011 vs. Now)

गूगल ने आईओएस प्‍लेटफार्म के लिए 2011 में जीमेल ऐप लांच की थी, धीरे-धीरे इसमें कई अपडेट हुए आज आईओएस में जीमेल के 5 एकाउंट एक साथ प्रयोग किए जा सकते हैं।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
पुणे टेस्ट मैच शुरू होते ही भारत ने तोड़ा पाकिस्तान का रिकॉर्ड
पुणे टेस्ट मैच शुरू होते ही भारत ने तोड़ा पाकिस्तान का रिकॉर्ड
12 शिवरात्रियों में से महाशिवरात्रि इतनी महत्वपूर्ण क्यों?
12 शिवरात्रियों में से महाशिवरात्रि इतनी महत्वपूर्ण क्यों?
Opinion Poll

Social Counting