गूगल मैप्स की मदद से 23 साल बाद मिला परिवार

Posted by:

चीन के एक 28 वर्षीय व्यक्ति का 23 वर्ष पहले अपहरण करके उसके घर से 1,500 किलोमीटर दूर एक परिवार को बेच दिया गया। लेकिन वह शुक्रगुजार है गूगल मैप्स का जिसने उसे इतने सालों के बाद भी उसके असली माता-पिता से मिला दिया। यह जानकारी ह्यूमन टीवी ने शुक्रवार को दी। लू गांग ने अपनी धुंधली याददाश्त और लोकप्रिय सर्च इंजन गूगल के सहारे चीन के मध्य प्रांत सिचुआन में अपने परिवार को खोज निकाला।

उसका ज्यादा समय फूजियान के दक्षिण-पूर्वी इलाके में अपने दत्तक परिवार के साथ गुजरा। लू ने अपने असली माता-पिता की कई वर्षो तक तलाश की। उसे याद था कि उसके शहर में दो पुल हैं। इन सब सूचनाओं को उसने बिछड़े परिवार को मिलाने वाली चीन की एक वेबसाइट पर पोस्ट कर दिया।

गूगल मैप्स की मदद से 23 साल बाद मिला परिवार

साइट पर कई लोगों ने उसे कई संभावित गांवों का हवाला दिया। लेकिन बात नहीं बनी। इसके बाद उसने गूगल मैप्स का सहारा लिया। आखिर में उसके सामने याओजिआबा का नाम सामने आया। उसकी स्मृति अचानक कौंध गई। बेशक यही उसका गृह नगर है।

उसके बाद वह अपने माता-पिता और दादा-दादी से मिलने के लिए यात्रा की, जिसे ह्यूमन टीवी ने प्रसारित किया। मां ने अपने बेटे से मिलने के बाद पत्रकारों से कहा, "मुझे हमेशा उसकी याद सताती थी। मैं यह सोचकर खूब रोती थी कि वह भूखा होगा या उसके पास पहनने के लिए कपड़े नहीं होंगे।"

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
7 करोड़ से ज्‍यादा ग्राहकों के लिए रिलायंस जियो लाएगा नया ऑफर
7 करोड़ से ज्‍यादा ग्राहकों के लिए रिलायंस जियो लाएगा नया ऑफर
हाजीपुर: ऐसा क्या हुआ कि सुहागरात पर ही पत्नी के पैर पकड़कर रोने लगा पति, जानिए वजह?
हाजीपुर: ऐसा क्या हुआ कि सुहागरात पर ही पत्नी के पैर पकड़कर रोने लगा पति, जानिए वजह?
Opinion Poll

Social Counting