आईडिया को मिला 10 लाख डॉलर अमेरिकी अनुदान

Posted by:

देश की तीसरी सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी, आईडिया सेल्युलर को अमेरिकी ट्रेड एंड डेवलपमेंट एजेंसी (यूएसटीडीए) से 10 लाख डॉलर से अधिक का अनुदान मिला है। कंपनी ने मंगलवार को बताया कि यह कोष एक पायलट परियोजना के लिए मिला है, जिसके तहत भारत में दूरसंचार टावरों में सोलर हाइब्रिड मिथेनॉल-बेस्ड फ्यूल सेल (एसएचएमबीएफसी) लगाया जाएगा।

पढ़ें: यहां से खरीदिए सैमसंग गैलेक्‍सी एस ड्योस 2

इस बाबत सोमवार शाम मुंबई स्थित अमेरिकी वाणिज्यदूतावास में अमेरिका की राजदूत नैंसी जे. पॉवेल और आईडिया के प्रबंध निदेशक हिमांशु कपानिया ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किया।

पढ़ें: फोटोग्राफी लर्वस के लिए क्रिऐटिव गैजेट

यूएसटीडीए ने पहली बार भारत में स्वच्छ दूरसंचार परियोजना के लिए अनुदान दिया है। इसके तहत आईडिया को आईसीएफ से मदद मिलेगी, जो यहां व्यवहार्यता अध्ययन करेगी। पायलट परियोजना में टॉवरों में मिथेनॉल आधारित ईंधन सेल लगाए जाने की प्रौद्योगिकी, आर्थिक और वित्तीय व्यवहार्यता का मूल्यांकन किया जाएगा।

पढ़ें: कोबरा पोस्‍ट के स्‍टिंग ऑपरेशन ने आईटी कंपनियों की खोली पोल

आईडिया को मिला 10 लाख डॉलर अमेरिकी अनुदान

इस सेल से आईडिया सेल्युलर के ऐसे पांच दूरसंचार टॉवरों को निर्बाध बिजली मिलेगी, जो ग्रिड से नहीं जुड़े हुए हैं। पॉवेल ने कहा, ऐसी परियोजनाएं बिजली उत्पादन, ग्रामीण विद्युतीकरण और भारत में जीवाश्म ईंधन के स्वच्छ विकल्प को बढ़ावा देने की अमेरिकी सरकार की नीतिगत प्राथमिकता को सीधा सहयोग करेगी। यह तेल एवं गैस आयात पर भारत की निर्भरता कम करेगी। कंपनियों ने कहा, यूएसटीडीए के इस अनुदान से देश में दूरसंचार अधोसंरचना से कार्बन उत्सर्जन कम करने की हमारी कोशिशों को बल मिलेगा।

Please Wait while comments are loading...
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
लग्जरी लाइफ के लिए बनी लेडी डॉन की थी जेल में भी ऐश
लग्जरी लाइफ के लिए बनी लेडी डॉन की थी जेल में भी ऐश
Opinion Poll

Social Counting