इस साल आईएमए होगा पेपरलेस

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन यानी आईएमए ने भी डिजिटल होने का फैसला किया है। जल्‍द ही आईएमए में सारे काम डिजिटली होने शुरु हो जाएंगे इसके लिए डिजिटल ग्रुप भी बनाया गया है।

तकनीकी तरक्की ने भौगोलिक सीमाओं को जोड़ दिया है। बदलती दुनिया को ध्यान में रखते हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने डिजिटल होने का फैसला किया है।

पढ़ें: ये कंपनी जानबूझ कर हैक करती है बैंको की साइट

नई गर्वनिंग बॉडी ने अभी से पेपरलेस तरीके से काम करना शुरू कर दिया है। 2017 के दौरान आईएमए अपने 2.8 लाख डॉक्टर सदस्यों और आम लोगों के लिए नीतियों और संदेश डिजीटल माध्यमों के जरिए ही प्रसारित करेगा।

इस साल आईएमए होगा पेपरलेस

आईएमए के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा कि आईएमए पूरी तरह से पेपरलेस होने की प्रक्रिया शुरू कर चुका है। मेडिकल पेशे को ज्यादा पारदर्शी और प्रभावशाली बनाने के साथ ही बड़े स्तर पर लोगों में राष्ट्रीय महत्व के स्वास्थ्य जागरूकता के मसले उठाने के लिए वचनबद्ध रहा है।

उन्होंने कहा, "हम प्रधानमंत्री की डिजिटल इंडिया की ताकत में भरोसे का सर्मथन करते हैं और इसे डॉक्टरों और आम लोगों के साथ संवाद करने के लिए प्रयोग करेंगे।

आईएमए ने टीम आईएमए के नाम से पहले ही एक डिजिटल ग्रुप बना दिया है जो 2500 सेंट्रल काउंसिल सदस्यों के साथ संवाद का माध्यम बनेगा। जनवरी 2016 से ही 2 लाख से ज्यादा डॉक्टर सदस्यों को टेक्स्ट संदेशों और ईमेल के जरिए संस्था की अहम जानकारियां और स्वास्थ्य मसलों की जानकारी भेजी जा रही है।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Read more about:
English summary
IMA is going to paperless soon, indian medical association already setup one group which coordinate with doctor and do work digitally.
Please Wait while comments are loading...
पीएम नरेंद्र मोदी की रैली के लिए काट दी 27 बीघा खड़ी फसल
पीएम नरेंद्र मोदी की रैली के लिए काट दी 27 बीघा खड़ी फसल
सूर्यग्रहण आज इसलिए बहुत जरूरी है आपको ये बात जानना
सूर्यग्रहण आज इसलिए बहुत जरूरी है आपको ये बात जानना
Opinion Poll

Social Counting