एपल को चाहिए स्‍पेशल ट्रीटमेंट तब जाकर भारत में बनाएंगे आईफोन

एपल द्वारा भारत में अपनी खुद की यूूनिट लगाने की योजना अधर में पड़ती नजर आ रही है। एपल ने सरकार से टैक्‍स के अलावा कई दूसरे नियमों में छूट देने की बात कही है जिसके लिए सरकार तैयार नहीं है।

Written By:

2016 में जब एपल के सीईओ टिमकुक भारत की यात्रा पर आए तो उम्‍मीद जगी थी कि जल्‍द ही आईफोन और दूसरे एपल प्रोडेक्‍ट्स भारत में बनना शुरु हो जाएंगे लेकिन अब लगता है इस उम्‍मीद पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

एपल को चाहिए स्‍पेशल ट्रीटमेंट तब जाकर भारत में बनाएंगे आईफोन

सरकार के अनुसार एपल को भारत में अपनी युनिट शुरु करने के लिए नियमों में काफी छूट चाहिए। एपल का कहना है उसे इंडिया में लोकल सोर्सिंग, दूसरे उपकराणों के अलावा टैक्‍स नियमों में भी छूट चाहिए। इसके अलावा कंपनी ये भी चाहती है कि भारत में उसे अपने खुद के स्‍टोर खोलने की इज़ाजत दी जाए।

जानिए क्यों हिट हो रही है मोदी की 'भीम एप'

हालाकि अभी कंपनी ने इस बात का खुलासा नहीं किया है कि भारत के कहां पर वो अपनी युनिट खोलना चाहती है लेकिन उम्‍मीद जताई जा रही है। एपल बैंगलोर, अहमदाबाद और गुड़गांव से इसकी शुरुआत कर सकती है। फिलहाल एपल का ज्‍यादातर प्रोडेक्‍ट चाइना से मैन्‍यूफैक्‍चर किया जाता है।

एपल को चाहिए स्‍पेशल ट्रीटमेंट तब जाकर भारत में बनाएंगे आईफोन

जहां एक और एपल भारत से स्‍पेशल ट्रीटमेंट की मांग कर रही है वहीं दूसरी और सैमसंग ने भारत में मैन्‍यूफैक्‍चरिंग का काम शुरु भी कर दिया है। टिम कुक अपनी यात्रा के दौरान पहले की कह चुके है कि भारत कंपनी के लिए दूसरा सबसे बड़ा बाजार है। अब देखना ये है सरकार एपल द्वारा मांगी गई छूट पर क्‍या जवाब देती है।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
English summary
Apple Inc. is unlikely to receive any special concession from the Indian government to manufacture its iPhones in the country.
Please Wait while comments are loading...
'योगीराज' में 'यादवराज' की 24 भर्तियों के साक्षात्कार पर रोक
'योगीराज' में 'यादवराज' की 24 भर्तियों के साक्षात्कार पर रोक
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
Opinion Poll

Social Counting