2015 तक भारत का ई-कॉमर्स उद्योग 27 हजार करोड़ रुपये का होगा : ईबे

Written By:

रोज एक नई वेबसाइट इंटरनेट पर ओपेन हो रही है। जैसे जैसे लोगों के बीच इंटरनेट पहुंच होती जा रही है वे ऑनलाइन सुविधाओं का लाभ उठा रहे हैं। पहले जहां ऑनलाइन किताबे और दूसरे चीजें ही उपलब्‍ध होती थी वहीं अब सब्‍जी से लेकर कार और बाइक तक ऑनलाइन मिलने लगीं हैं। आकड़ों के मुताबिक भारत का ई-कॉमर्स उद्योग अगले तीन सालों में छह गुना बढ़कर 27 हजार करोड़ रुपये का हो जाएगा।

2015 तक भारत का ई-कॉमर्स उद्योग 27 हजार करोड़ रुपये का होगा : ईबे

यह बात बुधवार को दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन बाजार कम्पनी ईबे ने कही। ईबे इंडिया के निदेशक (एपीएसी आय प्रबंधन) शरत डिगुमार्टी ने कहा, हमारा अनुमान है कि 2015 तक भारत में ई-कॉमर्स लगभग 27 हजार करोड़ रुपये का हो जाएगा। अभी इसका आकार 4,200 करोड़ रुपये का है।" उन्होंने कहा, "देश में ई-कॉमर्स अभी भी शैशवावस्था में है। लेकिन हर कोई भारत को एक बड़े अवसर के रूप में देखता है।

"डिगुमार्टी के मुताबिक देश में स्मार्टफोन का काफी प्रसार हो चुका है इसलिए आने वाले वर्षो में ईकॉमर्स का चक्रवृद्धि दर से विकास होगा। ईबे इंडिया ने कहा कि देश की दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों में यह काफी तेजी से लोकप्रिय हो रही है।डिगुमार्टी ने कहा, "जो भी विकास हो रहा है, वह दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों से हो रहा है। लोग स्मार्टफोन खरीद रहे हैं, इसलिए कारोबार तो बढ़ना ही है।

Please Wait while comments are loading...
7th pay commission: केन्द्रीय कर्मचारियों को उम्मीद से अधिक मिला HRA
7th pay commission: केन्द्रीय कर्मचारियों को उम्मीद से अधिक मिला HRA
7th Pay Commission: HRA से लेकर नर्सिंग अलाउंस तक सबकुछ कितना बढ़ा, जानिए...
7th Pay Commission: HRA से लेकर नर्सिंग अलाउंस तक सबकुछ कितना बढ़ा, जानिए...
Opinion Poll

Social Counting