आईएसआईएस का खतरनाक ‘अलरावी’ मोबाइल एप

Written By:

दुनिया का सबसे बड़ा आतंकी संगठन कितना हाइटेक हो चुका है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसने खुद की अपनी मोबाइल ऐप बना ली है जिससे वे आसानी से अपने मैसेज एक दूसरे को भेज सकते हैं वो भी खूफिया एजेंसियों को बिना खबर लगे।

आईएसआईएस का खतरनाक ‘अलरावी’ मोबाइल एप

इस नई एप्‍लीकेशन ने खूफियां एजेंसियों की मुश्‍किलें और बढा दी हैं, आईएसआईएस ने इस ऐप का नाम अलरावी रखा है जिसकी मदद से वे फोटो, वीडियो और मैसेज भेज सकते हैं। जानकारों का कहना है ये एप्‍लीकेशन वाट्सएप और टेलिग्राम जैसी दूसरी मैसेजिंग एप्‍लीकेशनों के मुकाबले ज्‍यादा सुरक्षित है।

ये कोई पहली एप्‍लीकेशन नहीं है जिसे आईएसआईएस ने बनाया है इससे पहले इस संगठन ने अमाक नाम की एक एप्‍लीकेशन बनाई गई थी जिसे टेलिग्राम से जोड़ कर प्रयोग किया जा रहा था इस एप में हमलों के वीडियो, भड़काऊ संदेश अपलोड किए जाते थे। कहा जा रहा है इस एप्‍लीकेशन को रूस के एक डेवलपर ने बनाया है।

सोशल मीडिया में आईएसआईएस के बढ़ते प्रभाव के चलते कई साइटों ने हजारों वीडियो और मैसेज हटाए भी हैं। ट्विटर ने 10 हजार से ज्‍यादा एकाउंट को सस्‍पेंड किया था वहीं य्ट्यूब ने भी 1 करोड़ 40 लाख वीडियो डिलीट किए थे। अगर 'अलरावी' को बंद न किया गया तो इस एप्‍लीकेशन की मदद से नई पीढ़ी को आईएसआईएस अपनी और खींच सकती है।

जरा ये भी पढ़ें 

जब इस फिल्म में दिखाया गया क्‍या होगा भविष्य में ..!

कूलपेड ने फिटनेस बैंड के साथ पेश किया 6,999 रुपये का 4 जी नोट3 लाइट..!

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
SBI अकाउंट होल्डर्स के खाते से काटे जा रहे हैं 990 रुपए, जानें क्यों?
SBI अकाउंट होल्डर्स के खाते से काटे जा रहे हैं 990 रुपए, जानें क्यों?
यूपी विधानसभा चुनाव 2017:  तीसरे चरण का मतदान खत्म, 61.16 % वोटिंग
यूपी विधानसभा चुनाव 2017: तीसरे चरण का मतदान खत्म, 61.16 % वोटिंग
Opinion Poll

Social Counting