सबकुछ ऑटोमेटिक होगा इस टॉयलेट में

Posted by:

महिलाओं के लिए देश में अपनी तरह का पहला 'शी ट्वॉयलेट' विकसित करने और देश भर में विभिन्न स्थानों पर ई-ट्वॉयलेट लगाने के लिए केरल की कंपनी इराम साइंटिफिक को प्रतिष्ठित 'स्कॉच पुरस्कार 2013' से नवाजा गया है। कंपनी को यह पुरस्कार देश में पहला कनेक्टेड ई-ट्वॉयलेट का मॉड्यूल (सीईटीआई) लागू करने के लिए 'शी ट्वॉयलेट' और 'डिजिटल समावेशीकरण' के लिए 'स्मार्ट गवर्नेस' के क्षेत्र में दिया गया है।

पढ़ें: कैसे चुनें सबसे बेहतर स्‍मार्टफोन

शी ट्वॉयलेट और सीईटीआई परियोजनाओं को देशभर में शीर्ष 100 इन्नोवेशनों में 'ऑर्डर ऑफ मेरिट' से भी नवाजा गया है। स्कॉच पुरस्कार देश में समावेशी विकास को बढ़ावा देने के लिए गवर्नेस और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उत्तम प्रयासों के क्षेत्र में दिया जाता है। तिरुवनंतपुरम की कंपनी ने शहर में 23 शी ट्वॉयलेट स्थापित किए हैं।

पढ़ें: कैसे चुनें सबसे बेहतर स्‍मार्टफोन

इस शौचालय में ऑटोमेटिक दरवाजा, पावर फ्लशिंग, स्वचालित क्लोजेट धुलाई और शुद्धीकरण एवं स्वचालित प्लेटफॉर्म सफाई प्रक्रिया की व्यवस्था की गई है। शौचालय का उपयोग करने के लिए प्रवेश शुल्क के रूप में नियत स्थान पर सिक्का गिराते ही स्लाइडिंग दरवाजा खुल जाता है, बिजली जल उठती है और एक्जॉस्ट पंखा चालू हो जाता है। शौचालय के अंदर बाल्टी, मग तथा अन्य सभी जरूरी सामान होता है।

पढ़ें: कैसे ट्रैक करें ऑनलाइन पैन कार्ड स्‍टेट्स

सबकुछ ऑटोमेटिक होगा इस टॉयलेट में

यदि उपयोगकर्ता शौचालय का उपयोग करने के बाद फ्लश नहीं करता तो स्वचालित यंत्र खुद ही सफाई का सारा काम निपटा लेते हैं। एक अन्य पुरस्कृत परियोजना 'कनेक्टेड ई-ट्वॉयलेट अवसंरचना' के तहत कंपनी ने देशभर में ई-ट्वॉयलेट स्थाापित किए हैं। इराम एंड आईटीएल समूह के मुख्य प्रबंध निदेशक सिद्दीक अहमद ने कहा, "स्कॉच पुरस्कार जीतने से ई-ट्वॉयलेट राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित हो गया है और हम इस अवसर का लाभ उठाएंगे।"

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
दिग्गज कांग्रेसी नेता को अपने पाले में लाने की तैयारी में भाजपा
दिग्गज कांग्रेसी नेता को अपने पाले में लाने की तैयारी में भाजपा
अब बिना कारण बताए ही छापा मार देगा आयकर विभाग, दोनों सदनों से मिली मंजूरी
अब बिना कारण बताए ही छापा मार देगा आयकर विभाग, दोनों सदनों से मिली मंजूरी
Opinion Poll

Social Counting