कानपुर की तरह मेरठ पुलिस भी करेगी स्‍मार्टफोन का सही उपयोग

Written By:

आज हर हाथ में मोबाइल होना आम बात हो गई है। अब इसी मोबाइल को मेरठ पुलिस अपराध के खिलाफ हथियार बनाने की तैयारी में है। लूट, चेन स्नैचिंग, महिलाओं के प्रति हिंसा, अत्याचार और छेड़खानी की वारदातें बढ़ रही हैं। ये घटनाएं ज्यादातर ऐसी जगहों पर होती हैं, जहां हर वक्त पुलिस का होना मुमकिन नहीं होता। ऐसे में मेरठ पुलिस ने हर हाथ में होने वाले मोबाइल फोन को हथियार का रूप दे दिया है।

पढ़ें: आपके रोंगटे खड़े कर देगी ये फोटोग्राफी

मेरठ पुलिस ने स्मार्ट 24x7 साफ्टवेयर को कंट्रोल रूम से कनेक्ट किया है, इस साफ्टवेयर का पैनिक बटन दबाने पर व्यक्ति की लोकेशन और पूरी जानकारी, एक मिनट की ऑडियो रिकार्डिग और फोटो सब कुछ कंट्रोल रूम और उस व्यक्ति के दो अन्य परिचितों तक पहुंचा देगा।

कानपुर की तरह मेरठ पुलिस भी करेगी स्‍मार्टफोन का सही उपयोग

स्मार्ट 24x7 साफ्टवेयर स्मार्ट फोन के गूगल प्ले स्टोर से लिया जा सकता है, जिसे अपलोड करने के बाद ओपन करने के लिए अपना नाम, पूरा पता, ई-मेल, मोबाइल नंबर और ऐसे दो लोगों के नंबर देने होंगे, जिसे मुसीबत में हम सबसे पहले जानकारी देना चाहेंगे।

पढ़ें: कानपुर की लड़कियों, क्‍या आपके मोबाइल में है ये ऐप ?

ऐसा करने पर साफ्टवेयर चालू हो जाएगा और जरूरत पड़ने पर लाल रंग का पैनिक बटन दबाते ही मुसीबत में फंसे इंसान की सूचना कंट्रोल रूम को चली जाएगी। कंट्रोल रूम के अलावा फायर और एंबुलेंस की सुविधा का आप्शन भी है। इस सुविधा के बारे में आईजी आलोक शर्मा बताते हैं कि लखनऊ के बाद मेरठ यह साफ्टवेयर इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस स्मार्ट एप्लीकेशन पर हर हफ्ते पुलिस की कार्यप्रणाली की समीक्षा की जाएगी।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
कारगिल शहीद की बेटी गुरमेहर देखें ये आंकड़े, आंखें खोल देंगे
कारगिल शहीद की बेटी गुरमेहर देखें ये आंकड़े, आंखें खोल देंगे
अमेठी: शाम तक मनाते रहे अधिकारी लेकिन कोई वोट डालने नहीं आया
अमेठी: शाम तक मनाते रहे अधिकारी लेकिन कोई वोट डालने नहीं आया
Opinion Poll

Social Counting