हे भगवान यहां भी चेक करते हैं लोग मोबाइल फोन

Written By:

स्‍मार्टफोन का क्रेज लोगों के बीच इस कदर बढ़ चुका है कि एक भी पल फोन के बिना रहना मुश्किल हो चुका है। आप कहीं भी जाएं, आपको हर किसी के हाथ में स्‍मार्टफोन दिखेगा और लोग आपस में

पढ़ें: इन 5 जगह पर आप नहीं ले सकते हैं सेल्फी!

कई लोगों को ऐसा लगता है कि वह पिछले कुछ समय से सही तरीके से परफॉर्म नहीं कर पा रहे हैं या उनका मन किसी और काम में नहीं लगता है। अगर ऐसा आपके साथ भी है तो आप एडीएचडी यानि अटेंशन डिफीसट/हाइपरएक्टिव डिस्‍ऑर्डर के शिकार हो चुके हैं जिसमें हर वक्‍त आपको सोशल प्‍लेटफॉर्म पर आगे रहने की जल्‍दी होती है, जिसके कारण आप हर पल फोन से चिपके रहते हैं। स्‍मार्टफोन के क्रेज को लेकर हाल ही में कुछ सर्वे किए गए जिनमें चौंकाने वाले परिणाम सामने आएं। ये ऐसे परिणाम निम्‍न प्रकार थे:

हे भगवान यहां भी चेक करते हैं लोग मोबाइल फोन

सोशल गैदरिंग में भी फोन 
सोशल साइट या प्‍लेटफॉर्म पर जोर दिया जाता है कि कहीं मिलते हैं और जब सब इक्‍ट्ठा होते हैं तो सभी अपने फोन में लगे रहते हैं। आपस में पिक्‍चर्स को भी इसलिए क्लिक किया जाता है कि उन्‍हें फेसबुक या इंस्‍टाग्राम पर डाला जा सकें। यानि दोस्‍तों से मिलने से ज्‍यादा वर्चुअल वर्ल्‍ड में शोऑफ करने की आदत हममें आ गई है।

पढ़ें: एयरटेल 4जी गर्ल का ऐसा हॉट अवतार नहीं देखा होगा आपने!

हे भगवान यहां भी चेक करते हैं लोग मोबाइल फोन

काम के दौरान फोन 
10 में से 7 लोग इस बात को मानते हैं कि वो अपने काम करने के दौरान फोन को बार-बार चेक करते हैं कि ग्रुप में क्‍या नया आया या फिर फेसबुक पर क्‍या चल रहा है। ऐसा करने से काम में दिक्‍कत आती है लेकिन आदत से परेशान लोग बाज नहीं आते।

हे भगवान यहां भी चेक करते हैं लोग मोबाइल फोन

सेक्‍स के दौरान भी फोन 
सोच ही अजीब लगता है कि पार्टनर के साथ अंतरंग पलों को बिताते हुए अचानक से कोई फोन देखने लग जाएं। लेकिन ऐसे विरले लोग इस दुनिया में हैं। सर्वे के दौरान 1 प्रतिशत लोगों ने स्‍वीकार किया कि पार्टनर के साथ होने पर भी वह फोन को चेक जरूर कर लेते हैं उसके बाद ही सेक्‍स करना पसंद करते हैं, इससे उन्‍हें मन में कोई टेंशन नहीं रहती है।

पढ़ें: आधार कार्ड है तो 10 दिन में पाएं पासपोर्ट, नो पुलिस वेरिफिकेशन!

हे भगवान यहां भी चेक करते हैं लोग मोबाइल फोन

मन न लगना 
स्‍मार्टफोन के क्रेज को लेकर कई सर्वे किए गए, जिनमें से एक में 221 लोगों को शामिल किया गया और तीन हफ्तों के इस शोध में शुरूआती एक हफ्ते में फोन तक उनकी आसान पहुँच कर दी गई और नोटिफिकेशन भी ऑन रखा गया। दूसरे सप्‍ताह में फोन का नोटिफिकेशन ऑफ कर दिया गया और आसानी से पहुँच में नहीं रखा गया, जबकि तीसरे सप्‍ताह में फोन से उनकी दूरी बना दी गई। ऐसे में उनकी परफॉमेंस पर काफी प्रभाव देखा गया और उनका किसी काम में मन भी नहीं लगा।

हे भगवान यहां भी चेक करते हैं लोग मोबाइल फोन

फोकस न कर पाना 
स्‍मार्टफोन के आदी हो चुके लोग, इस समस्‍या के कारण अपने काम पर सही से ध्‍यान नहीं दे पाते, जिसके कारण उनहें कई दिक्‍कतों का सामना करना पड़ता है। सबसे बड़ी समस्‍या उनके साथ यह है कि वो खुद की उस समस्‍या का कारण होते हैं और जानते हुए भी उसे हल नहीं कर पाते हैं।

Read more about:
English summary
Recent polls have shown that as many as 95% of smartphone users have used their phones during social gatherings; that seven in 10 people used their phones while working.
Please Wait while comments are loading...
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
तारा शाहदेव की सास कहती थी- धर्म बदल लो नहीं तो बिस्‍तर यही रहेगा, मर्द बदलते रहेंगे
संभल में अपनी सास से संभलकर रहना दामाद जी!
संभल में अपनी सास से संभलकर रहना दामाद जी!
Opinion Poll

Social Counting