सैमसंग ने अपने शानदार स्मार्टफोन्स की कीमत 5000 रु तक घटाई!

Written By:

सैमसंग ने अपने फ्लैगशिप स्मार्टफोन की कीमत भारत में कम कर दी है। खासकर गैलेक्सी एस7 और गैलेक्सी एस7 एज की। कंपनी के इन दोनों ही स्मार्टफोन की कीमत करीब 5000 रुपए तक कम हुई है। सैमसंग ने अपने यह दोनों फ्लैगशिप स्मार्टफोन एमडब्ल्यूसी 2016 में पेश किए थे, जिसके करीब एक महीने बाद इन्हें भारत में लॉन्च किया गया था।

अपने एरिया में कैसे पाएं रिलायंस जियो 4जी सिम!

कीमत में कटौती के बाद गैलेक्सी एस7 का 32जीबी वैरिएंट अब 43,400 रुपए में खरीदा जा सकेगाऔर 32जीबी वैरिएंट गैलेक्सी एस7 एज को 50,900 रुपए में खरीद सकते हैं। आपको बता दें कि गैलेक्सी एस 7 पहले 48,900 रु और गैलेक्सी एस7 की कीमत 56,900 रु थी।

श्याओमी के फ्लैगशिप स्मार्टफोन की कीमत घटी, अब हो गया है सस्ता

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

डिस्प्ले

सैमसंग गैलेक्सी एज स्मार्टफोन में 5.50 इंच टचस्क्रीन डिस्प्ले है जबकि सैमसंग गैलेक्सी एस 7 में 5.10 इंच टचस्क्रीन दी है।

प्रोसेसर रैम

गैलेक्सी एस7 एज 1.6GHz ऑक्टा कोर प्रोसेसर दिया गया है जो कि 4जीबी रैम के साथ आता है। वहीं गैलेक्सी एस7 में भी समान प्रोसेसर और 4जीबी रैम है।

32जीबी वैरिएंट

भारत में उपलब्ध दोनों ही स्मार्टफोन 32जीबी वैरिएंट में आते हैं, जिनकी इंटरनल स्टोरेज माइक्रोएसडी कार्ड से बढ़ाकर 200जीबी तक की जा सकती है।

कैमरा

गैलेक्सी एस7 एज और एस7 स्मार्टफोन में 12 मेगापिक्सल प्राइमरी कैमरा दिया है और सेल्फी के लिए 5 मेगापिक्सल फ्रंट कैमरा है।

बैटरी

दोनों ही स्मार्टफोन एंड्रायड 6.0 मार्शमेलो पर काम करते हैं। गैलेक्सी एस7 एज में 3600mAh नॉन रिमूवेबल बैटरी दी है जबकि एस7 में 3000mAh नॉन रिमूवेबल बैटरी है।

 

 


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
Samsung galaxy s7 edge and s7 receives a price cut of 5000 rs. Now you can get these smartphones at cheaper price.
Please Wait while comments are loading...
उत्तर प्रदेश चुनाव 2017: भाजपा ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट
उत्तर प्रदेश चुनाव 2017: भाजपा ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट
दंगल में गीता बनी जायरा वसीम ने फेसबुक पर मांगी माफी, बोलीं गलती हो गई
दंगल में गीता बनी जायरा वसीम ने फेसबुक पर मांगी माफी, बोलीं गलती हो गई
Opinion Poll

Social Counting