आखों की रोशनी कम कर रहा है आपका स्‍मार्टफोन

Posted by:

अगर स्मार्टफोन ने हमारी लाइफ को आसान बना दिया है तो दूसरी तरफ इसकी कई नुकसान भी हैं। एक अग्रणी चिकित्सक के अनुसार स्मार्टफोन से आंखों की रोशनी कम हो रही है। फीमेलफस्र्ट डॉट को डॉट यूके के मुताबिक सर्जन डेविड एलमबिम ने बताया कि युवा ब्रिटिशवासियों में स्मार्टफोन के कारण पास की दृष्टि दोष के मामलों में वृद्धि हो रही है। एलमबिम ने पाया कि स्मार्टफोन के 1997 में बाजार में आने के बाद से पिछले 10 वर्षो में युवाओं में निकट दृष्टि दोष के मामलों की संख्या में 35 फीसदी की वृद्धि हुई है।

पढ़ें: देखें एक नजर : अगस्‍त में कौन कौन से मोबाइलों ने दी दस्‍तक

पूरे ब्रिटेन में आधी जनसंख्या के पास स्मार्टफोन हैं और औसतन हर कोई दो घंटे स्मार्टफोन पर लगाता है। इसके साथ ही कंप्यूटर स्क्रीन, लैपटाप और टैबलेट पर बिताए गए समय को जोड़ दिया जाए तो खासकर युवाओं और बच्चों की दृष्टि को स्थाई नुकसान का खतरा है।

पढ़ें:देखिए दिल दहला देने वाली 20 इंस्‍टाग्राम फोटो

आखों की रोशनी कम कर रहा है आपका स्‍मार्टफोन

नए शोधों में पाया गया है कि औसत स्मार्टफोन उपयोगकर्ता उसे 30 सेंटीमीटर की दूरी पर रखते हैं। कुछ लोग तो उसे 18 सेंटीमीटर की दूरी पर भी रखते हैं इसकी तुलना में अखबार और किताबें 40 सेंटीमीटर दूर रखी जाती हैं। एलमबिम के अनुसार निकट दृष्टिदोष 21 वर्ष की उम्र तक स्थिर हो जाता है लेकिन अब यह 30 वर्ष और किसी-किसी मामले में तो 40 वर्ष तक भी बढ़ता रहा है।

उन्होंने कहा, यदि ऐसे ही चलता रहा तो 2033 तक 30 वर्ष की उम्र के आधे लोगों को निकट दृष्टि दोष हो जाएगा।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
Please Wait while comments are loading...
12 शिवरात्रियों में से महाशिवरात्रि इतनी महत्वपूर्ण क्यों?
12 शिवरात्रियों में से महाशिवरात्रि इतनी महत्वपूर्ण क्यों?
पुणे टेस्ट मैच शुरू होते ही भारत ने तोड़ा पाकिस्तान का रिकॉर्ड
पुणे टेस्ट मैच शुरू होते ही भारत ने तोड़ा पाकिस्तान का रिकॉर्ड
Opinion Poll

Social Counting