अंतरिक्ष की आवाजें बनेंगी आपके मोबाइल की रिंगटोन !

Written By:

अगर आप कोई अनूठा रिगटोन चाहते हैं, तो राष्ट्रीय वैमानिकी एवं अंतरिक्ष प्रशासन (नासा) आपकी मदद कर सकता है। नासा ने हाल में पिछले 50 वर्षो में अंतरिक्ष में रिकॉर्ड की गईं ऐसी ध्वनियां जारी की हैं, जिन्हें रिगटोन बना सकते हैं। अब आपका मोबाइल जितनी बार बजेगा, उतनी बार चांद पर पहला कदम रखने वाले अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग का उद्धरण, 'मानव के लिए एक छोटा कदम, मानवजाति के लिए एक बड़ी छलांग' या अंतरिक्ष शटल की गड़गड़ाहट सुन सकते हैं।

पढ़ें: आईआरसीटीसी में कैसे बनाएं अपना ऑनलाइन एकाउंट

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने ध्वनियां जारी करने के लिए सोशल साउंड प्लेटफॉर्म 'साउंडक्लाउड' पर एक पेज बनाया है। ब्रिटिश ऑनलाइन संगीत समाचार साइट 'गिगवाइज' के अनुसार, अंतरिक्ष में शून्यता की वजह से ध्वनियां दब गई हैं, लेकिन वैज्ञानिकों ने विशेष उपकरणों के इस्तेमाल से ध्वनि कैद करने के तरीके ढूंढ़ लिए हैं। रिकार्डिंग में शनि के छल्ले, वरुण, बृहस्पति और लाखों मील दूर पृथ्वी की ध्वनि कैसी होगी, सभी ध्वनियां शामिल हैं।

पढ़ें: क्‍या आपके आईफोन में स्‍पेस कम है

अंतरिक्ष की आवाजें बनेंगी आपके मोबाइल की रिंगटोन !

उदाहरण के लिए 'लिफ्ट ऑफ' नामक इस क्लिप में चंद्रमा के पहले मानव मिशन 'अपोलो 11' की ध्वनियां शामिल हैं। समाचार वेबसाइट 'द इनक्विसिटर' की रिपोर्ट के अनुसार, द साउंडक्लाउड पेज पर अब तक 63 फाइलें शामिल हुई हैं, जिनमें पिछले 50 वर्षो में अंतरिक्ष अन्वेषण के कुछ सबसे ऐतिहासिक पल शामिल हैं।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए क करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज
English summary
Out of the world mobile ringtones are set to be launched, literally, as NASA recently released over half a century of sounds from space.
Please Wait while comments are loading...
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
शहीदी दिवस: 1931 में आज ही के दिन दी गई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी
अजी सुनते हो ? हमारी शादी करवाने वाले पंडित जी का देहांत हो गया
अजी सुनते हो ? हमारी शादी करवाने वाले पंडित जी का देहांत हो गया
Opinion Poll

Social Counting