ट्विटर पर लोगों को क्‍यों नहीं पंसद आया एप्‍पल का नया ओएस एक्‍स

Posted by:

वर्ल्‍ड डेवलपर्स कांन्‍फ्रेंस 2013 में एप्‍पल ने जहां एक ओर आईओएस 7 पेश किया वहीं एप्‍पल सीईओ टिम कुक ने मैकबुक के लिए नया ओएस मैवरिक्‍स बाजार में उतारा, जिसमें मल्‍टीपल डिस्‍प्‍ले के बाद डाक्‍यूमेंट टैग करने के अलावा कई दूसरे फीचर दिए गए हैं। नए ओएस में मैकबुक की बैटरी लाइफ और प्रोसेसर की परफार्मेंग भी अच्‍छी रहेगी।

पढ़ें: क्‍या एंड्रायड और विंडो को टक्‍कर दे पाएगा एप्‍पल का नया आईओएस 7?

एप्‍पल को मैकबुक के नए ओएस मैवरिक्‍स का नाम एक खास जगह से मिला, नॉर्थ कैलिफोर्निया में मैवरिक्‍स सर्फिंग के लिए सबसे शानदार जगह मानी जाती है जहां ढेरों सैलानी आते हैं। काफी कम लोगों को इसकी जानकारी होगी कि एप्‍पल ने अपने मैकबुक के नए ओएस का नाम कहा से लिया है। आईए देखते नार्थ कैलीर्फोनियां के मैवरिक्‍स की कुछ तस्‍वीरें जहां से इंस्‍पायर होकर नए ओएस एक्‍स का नाम रखा गया।

लेकिन दूसरी ओर जहां एप्‍पल ने नया मैकओएस लांच किया वहीं ट्विटर पर लोगों ने कई निगेटिव प्रतिक्रियाएं दी। कई लोग इसकी कीमत को देखते हुए काफी निराश हैं उनका कहना है मार्केट में इस कीमत में कई दूसरे ब्रांड के बेहतर फीचर वाले प्रोडेक्‍ट उपलब्‍ध हैं, वहीं इसकी डिजाइन भी लोगों को नहीं पसंद आ रही। 

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Best Shots Of OS X Mavericks Real Life Inspiration

Best Shots Of OS X Mavericks Real Life Inspiration

Best Shots Of OS X Mavericks Real Life Inspiration

Best Shots Of OS X Mavericks Real Life Inspiration

Best Shots Of OS X Mavericks Real Life Inspiration

Best Shots Of OS X Mavericks Real Life Inspiration

Best Shots Of OS X Mavericks Real Life Inspiration


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

ट्विटर पर लोगों को क्‍यों नहीं पसंद आया नया मैकओएस

Please Wait while comments are loading...
यूपी चुनाव 2017: भाजपा ने जारी की 155 उम्मीदवारों की दूसरी सूची, राजनाथ सिंह के बेटे को टिकट
यूपी चुनाव 2017: भाजपा ने जारी की 155 उम्मीदवारों की दूसरी सूची, राजनाथ सिंह के बेटे को टिकट
खुशखबरी, अब बस 300 रुपए में खरीद सकेंगे सोना, जानें कैसे?
खुशखबरी, अब बस 300 रुपए में खरीद सकेंगे सोना, जानें कैसे?
Opinion Poll

Social Counting