स्‍मार्टफोन को सेफ रखने के कुछ टिप्‍स

Posted by:

फोन में सावधानी से मेल अटैचमेंट ओपेन करें
मोबाइल में भी अब डेस्‍कटॉप की तरह मेल और कई दूसरे काम किए जा सकते हैं। ऐसे में आपको थोड़ा सावधान होने की जरूरत है। अगर आप फोन में कोई भी मेल ओपेन कर रहे हैं तो मेल में अटैच डाक्‍यूमेंट को जरा संभालकर खोलें क्‍योंकि हो सकता है उसके कोई ऐसी फाइल हो जो आपके मोबाइल से जरूरी जानकारी को चुरा कर दूसरी जगह भेज दे।

स्‍मार्टफोन को सेफ रखने के कुछ टिप्‍स

किसी भी अजीब यूआरएल में कभी क्लिक न करें
इंटरनेट में हर चीज का एक यूआरएल होता है जैसे अगर आप गूगल सर्च पेज में जाएंगे तो उसका यूआरएल होगा https://www.google.co.in/webhp?hl=en&tab=ww ऐसे ही सभी साइटों के यूआरएल होते हैं। अगर आप ध्‍यान से देखें तो कुछ साइटों के यूआरएल काफी अजीब होते हैं ऐसे यूआरएल में कभी क्लिक न करें क्‍योंकि वे ऐसी साइटे होती है जो आपके फोन में खतरनाक वॉयरस छोड़ सकती हैं।

वॉयरस एप्‍लीकेशन
गूगल प्‍ले से लेकर आईओएस सभी प्‍लेटफार्म के लिए ढेरों एप्‍लीकेशने उपलब्‍ध हैं इसी बीच कुछ ऐसी एप्‍लीकेशन भी कुछ हैकर डाल देते हैं जो आपके फोन सॉफ्टवेयर को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए जब भी कोई एप्‍लीकेशन मोबाइल में डाउनलोड करें सबसे पहले उसके बारे में पूरी जांच पड़ताल कर लें।

ब्‍लूटूथ को इनविजिबल मोड में रखें 
अपने फोन के ब्‍लूटूथ को हमेशा इनविजिबल मोड में रखें ताकि बाहर को कोई भी व्‍यक्ति आपके फोन ब्‍लूटूथ को सर्च करके उसमें कोई वॉयरस न भेज सके।आजकल हर डिवाइस में ब्‍लूटूथ का ऑप्‍शन मौजूद है फिर वो चाहे फोन हो पीसी, लैपटाप या फिर कैमरा इसलिए आपको थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है।केबिर नाम का सबसे पहला ब्‍लूटूथ वॉयरस 2004 में आया था जो फोन की सभी जरूरी जानकारियों को दूसरे फोन में ट्रांसफर कर देता था।

अपने मोबाइल फोन हमेशा साफ रखें
मोबाइल को साफ रखने का ये मतलब नहीं कि आप उसे ऊपर से साफ रखें। अगर आप अभी अपने मोबाइल के मैसेज बॉक्‍स और दूसरे फोल्‍डरों में नजर डालेंगे तोउसके कई ऐसी मेल, फोटो मिल जाएंगी जो फालतू की फोन मैमोरी घेरे हुए हैं। थोड़ा समय निकाल कर ऐसी बेकार चीजों को डिलीट कर दें इससे न सिर्फ आपकेफोन की स्‍पीड बढ़ जाएगी बल्‍कि आपको दूसरे डेटा ढूड़ने में परेशानी भी नहीं होगी।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

opening email attachments

मोबाइल में भी अब डेस्‍कटॉप की तरह मेल और कई दूसरे काम किए जा सकते हैं। ऐसे में आपको थोड़ा सावधान होने की जरूरत है। अगर आप फोन में कोई भी मेल ओपेन कर रहे हैं तो मेल में अटैच डाक्‍यूमेंट को जरा संभालकर खोलें क्‍योंकि हो सकता है उसके कोई ऐसी फाइल हो जो आपके मोबाइल से जरूरी जानकारी को चुरा कर दूसरी जगह भेज दे।

Look out for weird-looking shortened URLs

इंटरनेट में हर चीज का एक यूआरएल होता है जैसे अगर आप गूगल सर्च पेज में जाएंगे तो उसका यूआरएल होगा https://www.google.co.in/webhp?hl=en&tab=ww ऐसे ही सभी साइटों के यूआरएल होते हैं। अगर आप ध्‍यान से देखें तो कुछ साइटों के यूआरएल काफी अजीब होते हैं ऐसे यूआरएल में कभी क्लिक न करें क्‍योंकि वे ऐसी साइटे होती है जो आपके फोन में खतरनाक वॉयरस छोड़ सकती हैं।

Flora of viruses in apps

गूगल प्‍ले से लेकर आईओएस सभी प्‍लेटफार्म के लिए ढेरों एप्‍लीकेशने उपलब्‍ध हैं इसी बीच कुछ ऐसी एप्‍लीकेशन भी कुछ हैकर डाल देते हैं जो आपके फोन सॉफ्टवेयर को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए जब भी कोई एप्‍लीकेशन मोबाइल में डाउनलोड करें सबसे पहले उसके बारे में पूरी जांच पड़ताल कर लें।

Switch your Bluetooth to invisible mode when active

अपने फोन के ब्‍लूटूथ को हमेशा इनविजिबल मोड में रखें ताकि बाहर को कोई भी व्‍यक्ति आपके फोन ब्‍लूटूथ को सर्च करके उसमें कोई वॉयरस न भेज सके। आजकल हर डिवाइस में ब्‍लूटूथ का ऑप्‍शन मौजूद है फिर वो चाहे फोन हो पीसी, लैपटाप या फिर कैमरा इसलिए आपको थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है। केबिर नाम का सबसे पहला ब्‍लूटूथ वॉयरस 2004 में आया था जो फोन की सभी जरूरी जानकारियों को दूसरे फोन में ट्रांसफर कर देता था।

अपने मोबाइल फोन हमेशा साफ रखें

मोबाइल को साफ रखने का ये मतलब नहीं कि आप उसे ऊपर से साफ रखें। अगर आप अभी अपने मोबाइल के मैसेज बॉक्‍स और दूसरे फोल्‍डरों में नजर डालेंगे तो उसके कई ऐसी मेल, फोटो मिल जाएंगी जो फालतू की फोन मैमोरी घेरे हुए हैं। थोड़ा समय निकाल कर ऐसी बेकार चीजों को डिलीट कर दें इससे न सिर्फ आपके फोन की स्‍पीड बढ़ जाएगी बल्‍कि आपको दूसरे डेटा ढूड़ने में परेशानी भी नहीं होगी।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
इटावा: शिवपाल पर उनके ही गढ़ में हमला, भाजपा समर्थकों के पथराव में हुए घायल
इटावा: शिवपाल पर उनके ही गढ़ में हमला, भाजपा समर्थकों के पथराव में हुए घायल
SBI अकाउंट होल्डर्स के खाते से काटे जा रहे हैं 990 रुपए, जानें क्यों?
SBI अकाउंट होल्डर्स के खाते से काटे जा रहे हैं 990 रुपए, जानें क्यों?
Opinion Poll

Social Counting