सुंदर पिचाई के सीईओ बनने के बाद 1 ट्रिलियन डॉलर की कंपनी बनी Alphabet


आपने कुछ दिनों पहले अल्फाबेट नाम की कंपनी के बारे में सुना होगा। दरअसल, अल्फाबेट की कंपनी का नया सीईओ सुंदर पिचाई को बनाया गया है। सुंदर पिचाई भारतीय मूल के व्यक्ति हैं जो इससे पहले गूगल क्रोम के सीईओ थे। गूगल की एक पेरेंट कंपनी Alphabet है। सुंदर पिचाई को गूगल की पेरेंट कंपनी Alphabet का सीईओ बनाया गया है।

अब गूरुवार यानि कल मार्केट बंद से होने ख़बर आई कि गूगल की इस पेरेंट कंपनी Alphabet ने एक ट्रिलियन डॉलर का मार्केट कैप को पास किया है। इसका मतलब अल्फाबेट अब ट्रिलियन डॉलर वाली कंपनी बन गई है। आपको बता दें कि इस आंकड़े को छूने वाली कंपनियों में अल्फाबेट अब अमेरिका की पांचवी कंपनी बन गई है।

Alphabet कंपनी का फायदा

Alphabet कंपनी के शेयर में अचानक उछाल आया और एक शेयर की कीमत बढ़ कर $1,451.70 हो गया है। सुंदर पिचाई के सीईओ बनने के बाद अल्फाबेट ट्रिलियन डॉलर कंपनी बन गई है। आपको बता दें कि सुंदर पिचाई से पहले अल्फाबेट कंपनी के सीईओ लैरी पेज और ब्रिन थे, जिन्होंने इस्तीफा दे दिया था। लैरी पेज और ब्रिन गूगल के को-फाउंडर्स भी हैं।

यह भी पढ़ें:- Realme X2 Pro: इस लेटेस्ट स्मार्टफोन का रिव्यू पढ़िए और सभी खूबियों और खामियों को जानिए

जैसा कि हमने आपको बताया कि Alphabet अमेरिका की पांचवी कंपनी ने जिसने ट्रिलियन डॉलर का आंकड़ा पार किया है। आप सोच रहे होंगे कि इस लिस्ट में पहली कंपनी कौनसी है। 2018 में अमेरिका की कंपनी एप्पल ने इस 1 ट्रिलियन डॉलक का मार्केट कैपिटल टच किया है। एप्पल के बाद इस लिस्ट में दूसरी कंपनी का नाम गूगल है। गूगल ने भी एप्पल के बाद एक ट्रिलियन डॉलर के आंकड़े को पार किया और इस लिस्ट में दूसरी कंपनी बन गई।

फेसबुक होगी अगली ट्रिलियन डॉलर कंपनी

गूगल के बाद इस लिस्ट में तीसरी कंपनी अमेज़न और चौथी माइक्रोसॉफ्ट है, जिसने एक ट्रिलियन डॉलर का आंकड़ा पार किया है। अब अल्फाबेट कंपनी का नाम इस लिस्ट में शुमार हो गया है। इस लिस्ट में शामिल होने वाली अगली अमेरिकी कंपनी का नाम फेसबुक है। फेसबुक फिलहाल 600 बिलियन डॉलर से ऊपर का मार्केट कैपिटल रखने वाली कंपनी है।

हालांकि अगर पूरी दुनिया की कंपनियों की बात करें तो 1 ट्रिलियन डॉलर का आंकड़ा छूने वाली पहली कंपनी अमेरिका की नहीं बल्कि चीन की थी। चीन की कंपनी पेट्रोचाइना दुनिया की पहली ऐसी कंपनी बनी थी जिसने 1 ट्रिलियन डॉलर का आंकड़ा छुआ था। आपको बता दें कि चीनी कंपनी ने ये कारनाम सबसे पहले साल 2007 में किया था।

वहीं अगर दुनिया की सबसे फायदेमंद कंपनी की बात करें तो वो ना तो अमेरिका की है और ना ही चीन की है। इस वक्त सबसे ज्यादा मार्केट कैपिटल वाली कंपनी सऊदी अरब की तेल कंपनी सउदी अरामको है। वहीं दूसरे नंबर पर अमेरिका की कंपनी एप्पल है। वहीं अल्फाबेट कंपनी इस वक्त दुनिया की सांतवी सबसे फायदेमंद कंपनी है।

Most Read Articles
Best Mobiles in India

Have a great day!
Read more...

English Summary

Alphabet has a market cap of $ 1 trillion. This means Alphabet has now become a trillion dollar company. Let us tell you that Alphabet has now become the fifth US company to touch this figure.