हर भारतीय के पास ज़रूर होने चाहिए ये 5 इमरजेंसी एप

Written By: Anoop Kumar Singh

इंटरनेट ,डेवलपर्स और अन्य प्रोफेशन के लोगों के लिए अपना काम और प्रतिभा दिखाने की एक खुली जगह है. हालांकि इंटरनेट, हैकर्स द्वारा किए गए साइबर अपराधों का शिकार भी है. कई बार मुश्किल की घडी में आपके आस पास ऐसा कोई नहीं होता है जिससे आप मदद मांग सके.

हर भारतीय के पास ज़रूर होने चाहिए ये 5 इमरजेंसी एप

ऐसे में आप अपने मोबाइल की मदद ले सकते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस समय कई कम्पनियों ने ऐसे एप विकसित किए हैं जिनका उपयोग आप कोई इमरजेंसी पड़ने पर कर सकते हैं. यहाँ हम कुछ ऐसी ही ऐप्स के बारे में चर्चा कर रहे हैं.

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

आई ऑन मी ऐप :

यह ऐप परिवार के सदस्यों और दोस्तों के लिए बनाया गया है जो अकेले रह रहे हैं. यह ऐप सुनिश्चित करता है कि यदि कोई उपयोगकर्ता ऐप का जवाब नहीं दे रहा है, तो यह अपने आप ही दुसरे यूजर को सूचित कर देगा.जिसमे किसी प्रकार के बटन प्रेस करने की जरुरत नहीं पड़ेगी. इस एप में आप अपना शेड्यूल बना सकते हैं और सेटिंग कर देने पर यह एप आपसे हर घंटे में यह पूछता है कि आप सही है या नहीं.

बीसेफ अलार्म :

बीसेफ अलार्म के साथ कौन कहां पर है और वो क्या कर रहा है इस बात का पता लगाया जा सकता है. यह एप आटोमेटिक ही आपकी लोकेशन के साथ ऑडियो-विडियो भी भेज देता है. अलार्म एक्टिव होने पर रिकॉर्ड किया गया वीडियो अपने आप ही आपके पेरेंट्स या परिचितों के पास चला जाता है. आप से जुड़ी सभी जानकारी सुरक्षित रूप से बीसेफ के सर्वर पर स्टोर रहती है जिसे आप कभी भी प्राप्त कर सकते हैं.

फॉलो मी ऐप :

जी पी एस ट्रैकिंग पर काम करने वाला ये ऐप यूजर की लाइव पोजीशन बताता है. इसकी मदद से आपके पेरेंट्स आपकी लाइव लोकेशन देख सकते हैं कि आप इस समय कहां हैं. जब आप सुरक्षित रूप से घर पहुँच जाते हैं तो यह एप आपके पेरेंट्स को इसकी सूचना दे देता है.

How to update your Android Phone? (Hindi)
टाइमर अलार्म :

टाइमर अलार्म :

निश्चित समय में किसी काम को करने एवं उसको याद दिलाने के लिए ये ऐप काम आती है. आप इस एप में अलार्म सेट कर दें उसके बाद ठीक उस समय पर ये आप पेरेंट्स को मेसेज भेज देता है. अगर आप सुबह जॉगिंग पर जा रहे हैं या शाम को टहलने जाते हैं तो उस समय किसी अनहोनी से बचने के लिए ये एप आपके लिए मददगार साबित हो सकती है.

99 रुपए में फ्लिपकार्ट पर स्मार्टफोन व लैपटॉप एक्सेसरीज की सेल

आईसीइ (इन केस ऑफ़ इमरजेंसी ) :

अगर आप इमरजेंसी में है तो बचाव दल और डॉक्टरों द्वारा आवश्यक जानकारी को स्टोर करने का एक आसान तरीका है ICE कार्ड ऐप. यह एप निकटतम व्यक्तियों के संपर्कों की एक सूची के अलावा यूजर को दवाइयों, पिछली बीमारियों, एलर्जी और अन्य स्वास्थ्य संबंधी जानकारियों को स्टोर रखता है. इसमें एक ख़ास अलार्म बटन होता है जिससे एक ही साथ आप अपने सभी परिचितों को मेसेज भेज सकते हैं. यह आपकी लाइव लोकेशन भी आपके दोस्तों और परिचितों को बता देता है.

लोकल पुलिस ऐप:

लोकल पुलिस ऐप के जरिये कानून और सार्वजनिक सुरक्षा सेवाएं आपकी उंगलियों पर है.लोकल पुलिस ऐप को लोगों को अपने लोकल पुलिस से जोड़ने के लिए बनाया गया है,जिससे की ज्यादा से ज्यादा लोग समार्टफ़ोन की मदद से पुलिस की सहायता ले सकें.

आल कैब ऐप :

इस एक ऐप की मदद से आप एक साथ सभी टैक्सी सर्विसिंग ऐप को एक्सेस कर सकते हैं. यूजर इस ऐप का उपयोग करके सभी टैक्सी सर्विस के दाम चेक कर सकते हैं और अपनी ज़रूरत के हिसाब से उन्हें बुक कर सकते हैं.

रेड पैनिक बटन ऐप :

इस ऐप में यूजर एक पैनिक नंबर पहले से सेट करके जरुरत के समय अपनी लोकेशन उस नंबर पर भेज सकता है

वाच ओवर मी ऐप :

यह ऐप आपके किसी मुश्किल में पड़ने पर आपके परिचितों को आपकी लोकेशन और मेसेज भेज देता है. आपकी मुश्किल के हिसाब से यह एप आपको इमरजेंसी सर्विसेज से कनेक्ट भी कर देता है.


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
We will discuss the feature of each app one by one and let you know how this app can help you in the time of emergency.
प्रिया वारियर सुप्रीम कोर्ट की शरण में, फिल्म और अपने ऊपर केस के खिलाफ याचिका की दायर
प्रिया वारियर सुप्रीम कोर्ट की शरण में, फिल्म और अपने ऊपर केस के खिलाफ याचिका की दायर
ऑनस्क्रीन मां से खत मिलने पर भावुक हुए महानायक अमिताभ बच्चन, फैंस के साथ किया शेयर
ऑनस्क्रीन मां से खत मिलने पर भावुक हुए महानायक अमिताभ बच्चन, फैंस के साथ किया शेयर
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot