ये एप दूर करेगी आपकी चिंता और डिप्रेशन!

Written By:

ब्रिटिश शोधकर्ताओं द्वारा संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (सीटीबी) पर आधारित एक ऐसा स्मार्टफोन ऐप विकसित किया गया है जोकि लोगों की चिंता व अवसाद की परेशानियों से निकलने एवं उनके प्रबंधन में मदद करेगा।

घर पर कैसे तैयार करें यूएसबी मोबाइल फैन?

ये एप दूर करेगी आपकी चिंता और डिप्रेशन!

''कैच इट'' ऐप सीटीबी के माध्यम से मानसिक स्वास्थ्य व भलाई के लिए मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण का उपयोग करता है ताकि उसे बदलकर व्यक्ति की समस्याओं का प्रबंधन व समाधान हो सके।

ये एप दूर करेगी आपकी चिंता और डिप्रेशन!

''कैच इट'' ऐप यूजर्स के विचारों, सोच व मूड को बदलने या एक विशेष भावना के साथ जुड़ी शैली को पहचाने में सहायक है और साथ ही यूजर्स को ''कैच इट, चैक इट, चेंज़ इट'' प्रक्रिया के रूप में बदलाव को प्रेरित करता है।

डार्क वेब की दुनिया, जिससे अनजान हैं आप!
यह ऐप यूजर्स को उसके मूड को समझने में मदद करता है वो भी बेहतर डायरी के प्रयोग द्वारा।

ये एप दूर करेगी आपकी चिंता और डिप्रेशन!

प्रोफेसर पीटर किडमैन, लिवरपूल विश्वविद्यालय के अनुसार, ''हमारे शोध यूजर्स प्रतिक्रियाओं की सच्चाई, सूचना, नकारात्मक व सकारात्मक मूड पर उनके तीव्र प्रभाव के साथ-साथ ऐप के उपयोग की दर की जांच की।''

दो महीने में रेड्मी नोट 3 स्मार्टफोन की 6 लाख यूनिट्स बिकीं!
साइन ओपन के ब्रिटिश जर्नल में प्रकाशित प्रारंभिक परीक्षण के निष्कर्षों से पता चला कि इससे जहां यूजर्स के नकारात्मक मूड में तेजी से कमी आई तो वहां सकारात्मक मनोदशा में तेजी से वृद्धि हुई थी।

ये एप दूर करेगी आपकी चिंता और डिप्रेशन!

किडमैन का सुझाव है कि स्मार्टफोन ऐप मूलभूत सीबीटी सिद्धांतों के एप्लीकेशन्स द्वारा मानसिक स्वास्थ्य में निश्चित रूप से लाभकारी प्रभाव डालता है। जरूरत है कि यादृच्छिक नियंत्रित परीक्षण डिजाइन के साथ और अधिक शोध आयोजित किये जाने की।

English summary
App to fix anxiety and depression for you. British researchers has created this app.
Please Wait while comments are loading...
 वेटिंग टिकट से जुड़ा ये नियम हो चुका है लागू, क्‍या आपको मालूम है
वेटिंग टिकट से जुड़ा ये नियम हो चुका है लागू, क्‍या आपको मालूम है
ये था हनीप्रीत की जिंदगी का सबसे बड़ा दर्द, आसाराम ने जेल से भेजी थी 'दवा'
ये था हनीप्रीत की जिंदगी का सबसे बड़ा दर्द, आसाराम ने जेल से भेजी थी 'दवा'
Opinion Poll

Social Counting