Whatsapp ने फेक न्यूज रोकने के लिए की Educational Videos पब्लिश

    सोशल मीडिया का रेंज दिन-प्रति दिन काफी बढ़ता जा रहा है। हम सभी सोशल मीडिया पर काफी भरोसा करते हैं। सोशल मीडिया अपनी बात रखने के लिए काफी अच्छा प्लेटफार्म माना जाता है। यहां फैली खबरें हम तक जल्दी पहुंच जाती है। हालांकि यह जरूरी नहीं की सभी खबरें सच हो। Whatsapp ऐप इस बात का सबसे बड़ा उदाहरण है। Whatsapp पर कुछ समय से फेक न्यूज फैलने की काफी बातें सामने आई है, जिसे रोकने के लिए ऐप काफी प्रयास कर रहा है।

    Whatsapp ने फेक न्यूज रोकने के लिए की Educational Videos पब्लिश

    क्या काम आएगा वीडियो

    अपने प्लेटफॉर्म पर फेक न्यूज का सामना करते हुए, व्हाट्सएप ने बताया कि वह पूरे भारत में शैक्षिक वीडियो चला रहा है। जिससे यूजर्स को किसी भी मैसेज या न्यूज को आगे शेयर करने से पहले उसके फैक्ट की दोबारा जांच करने के लिए कहा जाएगा। यह वीडियो हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में चलाया जाएगा जो फेसबुक पर उपलब्ध होगी। इस वीडियो के चलते व्हाट्सएप अपने यूजर्स को फेक न्यूज के साथ धोखाधड़ी को स्पॉट करने के तरीको के बारे में विस्तार से बताएगा।

    इस सप्ताह व्हाट्सएप ने 27-सेकंड की वीडियो क्लिप जारी करते हुए बताया कि, वह व्हाट्सएप यूजर्स को "forward" लेबल के महत्व के बारे में बताएगा कि इससे क्या-क्या हो सकता है। साथ ही जब यूजर्स को पता नहीं होता है कि कोई भी मेसेज कहां से आया है तो हम कैसे उस न्यूज की जांच कर सकते हैं।

    सरकार का दवाब

    पूरे देश में फेक न्यूज को लेकर कई मामलें सामने आए थे, जिनपर सभी लोग भरोसा भी कर रहे थे। इन फेक न्यूज के शेयर होने की शुरूआत व्हाट्सएप से की गई थी। इसी को रोकने के लिए सरकार ने व्हाट्सएप को दो नोटिस जारी करते हुए चेतावनी दी थी। बताया जा रहा है कि दूसरी चेतावनी के साथ इस मैसेजिंग प्लेटफॉर्म को अफवाह शेयर करने का माध्यम घोषित कर दिया जाएगा। साथ ही इस पर कानूनी कार्यवाही की जी सकती है कि व्हाट्सएप पर तथ्यों पर पर्याप्त चैकिंग नहीं की जाती है।

    व्हाट्सएप का जवाब

    सरकार द्वारा मिले नोटिस के जवाब में, व्हाट्सएप ने शिक्षा और वकालत के साथ फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए पहल की है। हाल ही में, इसने "forward" लेबल को पेश किया है, और इसी के साथ व्हाट्सएप पर एक समय में यूजर्स सिर्फ 5 लोगों को मैसेज फॉरवर्ड कर सकेंगे। व्हाट्सएप ने कहा कि हमें हिंसा, सिविल सोसाइटी और टेक्नोलॉजी कंपनियों के साथ मिलकर काम करने की आवश्यकता है। हालांकि सरकार पूरी तरह से व्हाट्सएप की प्रतिक्रिया से खुश नहीं हैं। दूरसंचार विभाग ने दूरसंचार ऑपरेटरों, सेलुलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया, इंटरनेट सेवा प्रदाता एसोसिएशन ऑफ इंडिया को अपने विचार बताने के लिए कहा है क्योंकि इससे राष्ट्रीय सुरक्षा को भी खतरा हो सकता है।

    English summary
    There has been a lot of talk of spreading news on Whatsapp for some time, which the app is making a lot of effort to stop. Whatsapp said that he is running educational videos all over India. This will prompt the user to double check the fact that any message or news will be forwarded before further sharing.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more