भविष्‍य में ऑनलाइन ले सकेंगे वर्चुअल सेक्‍स का मजा

Posted By: Staff

भविष्‍य में ऑनलाइन ले सकेंगे वर्चुअल सेक्‍स का मजा

यह सभी जानते है कि हाल के कुछ सालों में ऑनलाइन कंम्‍यूनिकेशन तकनीक में काफी तेजी से प्रगति हुई है। हमारी रोजमर्रा जिंदगी के अलावा अब ऑनलाइन कंम्‍युनिकेशन हमारी निजी जिंदगी में भी जल्‍द ही दस्‍तक देने वाला है, कैसे! आइए हम आपको बताते हैं। कुछ चीजें ऐसी होती है जिन्‍हें केवल हम महसूस ही कर सकते है उन्‍हीं में से एक है सेक्‍स।

आजकल एसएमएस, ईमेल, चैट आदि कई ऐसे माध्‍यम मौजूद है जिनकी मदद से हम अपने दोस्‍तों और अपनों से जुड़े रहते है मगर इन माध्‍यमों के साथ कहीं ना कहीं हम भावनात्मक रूप से दूर होते जा रहें है। मगर वैज्ञानिको ने अब एक ऐसी तकनीक खोज निकाली है जिसकी मदद से आप सैकड़ो किलोमीटर दूर बैठ कर भी सेक्‍स का मजा ले सकते है वो भी अपने साथी के साथ शारीरिक और मानसिक भावनाओं के साथ। इसे आप इस अनुभव को वर्चुअल सेक्स, साइबर सेक्स या फिर किसी अन्‍य नाम दे सकते हैं।

आज शायद यह बात हमें मजाक लगे मगर जानकारों के अनुसार 2030 तक यह तकनीक हकीकत का रूप लेगी जिसके बारे में कभी सोचां भी न गया होगा। इस तकनीक का प्रयोग आनेवाले समय में होटलो में किया जाएगा। इस तकनीक को जांचने के लिए होटेल चेन ट्रैवलॉज ने भविष्य का आकलन करने वाली कंपनी पियर्सन को हायर किया था। पियर्सन ने अपनी रिपोर्ट में काफी चौकाने वाले तथ्‍य सामने आए।

आपको जानकर हैरानी होगी कि 2030 तक होटलों के कमरे इतने हाइटेक हो जाएंगे के होटल में आए हुए गेस्‍ट अपने घर पर मौजूद पार्टर्नर से वर्चुअल तरीके से सेक्स कर सकेंगे। इसके लिए नर्वस सिस्‍टम और स्किन इलेक्‍ट्रानिक की मदद से दोनों पार्टनर सेक्‍स के अनुभव को फील कर पाएंगे। इस तकनीक में होटल में मौजूद पाटर्नर का 3डी इमेज के जरिए अपने पार्टनर की तस्‍वीर दिखाई देगी साथ में गेस्‍ट अपने फ्रेंड, पार्टनर या अन्‍य किसी को के साथ भी वर्चुअल सेक्‍स कर सकेगा। इसके लिए दोनों पार्टनर के पास कंप्‍यूटर और नई तकनीक का वेब कैम होगा जो एक दूसरे की 3डी इमेज को ऑखो की रे‍टीना के द्वारा दिमाग में प्रेषित करेगा।

क्‍या होता है वर्चुअल सेक्‍स

वर्चुअल सेक्स एक ऐसी तकनीक है जिसकी मदद से दो या दो से अधिक लोग कंम्‍यूनिकेशन डिवाइस की मदद से एक दूसरे को सेक्‍स मैसेज का आदान प्रदान करते है। बस इस मैसेज में मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से संदेश प्राप्‍त होता है। यह एक अलग तरह को अनुभव होता है, जिसमें भाग लेने वाले लोगों को ऐसा अनुभव होता है जैसे वे वास्तव में सेक्सुअल संबंध बना रहे हैं।

Please Wait while comments are loading...
ईरान में भूकंप: 6.2 की तीव्रता से हिला दक्षिण पूर्वी इलाका
ईरान में भूकंप: 6.2 की तीव्रता से हिला दक्षिण पूर्वी इलाका
'अब कॉन्डोम के विज्ञापन देर रात ही दिखाए जा सकते हैं', सरकार ने निर्धारित किया प्रसारित समय
'अब कॉन्डोम के विज्ञापन देर रात ही दिखाए जा सकते हैं', सरकार ने निर्धारित किया प्रसारित समय
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot