एचपी ने लांच किया 19,999 रुपए में नया लैपटॉप

Posted By: Staff

एचपी ने लांच किया 19,999 रुपए में नया लैपटॉप

भारतीय पीसी बाजार में इस समय लगभग सभी बड़ी कंपनियों के प्रोडेक्‍ट उप्‍लब्‍ध हैं। भारत में मोबाइल और पीसी की मांग को देखते हुए सभी छोटी और बड़ी कंपनियों की नजर भारत की ओर है। विश्‍व की सबसे बड़ी लैपटॉप निर्माता कंपनी एचपी ने भारतीय बाजार में एचपी 439 नाम से नया लैपटॉप लांच किया है।

नए लैपटॉप में इंटल का पेंटियम ड्यूल कोर प्रोसेसर दिया गया है। कंपनी के अनुसार नए लैपटॉप का अंतराष्‍ट्रीय मानकों के अनुसार बनाया गया है जो यूजर को बेहतर परफार्मेंस देता है। लैपटॉप में इंटल के हाईडेफिनेशन ग्राफिक कार्ड के साथ हाईरेज्‍यूलूशन सपोर्ट दिया गया है जिससे हाई डेफिनेशन गेम भी 430 में आराम से रन करते हैं। मूवी और वीडियों दखने के लिए एचपी 430 में 14 इंच स्‍क्रीन दी गई है जो 1366 x 768 रेज्‍यूलूशन को सपोर्ट करती है।

डिवाइस में 8 जीबी की शानदार रैम दी गई है जिससे कई एप्‍लीकेशन एक साथ आराम से रन करती है वा भी बिना किसी हैंगिंग प्रॉब्‍लम के, अगर आप चैटिंग करना चाहते है तो 430 में 0.3 मेगापिक्‍सल का वेब कैम दिया गया है। वाईफाई और ब्‍लूटथ के फीचरों के अलावा एचपी 430 में कार्डरीडर और माइक्रोफोन भी इनबिल्‍ड है।

फीचरों के मामले में यह अन्‍य लैपटॉप को कड़ा टक्‍कर देगा। लैपटॉप में 6 सेल बैटरी इनबिल्‍ड है, एक बार लैपटॉप को फुल चार्ज करने के बाद आप इसे 4 घंटो तक लगातार प्रयोग कर सकते है फिर चाहें आप मूवी देख रहें हो या फिर अपना कोई जरूरी काम कर रहे हो। लैपटॉप का भार 2.27 किलों है जिसे आप आराम से कैरी कर सकते हैं। तो फिर देर किस बात की ले आइए एचपी का नया 439 लैपटॉप वा भी मात्र 19,999 रूपए के आकर्षक कीमत पर।

एचपी 430 के फीचरों पर एक नजर

  • 14 इंच स्‍क्रीन साइज
  • 1366 x 768 रेज्‍यूलूशन सपोर्ट
  • इंटल का पेंटियम ड्यूलकोर प्रोसेसर
  • 8 जीबी रैम
  • वाईफाई, ब्‍लूटूथ
  • 2.27 किलों भार
  • 6 सेल बैटरी

Please Wait while comments are loading...
आधार धारकों को मोदी सरकार देगी एक लाख कैश, जानें वायरल मैसेज की सच्चाई
आधार धारकों को मोदी सरकार देगी एक लाख कैश, जानें वायरल मैसेज की सच्चाई
मुजफ्फरनगर रेल हादसा: 10 के मारे जाने की खबर, नोट करें हेल्‍पलाइन नंबर
मुजफ्फरनगर रेल हादसा: 10 के मारे जाने की खबर, नोट करें हेल्‍पलाइन नंबर
Opinion Poll

Social Counting