एचपी की हाईक्‍वालिटी अल्‍ट्राबुक 13-1008tu

Posted By:

एचपी की हाईक्‍वालिटी अल्‍ट्राबुक 13-1008tu

 

दुनिया की सबसे बड़ी पीसी निमार्ता कंपनी एचपी अपने हाईक्‍वालिट उत्‍पादों के लिए जानी जाती है खासकर लैपटॉप के मामले में एचपी ने पूरी दुनिया के पीसी बाजार में अपना कब्‍जा जमा रखा है। हाल ही में एचपी ने बाजार में एक नया लैपटॉप लांच किया है।

फोलियो 13-1008tu अल्‍ट्राबुक को कंपनी ने यजरों की जरूरतों को ध्‍यान में रखकर लांच किया है, फिलहाल बाजार में अल्‍ट्राबुक की कीमत थोड़ी अधिक है जिसकी वजह से अभी लोगों के बीच इसकी मांग ज्‍यादा नहीं है मगर भविष्‍य में अल्‍ट्राबुक का क्रेज और बढ़ेगा।

एचपी फोलियो 13-1008tu अल्‍ट्राबुक एक मिड लेवल का लैप्‍टॉप है, तकनीकी रूप से फोलिया 13-1008tu में इंटल का कोर आई 5 प्रोसेसर दिया गया है जो 4जी रैम के साथ फास्‍ट परफार्मेंस प्रोवाइड करता है। आइए एक नजर डालते है एचपी की नई फोलियो 13-1008tu  अल्‍ट्राबुक के फीचरों पर

खूबी

  • 4 जीबी रैम के साथ 1.6 गीगाहर्ट का इंटल कोर सेकेंड जेल प्रोसेसर

  •  इंटल का हाईडेफिनेशन ग्राफिक कार्ड

  • 128 जीबी की सॉलिड स्‍टेट ड्राइव

  • 13.3 इंच की लिड गलॉस स्‍क्रीन

  • 1366 x 768  रेज्‍यूलूशन स्‍क्रीन सपोर्ट

  • 18 एमएम मोटा और 1.5 किलो भार

  • गीगाबिट इथरनेट पोर्ट

  • एचडीएमआईपोर्ट

  • 3.0 और 2.0 पोर्ट

  • 802.11 b/g/n वाईफाई कनेक्‍टीविटी

  • स्‍मूद टच पैड
कमी
  • काफी कम स्‍टोरेज मैमोरी

  • यूएसबी पोर्ट की कम संख्‍या

  • लो जीपीयू मैमोरी
एचपी फोलियो 13-1008tu अल्‍ट्राबुक में 4 जीबी की डीडीआर 3 रैम दी गई है। अल्‍ट्राबुक में सबसे खासबात है इसकी बूटिंग स्‍पीड जो अन्‍य लैपटॉप से काफी तेज है। अगर ग्राफिक सपोर्ट की बात की जाए तो अल्‍ट्राबुक में इंटल का हाईडेफिनेशन 3000 ग्राफिक एसलेटर कार्ड इनबिल्‍ड है जो हाईडेफिनेशन वीडियो और गेम को सपोर्ट करता है। कंपनी के अनुसार फोलियों 13-1008tu अल्‍ट्राबुक बाजार में 75,000 रूपए की अनुमानित कीमत में जल्‍द उपलब्‍ध हो जाएगी।

Please Wait while comments are loading...
सामने आया 50 रुपए के नए नोट का फर्स्‍ट लुक, जानें इसकी खासियत
सामने आया 50 रुपए के नए नोट का फर्स्‍ट लुक, जानें इसकी खासियत
परिजनों ने छुपकर देखी शिक्षक की करतूत, कैसे मासूम को बना रहा था हवस का शिकार...
परिजनों ने छुपकर देखी शिक्षक की करतूत, कैसे मासूम को बना रहा था हवस का शिकार...
Opinion Poll

Social Counting