माइक्रोसॉफ्ट की नजर एक बार फिर याहू पर

By Super
|
माइक्रोसॉफ्ट की नजर एक बार फिर याहू पर
विश्‍व की बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने याहू पर एक बार फिर अपना दांव आजमाने की कोशिश की है। इससे पहले 2008 में माइक्रोसॉफ्ट ने याहू के अधिग्रहण की कोशिश की थी मगर वह कामयाब नहीं हो पाई थी। इस समय याहू और माइक्रोसॉफ्ट दोनों का गूगल से कड़ा मुकाबला चल रहा है। माइक्रोसॉफ्ट ने याहू के बोर्ड को इसके लिए एक चिट्ठी भी लिखी है।

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ स्‍टीव बॉलमर ने इस पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा अगर यह अधिग्रहण हो जाता है तो इससे न सिर्फ कंपनी को फायदा होगा बल्कि याहू के शेयर होल्‍डरो से लेकर कंपनी से जुडे आम लोगों को भी इसका लाभ मिल सकेगा। हालांकि कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि इस बारे में अभी कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है, क्योंकि कंपनी के अंदर इस सौदे को लेकर काफी मतभेद चल रहें हैं। यह सौदा पहले ही हो जाता अगर कंपनी के अंदरूनी मतभेदों को सुलझा लिया जाए।

 

इस सौदे को लेकर कंपनी दो भागों में बंटी हुई नजर आने लगी है जिसमें से यह तरफ के अधिकारियों का कहना है कि वह अपनी प्रतिद्वंद्वी कंपनी याहू हटा देंगे तो दूसरी ओर कुछ अधिकारी इस बात पर जोर दे रहे है कि याहू के कारोबार में पिछले कुछ सालों से कोई भी बढ़ोत्‍तरी नहीं हुई है जिससे इस पर इतनी बड़ी रकम खर्च करना कहां की समझदारी होगी।

फिलहाल इस बारे में याहू, माइक्रोसॉफ्ट और अन्य खरीदार कंपनियों की ओर से कोई आधिकारिक बयान अभी तक नहीं आया है। इससे पहले वर्ष 2008 में भी एक बार माइक्रोसॉफ्ट ने याहू को खरीदने के लिए 47.5 अरब डॉलर की पेशकश की थी जिसामें वह सफल नहीं रही थी

 
Best Mobiles in India

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X