क्‍यों है गूगल नंबर वन सर्च इंजन

Posted By: Staff

क्‍यों है गूगल नंबर वन सर्च इंजन

आप चाहें अपने पीसी में कोई भी आपरेटिंग सिस्‍टम का प्रयोग कर रहें हो मगर जहां सर्च इंजन की बात आती है ज्यादातर लोग गूगल को ही चुनते है आखिर ऐसी क्‍या खास बात है जो गूगल को नम्‍बर वन सर्च इंजन की श्रेणी में रखती है। आइए हम आप को बताते हैं।

यूजर की जरूरतों को ध्‍यान में रखना -
गूगल ने यूजर की जरूरतों को समझा और उसे सर्च अपने सर्च इंजन में एप्‍लाई भी किया जिससे अन्‍य सर्च इंजन के मुकाबले गूगल में ज्‍यादा आसानी से यूजर अपने कंटेंट व अन्‍य चीजें सर्च कर सकता है।

प्राब्‍लम सॉल्‍विंग सर्च इंजन - कोई भी यूजर नेट में अपनी प्राब्‍लम को सॉल्‍व करने के लिए सर्च इंजन का प्रयोग करता है गूगल सर्च इंजन में सभी विषयों से जुड़े कंटेट बड़ी आसानी से मिल जाते हैं। जो कि अन्‍य सर्च इंजन में ढूड़ने में दिक्‍कत होती है।

अन्‍य के मुकाबले काफी तेज है -
अगर हमे किसी विषय से जुड़ी कोई भी जानकारी चाहिए तो अन्‍य सर्च इंजनों के मुकाबले गूगल तेजी से उसका हल खोज लेता है। इसके अलावा गूगल ने क्रोम ब्राउजर भी गूगल सर्च की स्‍पीड को और बढ़ा देता है।

यूजर फ्रेंडली- फोन हो या फिर पीसी जिसे प्रयोग करने में सबसे ज्‍यादा आसानी होगी यूजर उसी को सबसे ज्‍यादा पसंद करेगी। उसी तरह से गूगल सर्च में दिए गए आईकॉन और आसानी से मिलने वाले डायरेक्‍ट इंटरफेस की वजह से लोगों की यह पहली पसंद बना हुआ है।

कुछ रोचक तथ्‍य

  • गुगल में 1 ट्रिलियन से अधिक पेज जुड़े हुए हैं जो हर 19 महिनों में दुगने हो जाते है।
  • पूरी दुनिया से करीब 300 मिलियन लोग गूगल और याहू सर्च इंजन का प्रयोग करते हैं।
  • 55 प्रतिशत ऑनलाइन खरीद केवल सर्च के दौरान की जाती है।
  • इंटरनेट में 90 प्रतिशत ट्रैफिक सर्च इंजनों की वजह से आता है।
  • पूरे सर्च का 74.7 प्रतिशत सर्च गूगल एकाउंट सर्च से किया जाता है।

Please Wait while comments are loading...
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
नागालैंड की इन महिलाओं ने दुनिया के सामने पेश की नई मिसाल
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
अगर की ये गलती, तो jio phone के सिक्योरिटी वाले 1500 रुपए 3 साल बाद भी नहीं मिलेंगे वापस
Opinion Poll

Social Counting