इन गेम्स को खेलने से आपके फोन में आ जाएंगे खतरनाक वायरस

    हम सभी को अपने स्मार्टफोन में गेम्स खेलना काफी पसंद होता है। कई लोग अपने स्मार्टफोन का चुनाव भी गेमिंग एक्सपिरियंस देखकर ही करते हैं। हालांकि कई बार कुछ गेम्स हमारे लिए परेशानी का कारण बन जाते हैं। गूगल के मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड में यूजर्स को कई बेनिफिट दिए जाते हैं। हालांकि सिक्योरिटी के मामले में कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

    इन गेम्स को खेलने से आपके फोन में आ जाएंगे खतरनाक वायरस

     

    हमें अकसर ऐसी खबर सुनने को मिलती हैं जब एंड्रॉयड स्मार्टफोन में मालवेयर अटैक का पता चला है। एक सिक्योरिटी रिसर्च में सामने आया है कि लगभग पांच लाख एंड्रॉयड डिवाइस मालवेयर अटैक से प्रभावित हो सकते हैं। वहीं, ESET के सिक्योरिटी रिसर्चर Lukas Stefano कुछ ऐसे 13 गेमिंग ऐप्स के बारें में बताया है जो स्मार्टफोन में मालवेयर अटैक बढ़ा रहे हैं।

    कौन से हैं मालवेयर अटैक वाले गेमिंग ऐप्स

    Stefanko द्वारा पेश की गई रिपोर्ट से पता चलता है कि सभी ऐप्स को एक ही डेवलपर द्वारा तैयार किया गया है। साथ ही यह सभी ऐप्स प्लेस्टोर पर डाउनलोड के लिए आसानी से उपलब्ध है। इसके अलावा इन ऐप्स में से दो ऐप्स स्टोर पर ट्रेंडिंग हैं, जो यूजर्स का ध्यान अपनी और अधिक खींचते हैं। रिसर्चर के मुताबिक इन ऐप्स का कंबाइन इंस्टॉल बेस 5,80,000 है।

    Alert: स्मार्टफोन पर आया VIRUS, ये लक्षण दिखें तो हो जाएं सावधान

    लोग इन ऐप्स को ट्रक या कार ड्राइविंग गेम्स समझ कर डाउनलोड कर देते हैं। लेकिन यह एक बगी ऐप है, जो हर बार ओपन करने में क्रैश हो जाता है। ऐसा पहले भी कई बार हो चुका है जिसमें किसी मैलवेयर को अथॉन्टिकेट एप्लिकेशन के जरिए फैलाया जा रहा हों।

    English summary
    A security research has revealed that nearly half a million Android devices may be affected by malware attacks. At the same time, ESET's security researcher Lukas Stefano has stated some 13 gaming apps that are increasing the malware attack on smartphones. Let us give you information about it.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more