स्‍मार्टफोन स्‍क्रीन से कैसे बचाएं अपनी आंखें ?

Written By:

    हम में से कई लोग दिन का अधिकतर समय डिजीटल स्‍क्रीन के सामने बैठकर बिता देते हैं जिसका दुष्‍प्रभाव हमारी आंखों पर सबसे ज्‍यादा पड़ता है। टीवी, लैपटॉप, कम्‍प्‍यूटर और मोबाइल, हरेक डिवाइस में से किरणों निकलती हैं जो आंखों को नुकसान पहुँचाती है और उन पर ध्‍यान लगाने से आंखों पर तनाव पड़ता है।

    लिनोवो पी 780, 4000 एमएएच बैटरी वाला स्‍मार्टफोन

    खासकर बच्‍चों की आंखों पर ज्‍यादा जोर पड़ता है और कम उम्र में ही उन्‍हें चश्‍मा लगाना पड़ता है। अगर आप डिवाइस के इस्‍तेमाल के कारण होने वाले आंखों के तनाव से बचना चाहते हैं तो निम्‍न टिप्‍स को ध्‍यान में रखें।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    टिप 1.

    ब्राइटनेस को एडजेस्‍ट करे लें।

    अपनी डिवाइस की ब्राइटनेस को सेटिंग में जाकर एडजस्‍ट कर लें। इससे आंखों पर जोर कम पड़ेगा। दिन और रात के हिसाब से भी सेटिंग की जा सकती है।

     

    टिप 2.

    दूरी बनाएं

    अपनी डिवाइस को बिल्‍कुल आंखों के पास न रखें। आंखों से दूरी बनाकर ही उनका इस्‍तेमाल करें, इससे आंखें सुरक्षित रहेगी।

     

    टिप 3.

    20-20-20 रूल

    काम करने के 20 मिनट बाद खुद को रेस्‍ट दें। आंखों को स्‍क्रीन से हटाकर कहीं और ध्‍यान लगाएं। आंखों पर पानी के छींटें मार लें।

     

    टिप 4.

    आंखों को झपकाएं

    समय-समय पर आप आंखों को झपकाते रहें। इससे आंखों में नमी बनी रहती हैं और दर्द भी नहीं होता है।

     

    टिप 5.

    रीडिंग ग्‍लास या प्रोटेक्टिव कोटिंग लगाएं

    आप एंटी लेयर लगवा लें जिससे आंखों को नुकसान न हों या फिर रीडिंग ग्‍लास बनवा लें। इससे आंखों पर तनाव नहीं होगा।

     


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    Many of us know, that sitting close to the digital screen will have worst effects our eyes. That's why our parents probably told us not to sit too close to the television. As the technology tends to grow, the digital screen varieties also expanding.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more