एंड्राइड स्मार्टफोन की सात बढ़ी प्रॉब्लम और उनके सोल्यूशन..!

Written By:

स्मार्टफोन आज सभी की जरुरत बन चुके हैं। अधिकतर लोग एंड्राइड फोन का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि एंड्राइड फोन विश्वसनीय होते हैं व साथ ही मालवेयर से सुरक्षा देते हैं लेकिन उसके बावजूद कई बार एंड्राइड फोन यूजर्स को अपने फोन में कुछ परेशानियां झेलनी पढ़ती हैं।

फ़ोन का यूनीक आईएमईआई नंबर पता करना है बेहद आसान..!

फोन का हैंग होना, बैटरी का जल्द ही कम होना व कनेक्टिविटी की समस्या व अन्य कई। ये कुछ समस्याएं हैं जिनसे लगभग हर एंड्राइड यूजर गुजरता है। लेकिन अब परेशान होने की जरुरत नहीं है। क्योंकि अब इन समस्याओं का हल भी यूजर खुद ही निकाल सकते हैं। इसके लिए आपको नीचे स्लाइडर में दिए कुछ सिंपल से स्टेप फॉलो करने होंगे-

फेसबुक पर पोस्ट लाइक करने पर इस शख्स को हो सकती है 32 साल की जेल..!

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

एंड्राइड फोन की समस्याएं व उनके समाधान..!

एंड्राइड फ़ोन यूजर्स की अक्सर एक शिकायत होती है और वो है बैटरी की। एंड्राइड स्मार्टफोन की बैटरी जल्द ही कम हो जाती है। इसके लिए आपको फोन को पावर सेविंग मोड में रखें। जब बैटरी खत्म हो रही हो, तब कुछ ऐप्स को शटडाउन किया जा सकता है। अगर पावर सेविंग मोड खोजने में दिक्कत हो, तो जूस डिफेंडर ऐप ट्राई कर सकते हैं।

एंड्राइड फोन की समस्याएं व उनके समाधान..!

एंड्राइड फोन जितना पुराना होता है उतनी ही मेमोरी की प्रॉब्लम भी बढ़ती जाती है। ऐसे फोन भी हैंग होने लगता है। इस समस्या के समाधान के लिए फोन की सेटिंग में जांए उसके बाद स्टोरेज का विकल्प चुनें। यहां जाकर कैश मैमोरी क्लियर कर दें। यदि अब भी फोन स्लो है तो एक बार फोन को फैक्ट्री रिसेट कर दें।

एंड्राइड फोन की समस्याएं व उनके समाधान..!

एंडराॅयड फोन में कई यूजर्स की शिकायत होती है कि उनके फोन में गूगल प्ले स्टोर से एप्लिकेशन डाउनलोड नहीं हो रही। इसके लिए सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर में जाएं और वहां स्क्रीन को बाएं से दाएं स्वाइप करें। यहां आपको सेटिंग बटन दिखाई देगा उसका चुनाव करें। यहां हिस्ट्री को डीलीट कर दें। इससे शायद आपकी समस्या का समाधान हो जाएगा।

एंड्राइड फोन की समस्याएं व उनके समाधान..!

एंड्राइड फोन में कई बार गूगल प्ले स्टोर ओपन होते ही क्रेश हो जाता है। लेकिन अगर यह समस्या ज्यादा होने लगे तो फोन की सेटिंग > एप्स > ऑल एप्स । यहां गूगल प्ले स्टोर का चुनाव करें और इसमें जाकर कैश डाटा को डीलीट कर दें।

एंड्राइड फोन की समस्याएं व उनके समाधान..!

अपनी प्राइवेसी को ध्यान में रखते हुए अक्सर यूजर्स पासवर्ड आदि का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन कई बार यूजर पासवर्ड भूल जाते हैं। ऐसे में एक ही समाधान बचता है हार्ड रिसेट का। हालांकि इससे फोन में उपलब्ध डाटा नष्ट हो जाएगा। यदि फोन में कार्ड का उपयोग कर रहे हैं तो कार्ड निकाल कर उसे हार्ड रिसेट करें। हार्ड रिसेट करने के लिए सबसे पहले फोन को ऑफ करें और फिर पावर और वॉल्यूम डाउन बटन को कुछ देर तक प्रेस करके रखें। आपको हार्ड रिसेट का विकल्प मिल जाएगा।

एंड्राइड फोन की समस्याएं व उनके समाधान..!

फोन में कई बार समस्या होती है कि वह कंप्यूटर या लैपटॉप से कनेक्ट नहीं होते। ऐसे में जब आप फोन को कंप्यूटर या लैपटाॅप से कनेक्ट करते हैं तो सबसे पहले नोटिफिकेशन में यह देख लें कि आपका फोन मीडिया डिवाइस (एमटीपी) पर हो। यदि इसके बाद भी कनेक्ट नहीं हो रहा है तो सेटिंग > अबाउट फोन का चुनाव करें। यहां आपको बिल्ड नंबर दिखाई देगा। इसे कुछ देर तक लगातार प्रेस करते रहें। इसके साथ ही, यह दिखाएगा कि आपके फोन में डेवलपर्स आॅप्शन आॅन है। अब फिर से सेटिंग में आएं और यहां से डेवलपर्स आॅप्शन का चुनाव करें। इसमें डीबगिंग का आॅप्शन दिखाई देगा उसे आॅन कर दें। इसके बाद आपका मोबाइल कंप्यूटर के साथ कनेक्ट हो जाएगा।

एंड्राइड फोन की समस्याएं व उनके समाधान..!

अक्सर फोन का यूजर इंटरफेस कार्य नहीं करता। ऐसे में आप सेटिंग में जाएं और यहां से एप का चुनाव करें। यहां आॅल एप में जाएं और सिस्टम यूआई को चुनाव करें। इसमें आप कैशे मैमोरी को डीलीट करें और एक बार रिस्टार्ट कर दें। अब आपका फोन सही तरीके से कार्य करेगा।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
These days smartphone is a need of everyone. Most people uses android smartphone. Android users faces so many problems in their phone. Here are some common problems and their solution.
Please Wait while comments are loading...
भारत की इस सफाई से चीन को मिली बड़ी राहत
भारत की इस सफाई से चीन को मिली बड़ी राहत
मुजफ्फरनगर रेल हादसा LIVE: 23 की मौत, 65 गंभीर रूप से घायल
मुजफ्फरनगर रेल हादसा LIVE: 23 की मौत, 65 गंभीर रूप से घायल
Opinion Poll

Social Counting