मोबाइल फोन प्रयोग करते समय बरतें ये सावधानियां

Posted By:

मोबाइल फोन रेडियेएशन का मुद्दा काफी पुराना है, मोबाइल फोन उपभोक्‍ताओं की बढती संख्‍या के साथ मोबाइल टावरों की संख्‍या में भी बढ़ोत्‍तरी हो रही है। डब्‍लूएचओं के शोध के मुताबिक मोबाइल सिंग्‍नल द्वारा जो रेडिएशन होता है उससे कैंसर होने का खतरा ज्‍यादा है। ऐसे में आम जनता को इस बारे में ज्‍यादा जानकारी नहीं है।

लेकिन रेडिएशन को लेकर भी दो तरह के मत सामने आ रहे हैं इनमें से कुछ लोगों का कहना है कि मोबाइल से रेडिएशन का कोई खतरा नहीं होता जबकि कुछ जानकार इसे गलत ठहराते हैं। वैसे भारत सरकार ने भी रेडिएशन के खतरे को मानते हुए लोगों को कई तरह हिदायते दी हैं। मोबाइल फोन से रेडिएशन होने पर थकान के साथ नींद आना, काम में ध्‍यान न लगना, कानों में सीटी बजने के अलावा कई तरह के अंदरूनी दिक्‍कते भी होने लगती हैं।

मोबाइल फोन प्रयोग करने से पहले थोड़ा सावधान रहें

  1. अपने बात करने के समय को कम रखें, मतलब आधा घंटे या एक घंटे तक मोबाइल में बात करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।
  2. रेडिएशन के खतरे को कम करने के लिए अगर आपके फोन में सिगनल कम है तो कॉल न करें क्‍योंकि सिगनल कम होने पर मोबाइल फोन से ज्‍यादा रेडिएशन निकलता है।
  3. अगर आप ज्‍यादा देर तक बात करते हैं तो फोन की जगह इयर फोन लगा कर बात करें इससे फोन रेडिएशन दिमाग पर कम असर करता है। अगर आप चाहें तो इयरफोन की जगह जाउड स्‍पीकर पर भी बात कर सकते हैं।
  4. मोबाइल फोन जहां तक हो सके शर्ट की लेफ्ट पॉकेट में न रखें यानी बांयी ओर क्‍योंकि आपका दिल भी उसी तरफ होता है।
  5. अगर आप ध्‍यान से देखें तो हर मोबाइल की एसएआर रेटिंग दी गई होती है रेडिएशन से बचने के लिए आप ऐसे मोबाइल खरीदे जिसमें कम एसआर रेटिंग दी गई हो।
लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

बात करने का समय कम रखें

अपने बात करने के समय को कम रखें, मतलब आधा घंटे या एक घंटे तक मोबाइल में बात करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

कम सिगनल में बात न करें

रेडिएशन के खतरे को कम करने के लिए अगर आपके फोन में सिगनल कम है तो कॉल न करें क्‍योंकि सिगनल कम होने पर मोबाइल फोन से ज्‍यादा रेडिएशन निकलता है।

इयरफोन लगाएं

अगर आप ज्‍यादा देर तक बात करते हैं तो फोन की जगह इयर फोन लगा कर बात करें इससे फोन रेडिएशन दिमाग पर कम असर करता है। अगर आप चाहें तो इयरफोन की जगह जाउड स्‍पीकर पर भी बात कर सकते हैं।

शर्ट की पॉकेट में फोन न रखें

मोबाइल फोन जहां तक हो सके शर्ट की लेफ्ट पॉकेट में न रखें यानी बांयी ओर क्‍योंकि आपका दिल भी उसी तरफ होता है।

रेटिंग देखकर फोन खरीदें

अगर आप ध्‍यान से देखें तो हर मोबाइल की एसएआर रेटिंग दी गई होती है रेडिएशन से बचने के लिए आप ऐसे मोबाइल खरीदे जिसमें कम एसआर रेटिंग दी गई हो।

प्रेगनेंट महिलाएं सेलफोन का प्रयोग न करें

प्रेगनेंट महिलाओं को सेलफोन के प्रयोग से बचना चाहिए क्‍योंकि ये होने वाले बच्‍चें पर बुरा असर डालता है।

लैंडलाइन फोन का प्रयोग करें

अगर आप घर में हैं तो जहां तक हो लैंडलाइन फोन का प्रयोग करें क्‍योंकि लैंडलाइन फोन में रेडिऐशन का कोई खतरा नहीं होता।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
दो मासूमों को लेकर नदी में कूदी मां खुद तैरकर बाहर निकल आई, बच्चों की मौत
दो मासूमों को लेकर नदी में कूदी मां खुद तैरकर बाहर निकल आई, बच्चों की मौत
मेडिकल कॉलेज की 54 छात्राएं करती रहीं जूनियर्स पर एडल्ट अत्याचार, जुर्माना भरेंगी 50-50 हजार
मेडिकल कॉलेज की 54 छात्राएं करती रहीं जूनियर्स पर एडल्ट अत्याचार, जुर्माना भरेंगी 50-50 हजार
Opinion Poll

Social Counting