UFS कार्ड और SD कार्ड में हैं कंफ्यूज, तो यहां जानें अंतर

By Arunima Kumari

    क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है कि यूएफएस (UFS) और एसडी (SD) कार्ड में क्या अंतर है, अगर नहीं तो हम यहां इस दिलचस्प अंतर के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिसके बारे में आपको जरूर पढ़ना चाहिए।

    आजकल हर कोई ज्यादा स्टोरेज के साथ डिवाइस लेने की चाहत रखता है, ताकि कम मेमोरी की वजह से डाटा डिलीट करने की जरूरत ना पड़े।

    चाहे वो फोन हो या हार्ड डिस्क जब आपको यह पता होता है कि नये डाटा सेव करने या कुछ डाउनलोड करने के लिये अपने डिवाइस से कोई आइटम डिलीट करने की जरूरत नहीं पड़ेगी तो निश्चित ही आप राहत महसूस करते हैं।

    UFS कार्ड और SD कार्ड में हैं कंफ्यूज, तो यहां जानें अंतर

     

    यूजर्स की इसी जरूरत के मद्देनजर स्मार्टफोन मेकर्स स्मार्टफोन की स्टोरेज क्षमताओं को बढ़ाने के लिए लगातार काम कर रहे हैं और इसी के तहत लेटेस्ट स्टोरेज UFS(यूनिवर्सल फ्लैश स्टोरेज) को पेश किया गया।

    इसकी बारीकियां जानने से पहले, एसडी कार्ड के इतिहास और इसके विकसित होने के बारे में जानना बेहतर होगा, ताकि UFS के बारे में समझना आसाना होगा।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्<200d>दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    एसडी कार्ड-

    शुरुआत में उद्योग जगत में मेमोरी कार्ड के लिए यूनाइटेड स्टैंडर्ड (मानक) बनाने के लक्ष्य के साथ एसडी एसोसिएशन का गठन हुआ, इसके सदस्यों में लगभग 1000 कंपनियां शामिल थीं।

    एसडी कार्ड टेक्नोलॉजी के लोकप्रिय होने से पहले,कॉम्पैक्ट फ्लैश,मेमोरीस्टिक, मल्टीमीडियाकार्ड और एक्सडी(xD) कार्ड जैसी टेक्नोलॉजी चलन में थीं। मूल एसडी कार्ड मल्टीमीडियाकार्ड (एमएमसी) से विकसित हुआ। एसडी कार्ड में और बदलाव आया है, यह साल 2003 में मिनी-एसडी कार्ड फॉर्मेट और फिर साल 2005 में माइक्रो-एसडी कार्ड फॉर्मेट के रूप में पेश हुआ।

    जबकि एसडी कार्ड एक्सटर्नल मेमोरी कार्ड के लिए मानक बन गये, eMMC (इलेक्ट्रॉनिक मल्टीमीडिया कार्ड) उद्योग भर में इंटरनल स्टोरेज प्रणाली के लिए मानक बन गये। यह सिस्टम एसडी कार्ड के समान एमएमसी (MMC) टेक्नोलॉजी से भी विकसित हुई। लेकिन एसडी कार्ड और ईएमएमसी दोनों हाफ-डुप्लेक्स टेक्नोलॉजी हैं, इसका मतलब है कि वे एक ही समय में स्टोरेज को रीड और राइट नहीं कर सकते हैं, बल्कि एक वक्त में दो में से एक ही काम कर सकते हैं।

     

    यूएफएस कार्ड-

    यूएफएस (UFS) तकनीक फुल-डुप्लेक्स तकनीक है जो एक ही समय में स्टोरेज को डाटा रीड और राइट करने की अनुमति देती है। सैमसंग ने यूएफएस टेक्नोलॉजी को अपने कुछ फोनों के इंटरनल मेमोरी सिस्टम में शामिल किया है और ईएमएमसी से छुटकारा पा लिया है। सैमसंग ने 32, 64, 128 और 256 गीगाबाइट्स के वेरियंट में यूएफएस मेमोरी कार्ड लॉन्च किए।

    तो,चलिये जानें इस सिस्टम के मुख्य फायदे:

    1) तेज़ मेमोरी

    सैमसंग के यूएफएस कार्ड से रीड करने की स्पीड 530 MB/s तक होगी। यह एक एसडी कार्ड की रीड करने की गति से बहुत तेज़ है, एक फुल-एचडी मूवी जिसे एसडी कार्ड पर कॉपी करने में लगभग 50 सेकंड लगते हैं, यूएफएस कार्ड में केवल 10 सेकेंड लगेंगे। राइटिंग स्पीड 170 MB/s तक पहुंच सकती है, जो मौजूदा समय में इस्तेमाल होने वाले माइक्रोएसडी कार्ड से दोगुना फास्ट है।

    2) बैटरी लाइफ

    यूएफएस कार्ड के लिये पावर की जरूरत भी एसडी कार्ड की तुलना में काफी कम है, एक एसडी कार्ड जितने पावर का इस्तेमाल करता है उसके आधे पावर में यूएफएस कार्ड काम कर सकता है।

    3) पोर्टेबल ऐप स्टोरेज

    रिमूवबल एक्सटर्नल मेमोरी और हाई ट्रांसफर स्पीड मूविंग ऐप्स को आसान बनाते हैं और एसडी कार्ड की तुलना में यह अधिक लचीलापन प्रदान करता है।

    निष्कर्ष-

    यूएफएस एक फुल-डुप्लेक्स तकनीक है जबकि एसडी कार्ड हॉफ-डुप्लेक्स। यूएफएस कार्ड में एसडी कार्ड की तुलना में बेहतर स्पीड और बैटरी का बेहतर उपयोग होता है, वहीं एसडी कार्ड विक्रेताओं के बीच अधिक लोकप्रिय और पसंदीदा है। यूएफएस और एसडी कार्ड की पिन कॉन्फिगरेशन भी अलग है। स्पष्ट रूप से यूएफएस कार्ड बेहतर है, लेकिन यह एसडी कार्ड की तरह आसानी से उपलब्ध नहीं है।


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    Have you ever tried learning about the difference between UFS and SD cards? If Not then you must read this interesting differences.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more