स्मार्टफोन में कैसे पहुंचता है वायरस, यहाँ जानें बचने का तरीका

|

डिजिटल दुनिया में सेफ़ रहना काफी बड़ा और मुश्किल काम है। आये दिन लोग ऑनलाइन फ्रॉड, स्कैम इत्यादि के शिकार हो रहे हैं। साथ ही सोशल मीडिया के इस जमाने में हम कई तरह के ऐप्स इंस्टॉल करते हैं जिससे हमारे फोन में वायरस घुस जाता है। और इन्हीं वायरस के कारण हमारे साथ फ्रॉड या स्कैम होते हैं। तो आइए आज हम इसी के बारे में बताएंगे कि आखिर हमारे स्मार्टफोन में वायरस कैसे-कैसे घुसते हैं और हम उनसे कैसे बच सकते हैं।

 
स्मार्टफोन में कैसे पहुंचता है वायरस, यहाँ जानें बचने का तरीका

ऐसे वायरस पहुंचते हैं हमारे स्मार्टफोन में

वायरस घुसने की बात करें तो वायरस कोई बीमारी नहीं है जो छूने से आता है। टेक्नोलॉजी में यह वायरस ऐप्स के साथ आते हैं। जब हम गूगल प्ले स्टोर या किसी अन्य प्लेटफार्म के माध्यम से कोई ऐप को इंस्टॉल करते हैं, तो इसके साथ वायरस भी हमारे फोन में घुस सकते हैं और फिर हमारे साथ स्कैम या फ्रॉड हो सकते हैं। इसके लिए कई बातें हैं जिसकी मदद से हम वायरस से बच सकते हैं।

स्मार्टफोन में वायरस इंस्टॉल होने से कैसे बचें

ऐप सिर्फ गूगल प्ले स्टोर से ही इंस्टॉल करें

एंड्रॉयड यूजर्स को ज्यादातर मोबाइल एप्लीकेशन को Google Play Store के माध्यम से ही इंस्टॉल करना चाहिए क्योंकि प्ले स्टोर पर क्वालिटी वाले ऐप्स मिल सकते हैं। कई अन्य प्लेटफॉर्म भी जहाँ पर ऐप्स मिलते हैं लेकिन उसमें रिस्क होता है और रिव्यू और रेटिंग्स भी नहीं दिया हुआ होता है।

ऐप डाउनलोड करने से पहले गूगल प्ले स्टोर पर रिव्यू और रेटिंग देख ले

Google Play Store पर जब भी आप किसी एप्लीकेशन को इंस्टॉल करने जाते हैं तो सबसे पहले उस ऐप के रिव्यू और रेटिंग्स को जरूर देख लें। अगर ऐप में कुछ गड़बड़ी है तो वहाँ यूजर्स द्वारा जरूर रिव्यू किया हुआ मिल जाएगा। इसके अलावा आपको उस डेवलपर के बारे में भी कुछ और जानकारी जरूर जान लेनी चाहिए इसके बाद ही उस ऐप को इंस्टॉल करें। क्योंकि अगर आप बिना कोई कुछ जाने और पढ़े ऐप को इंस्टॉल करते हैं तो साथ में वायरस घुसने के चांस बहुत ज्यादा होते हैं।

 

परमिशन देते समय ध्यान रखें

कई मोबाइल ऐप्स को डाउनलोड करने के बाद उसको ओपन करने पर कई परमिशन मांगे जाते हैं, तो आपको इसके बारे में थोड़ी सावधानी बरतनी होगी। उदाहरण के तौर पर अगर आप कोई अलार्म एप डाउनलोड करते हैं तो उसे स्मार्टफोन पर तस्वीरें देखने की इजाजत नहीं चाहिए होगी। उसी तरह कैलकुलेटर वाले एप को नेटवर्क एक्सेस की जरूरत बिलकुल नहीं है।

WhatsApp पर मिले APK लिंक से ऐप को इंस्टॉल न करें

व्हाट्सएप पर हमारे कई दोस्त हमें APK लिंक भेजते होंगे और उसको डाउनलोड करने को कहेंगे, तो यह आपके लिए और आपके दोस्त के लिए खतरनाक हो सकता हैं।

स्मार्टफोन में कैसे पहुंचता है वायरस, यहाँ जानें बचने का तरीका

अनजान कंप्युटर से फोन को कनेक्ट न करें

यदि आप किसी अनजान के कम्प्यूटर से अपने स्मार्टफोन को कनेक्ट करते हैं, तो आपके लिए यह मुसीबत हो सकती है क्योंकि अगर उस कंप्यूटर में पहले से वायरस इंस्टॉल्ड होगा, तो वो आपके फोन में भी आ सकता हैं।

पब्लिक वाईफाई बन सकती है मुसीबत

एयरटेल हों या रेलवे स्टेशन, यहां पर आपको फ्री WiFi कनेक्शन मिल जाएगा लेकिन आपको कनेक्ट करने से बचना है क्योंकि इन पर बहुत से हैकर्स की नजर होती है और कनेक्ट करते ही आपके डिवाइस को हैक किया जा सकता है या वायरस से इनफेक्ट हो सकता हैं।

 
Best Mobiles in India

Read more about:
English summary
How Does Virus Infect your Smartphone and Safety Tips in Hindi

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X