कम RAM वाले स्मार्टफोन PUBG खेलने का तरीका

|

इन्टरनेट के दौर में स्मार्टफोन पर गेमिंग का क्रेज बढ़ता जा रहा है। आज कल सबसे ज्यादा अगर कोई गेम चर्चा में है तो वह है PUBG। इस गेम की दीवानगी युवाओं में देखते ही बनती है।हर दुसरा स्मार्टफोन यूजर इस गेम के प्रति रूचि रखता है।कुछ लोग तो महज इस वजह से इस गेम का लुफ्त नहीं उठा पा रहे क्योंकि उनका स्मार्टफोन इस गेम को सपोर्ट नहीं करता है।

कम RAM वाले स्मार्टफोन PUBG खेलने का तरीका

 

इस गेम ने ना केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में बहुत बड़ा प्लेयर बेस बना दिया है।कंपनी ने इस गेम को कई गेमिंग प्लेटफॉर्म में लॉन्च किया है।गेम ने सबसे ज्यादा पॉप्युलेरिटी PC और मोबाइल वर्जन में हासिल की है।गेम इतना फेमस हुआ है कि Tencent Games को इस गेम का लाइट वर्जन भी लॉन्च करना पड़ा, जिससे Low-End डिवाइस वाले यूजर्स भी इस गेम को खेल सके।

हर फोन में खेलें PUBG

दरअसल इस गेम को खेलने के लिए अच्छी खासी रैम की डिमांड रहती है, हर स्मार्टफोन इतना अधिक रैम वाला होता नहीं है जिससे उन यूजर्स को मन मारकर बैठना पड़ता है जो इसे खेलना चाहते है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।अगर आपका स्मार्टफोन कम रैम वाला भी है तो आप इस गेम का भरपूर मजा लाइट वर्जन में उठा सकते हैं हालांकि लाइट वर्जन नॉर्मल वर्जन से थोड़ा अलग है।इसका मैप छोटा है और ग्राफिक्स भी थोड़े लो हैं।लाइट गेम में फीचर्स भी थोड़े कम हैं।ऐसे में कई यूजर्स के लिए अपने Low-End डिवाइस में इस गेम को खेलना थोड़ा मुश्किल हो जाता है.

12 सितंबर से PUBG में हुए नए बदलाव, हथियार और व्हीकल को किया गया अपडेट

ऐसे में कुछ निर्माताओं द्वारा डेवलप किए GFX Tools बहुत काम आते हैं।इन टूल के जरिए आप अपने कम रैम वाले स्मार्टफोन में भी नॉर्मल वर्जन को बेहद आराम से खेल पाएंगे।यह टूल आपके डिवाइस को गेम के अनुसार ऑप्टिमाइज कर आपको बेहतर परफॉर्मेंस और ग्राफिक्स हासिल करने में मदद करते हैं।इनमें से गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद tsoml द्वारा डेवलप की गई 'GFX Tool’ नाम की ऐप एक बेहतरीन परफॉर्मेंस एनहेंसर ऐप है।

 

गेम की परफॉर्मेंस को बढ़ाने के लिए इस ऐप का ऐसे करें इस्तेमाल...

1. गूगल प्ले स्टोर से tsoml के द्वारा डेवलप की गई GFX Tool ऐप को डाउनलोड करें.

2. फिर इंस्टॉल कर ओपन करें।अब आपको इसमें कई सारे आप्शन दिखाई देंगे।आपको इन आप्शन को अपने स्मार्टफोन के मुताबिक चेंज करना है.

3. फिर इंस्टॉल हुए PUBG Mobile गेम का सही वर्जन चुनना है।इसमें GP का मतलब नॉर्मल ग्लोबल वर्जन है।CN का मतलब चाइनीज वर्जन, KR का मतलब कोरिया वर्जन, Beta का मतलब Beta वर्जन और Lite का मतलब PUBG Mobile का लाइट वर्जन है।अगर आप भारत में रहते हैं और आपने गेम को नॉर्मल तरीके से गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया है तो आपको GP चुनना है.

4.अब अगला आप्शन रिजॉल्यूशन है।इसमें सबसे ज्यादा सपोर्टेड रिजॉल्यूशन चुनना है.

5. फिर आपको अपने मुताबिक ग्राफिक्स को चुनना है।'Balanced’ मतलब है कि गेम में ग्राफिक्स और बैटरी का यूज बराबर होगा और HDR का मतलब है कि स्मार्टफोन में मौजूद हार्डवेयर का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल होना। आप जितना ज्यादा अच्छी परफॉर्मेंस चाहेंगे आपका ऐप आपके स्मार्टफोन के हार्डवेयर रिसोर्स को उतना ज्यादा यूज करेगा।

6. अगले आप्शन में FPS आता है, जिसमें आपको अपने मुताबिक FPS को चुनना है।

7.Anti-aliasing आप्शन स्मूथ टेक्सचर के लिए होता है।हम बजट डिवाइस वाले यूजर्स को इसे Disable रखने का सजेशन देंगे।हालांकि High-end डिवाइस वाले यूजर इसमें मौजूद 2X और 4X आप्शन में से अपने मन मुताबिक कोई भी आप्शन चुन सकते हैं।जितना ज्यादा Anti-aliasing होत हैं, टेक्सचर उतना स्मूथ आता है.

8. स्टाइल और शैडो को आप अपने मन मुताबिक चुन सकते हैं।यह केवल लुक में हल्का बदलाव करता है।

9.फिरआप गेम को 'Accept’ पर क्लिक सेटिंग कर सेव कर सकते हैं और उसके बाद 'Run Game’ पर क्लिक कर गेम को चला सकते हैं।

Best Mobiles in India

English summary
Nowadays the most discussed game is PUBG. The passion of this game is made by watching the youth. Every other smartphone user is interested in this game. People do not play this game due to this because their smartphone does not support this game. Let us tell you how to play PUBG in a low-RAM smartphone.

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more