हैडफोन खरीदते समय क्या आप सोचते हैं ये बातें ?

|

आज-कल का वातावरण बड़ा शोर-शराबा वाला हो गया है। इस शोर-शराबे वाले वातावरण में अपने आप को शांत माहौल में रखना एक बड़ी चुनौती है। इस शोर से दूर रहने के लिए लोग हेडफोन का इस्तेमाल करते हैं। आजकल ज्यादातर लोग हेडफोन का इस्तेमाल करके वातावरण के शोर-शराबे से दूर रहना चाहते हैं।

इसी वजह से बाजार में भी बहुत सारे हेडफोन मौजूद हैं। हम जब हेडफोन खरीदने बाजार जाते हैं, तो कंफ्यूज हो जाते हैं कि कौन सा हेडफोन हमारे लिए बेहतर होगा। ऐसे में यह एक बड़ा सवाल है कि वातावरण के शोर-शराबे से बचने के लिए हम किस तरह का और कौन सा हेडफोन इस्तेमाल करें।

हैडफोन खरीदते समय क्या आप सोचते हैं ये बातें ?

 

इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे किशोर सतावे से बचने के लिए कौन सा हेडफोन आपके लिए बेहतर होगा। आप को किस तरह का हेडफोन अपने लिए चुना चाहिए।

हेडफोन लेते वक्त इन बातों का रखें ख्याल-

हेडफोन लेते वक्त इन बातों का रखें ख्याल-

मार्केट में दो तरह के हेडफोन उपलब्ध होते हैं। एक फुल साइज हेडफोन होता है और दूसरा ईयर फिटिंग हेड कौन होता है। अब आपको सबसे पहले यह जानना जरूरी होगा कि आपको हेडफोन किस काम के लिए चाहिए।

क्यों लेना चाहते हैं हेडफोन-

क्यों लेना चाहते हैं हेडफोन-

अगर आपको म्यूजिक सुनने के लिए हेडफोन चाहिए तो आप फुल साइज हेडफोन सुन सकते हैं। इसी तरह अगर आप वातावरण के शोर-शराबे से बचने और फोन पर किसी से बात करने के लिए हेडफोन खरीद रहे तो आपके लिए इन-ईयर यानी ईयरफिटिंग हेडफोन बेस्ट रहेगा। इसके अलावा हेडफोन लेते वक्त आपको हेडफोन के मेटेरियल पर भी ध्यान रखना चाहिए कि वो किन-किन मेटेरियल से बनाया गया है।

फ्रीक्वेंसी रेंज-
 

फ्रीक्वेंसी रेंज-

एक आम इंसान को 20 MzH से 20000 MzH तक का साउंड सुनने की क्षमता होती है। ऐसे में आपको देखना होगा कि क्या आपका हेडफोन इस फ्रीक्वेंसी रेंज में आता है या नहीं। फिर भी अगर आप डीप बेस वाला साउंड चाहते हैं तो आपको 20 MzH से कम वाला हेडफोन खरीदना पड़ेगा। खास तौर पर आप इस बात का ख्याल जरूर रखें कि आप जिस हेडफोन को खरीद रहे हैं, उसका फ्रीक्वेंसी रेंज 20000 MzH से ज्यादा ना हो। क्योंकि इससे आपको तकलीफ हो सकती है।

4GB रैम और 4000mAh की बैटरी, कीमत 11 हजार रु के अंदर
इंपीडेंस-

इंपीडेंस-

हेडफोन के इंपीडेंस पर भी ध्यान देना जरूरी होता। एक हेडफोन में आपके फोन से आने वाली करेंट के माप को इंपीडेंस कहते हैं। कम इंपीडेंस होने पर आप सेम इंलेक्ट्रीक करेंट में ज्यादा व्यूयम सुनते हैं। अगर आप अपने स्मार्टफोन और लैपटॉप पर इस्तेमाल के लिए हेडफोन खरीद रहे हैं तो आपको कम इंपीडेंस वाला हेडफोन खरीदना चाहिए।

मैगनेट टाइप-

मैगनेट टाइप-

फेराइट और नियोडियमियम दो सबसे आम प्रकार के मैगनेट हैं। जो निर्माता हेडफ़ोन का उपयोग करते हैं। अगर आपके पास विकल्प हैं तो नियोडियमियम मैगनेट के लिए जाएं। एक हेडफोन को खरीदते वक्त आप इन सभी बातों का जरूर ख्याल रखें।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
Planning to buy a new headphone? This might help you make the purchase decision.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X