फोन की बैटरी लो है..? अपनाएं ये 6 उपाय और सेव करें बैटरी

Posted By:

आजकल सभी स्मार्टफोन का इस्तेमाल करता है। और करे भी क्यों नहीं, इसमें इतने अच्छे फीचर्स जो हैं। लेकिन इतना ही काफी नहीं इन सब के बाद भी एक परेशानी जरुर है और वो है बैटरी के ख़त्म होने की। हम अक्सर घर से बाहर होते हैं। कभी ट्रेवलिंग में तो कभी किसी दूसरे काम में व्यस्त। ऐसे में फ़ोन को चार्ज कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है।

तो जानिए फ़ोन की बैटरी को सेव करने के ये ख़ास तरीके

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

1

अगर आपके फोन में बैटरी पॉवर कम है तो भूल कर भी ब्‍लूटूथ या फिर वाईफाई का प्रयोग न करें। क्‍योंकि वाईफाई और ब्‍लूटूथ जैसे फीचर काफी बैटरी बैकप लेते हैं फिर चाहे आप इन्‍हें प्रयोग करें या न करें। साथ में 3जी की जगह 2जी का प्रयोग करें क्‍योंकि 3जी फास्‍ट कनेक्‍टीविटी की वजह ज्‍यादा बैटरी बैकप लेता है।

2

सबसे पहले अपने स्‍मार्टफोन में कौन सी पॉवर सेटिंग सलेक्‍ट है उसे जांच लें इसके लिए फोन में दिए (Settings » About phone » Battery use) गए सेटिंग ऑप्‍शन में जाकर एबाउट फोन पर क्लिक करें और बैटरी यूज ऑप्‍शन चूनें यहां पर आपको पता चल जाएगा कि कहा पर आपकी सबसे जयादा बैटरी कंज्‍यूम हो रही है।

3

अगर आपको लगता है कि आपके फोन को ज्‍यादा पॉवर की जरूरत पड़ती है या फिर ट्रैवलिंग करते समय अक्‍सर फोन का बैटरी बैकप खत्‍म हो जाता है। तो इसके लिए अपने बैगपैक में एक पॉवर सोर्स लेकर चलना बेहद जरूरी है। जैसे पॉवर इंवर्टर, पॉवर इनवर्टर की मदद से आप अपनी कार की बैटरी से अपना फोन चार्ज कर सकते हैं जैसे हमारे घर में लगा इनर्वटर बैटरी की डीसी पॉवर को एसी पॉवर में कनर्वट कर देता है वैसे ही पॉकेट पॉवर इनवर्टर कार की बैटरी पॉवर को ऐसी पॉवर में कनर्वट कर मोबाइल के अलावा दूसरी चीजें भी चार्ज कर सकता है।

4

ज्‍यादातर एंड्रॉएड फोन में 2जी और 3जी दोनों की सुविधा मौजूद रहती है। लेकिन 2जी सर्विस के मुकाबले 3जी सर्विस ज्‍यादा पॉवर कंज्‍यूम करती है। इसलिए अगर आपको ज्‍यादा फास्‍ट इंटरनेट नहीं चाहिए तो 3जी की जगह 2जी में प्रयोग करें इसके लिए सबसे पहले सेटिंग में जाकर 3जी नेटर्वक की जगह 2जी नेटर्वक सलेक्‍ट कर लें। साथ ही फोन में वॉयरलैस कनेक्‍टीविटी को जरूरत न पड़ने पर ऑफ रखें। जैसे ब्‍लूटूथ, वाईफाई, ऐज

5

स्‍मार्टफोन की स्‍क्रीन में दी गई ब्राइटनेस कम रखें क्‍योंकि टच स्‍क्रीन और बड़ा साइज होने की वजह से सबसे ज्‍यादा पॉवर स्‍क्रीन में ही लगती है। हालाकि साधारण टच स्‍क्रीन के मुकाबले एमोल्‍ड स्‍क्रीन में कम पॉवर कंज्‍यूम होता है।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Read more about:
English summary
If you are out and your phone battery is low. save your android phone battery by using these tips.
Please Wait while comments are loading...
आज हड़ताल पर देशभर के बैंक, सिर्फ इन बैंकों में होगा काम
आज हड़ताल पर देशभर के बैंक, सिर्फ इन बैंकों में होगा काम
हीरोइन बनाने की बात कह लड़कियों को बुला लेता, फिर शुरू होता गंदा खेल
हीरोइन बनाने की बात कह लड़कियों को बुला लेता, फिर शुरू होता गंदा खेल
Opinion Poll

Social Counting