ब्‍लैकबेरी का स्‍टाइलिश फोन है कर्व 9380

Posted By: Staff

ब्‍लैकबेरी का स्‍टाइलिश फोन है कर्व 9380

कनाडाई कंपनी रिसर्च इन मोशन का ब्‍लैकबेरी कर्व 9380 स्‍मार्टफोन कंपनी के सबसे शानदार फोनों में से एक है। कर्व की डिजाइन और फीचर तो देखते ही बनते हैं। कर्व की बॉडी में ब्‍लैक कलर पैनल के साथ स्‍मूद फिनिशिंग दी गई है। कर्व में 3.25 इंच की स्‍क्रीन के साथ फुल टच सुविधा दी गई है, स्‍क्रीन 360*480 पिक्‍सल का रेज्‍यूलूशन सपोर्ट करती है जिसकी वजह से फोन में शानदार क्‍वालिटी के वीडियो और पिक्‍चर आप देख सकते हैं।

फोन में अच्‍छी परफार्मेंस के लिए ब्‍लैकबेरी 7 आपरेटिंग सिस्‍टम दिया गया है जो 800 मेगाहर्ट के सिंगल कोर प्रोसेसर पर रन करता है। इसके अलावा फोन में डिजिटल कंपास, प्रॉक्‍सीमिटी सेंसर जैसे कई फीचर दिए गए हैं। कर्व में इनबिल्‍ड कैमरा क्‍वलिटी भी अच्‍छी है फोन में दिया गया 5 मेगापिक्‍सल का कैमरा 2592*1944 रेज्‍यूलूशन को सपोर्ट करता है जिसमें डिजिटल जूम की मदद से आप दूर की फोटो भी खींच सकते हैं। वीडियो रिकार्डिंग के दौरान कर्व 720 पिक्‍सल सर्पोट करता है।

कर्व में दी गई इंटरनल मैमोरी कैपेसिंटी 1 जीबी है जो थोड़ी कम है, 512 एमबी रैम के साथ आप कर्व में मौमोरी को एक्‍पेंड भी कर सकते है इसके लिए माइक्रो एसडी कार्ड स्‍लॉट ऑप्‍शन दिया गया है। 3.5 एमएम का जैक अन्‍य स्‍मार्टफोन के मुकाबले बेहतर कनेक्‍टीविटी प्रोवाइड करता है। इसके अलावा कर्व 9380 में जीपीआरएस, यूएसबी पोर्ट, माइक्रोएसडी कार्ड, 3जी और नियर फील्‍ड तकनीकी दी गई है जो इसे बेहतर स्‍मार्टफोन बनाती है।

ब्‍लैकबेरी कर्व 9380 के फीचरों पर एक नजर

  • 3.25 इंच की स्‍क्रीन
  • 360*480 पिक्‍सल का रेज्‍यूलूशन सपोर्ट
  • 5 मेगापिक्‍सल कैमरा
  • 7 आपरेटिंग सिस्‍टम
  • 800 मेगाहर्ट के सिंगल कोर प्रोसेसर
  • 512 एमबी रैम
  • 3.5 एमएम का जैक
  • 3जी, वाईफाई, ब्‍लूटूथ

Please Wait while comments are loading...
मैदान पर लौटते ही बांग्लादेश पर टूटा डिविलियर्स का कहर, 'दोहरा शतक' लगाकर बनाए कई रिकॉर्ड
मैदान पर लौटते ही बांग्लादेश पर टूटा डिविलियर्स का कहर, 'दोहरा शतक' लगाकर बनाए कई रिकॉर्ड
प्रकाश राज के बाद एक और बड़े अभिनेता ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कहा- नोटबंदी की गलती करें स्वीकार
प्रकाश राज के बाद एक और बड़े अभिनेता ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कहा- नोटबंदी की गलती करें स्वीकार
Opinion Poll

Social Counting