मोटो जी या फिर माइक्रोमैक्‍स कैनवास टर्बो मिनी A200, कौन फिट बैठेगा आपकी पॉकेट में

Posted By:

एंड्रायड बेस्‍ट डिवाइसों की बात करें तो भारतीय बाजार में ढेर लगा हुआ है स्‍मार्टफोन, टैबलेट, फैबलेट और अब तो स्‍मार्टवॉच भी आ चुकी हैं। लेकिन सभी में एक चीज समान है ये एंड्रायड प्‍लेटफार्म पर रन करते हैं। आईओएस, ब्‍लैकबेरी ओएस के मुकाबले एंड्रायड ओएस पर रन करने वाले स्‍मार्टफोन की कीमत कई गुना कम है।

यहां तक 15,000 रुपए में आप बाजार में एक अच्‍छा एंड्रायड स्‍मार्टफोन खरीद सकते हैं। 20,000 के मुकाबले भारतीय उपभोक्‍ताओं को 15,000 रुपए का स्‍मार्टफोन लेने में ज्‍यादा आसानी होती है इसी वजह से से इस रेंज के स्‍मार्टफोन के कई मॉडल भारत में उपलब्‍ध है।

पढ़ें: सैमसंग और नोकिया की बत्‍ती गुल, गूगल ने लांच किया 12,499 रुपए में मोटो जी

आज मोटोरोला ने भी अपना मोटो जी भारत में लांच कर दिया है जिसकी कीमत 12,499 रुपए है, मोटो जी के आने के बाद कई कंपनियों के लिए एक नई मुसीबत खड़ी हो गई है। सबसे पहली मोटोरोला ने जिस प्राइज में मोटो जी को उतारा है फीचर के मुकाबले इससे बेहतर कोई स्‍मार्टफोन फिलहाल मार्केट में कोई नहीं हैं।

खासकर माइक्रोमैक्‍स इस रेंज का सबसे बड़ा खिलाड़ी माना जाता है। माइक्रोमैक्‍स ने हाल ही में कैनवास टर्बो मिनी ए200 एंड्रायड जैलीबीन के साथ बाजार में उतारा था लेकिन मोटो जी में किटकैट अपडेट की वजह से कैनवास मिनी का ओएस इसका मुकाबला नही कर सकता है। आईए जानते हैं मोटोरोला मोटो जी और माइक्रोमैक्‍स कैनवास टर्बो मिनी ए200 के बारे में कुछ और बातें।

पढ़ें: सस्‍ते में अच्छा फैबलेट चाहिए तो नजर डालिए इन 10 शानदार डिवाइसेस पर

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

ऑपरेटिंग सिस्‍टम के मामले में दोनों डिवाइसेस एंड्रायड जैलीबीन ओएस पर रन करती है, माइक्रोमैक्‍स कैनवास टर्बो मिनी ए 200 में एंड्रायड का 4.2.2 जैलीबीन ओएस दिया गया है जबकि मोटो जी में एंड्रायड का 4.3 जैलीबीन ओएस दिया गया है जिसमें 4.4 किट कैट अपग्रेड किया जा सकता है।

मोटो जी में 5 मेगापिक्‍सल का फ्रंट स्‍पोर्ट कैमरा दिया गया है जो 2592х1944 रेज्‍यूलूशन सपोर्ट करता है साथ में ऑटो फोकस लिड फ्लैश और 1.3 मेगापिक्‍सल का सेकेंडरी कैमरा लगा हुआ है जिससे वीडियो चैटिंग की जा सकती है। वहीं दूसरी ओंर कैनवास टर्बो मिनी में 8 मेगापिक्‍सल का प्राइमरी कैमरा लगा हुआ है साथ लिड फ्लैश और ऑटो फोकस, 5 मेगापिक्‍सल का सेकेंडरी कैमरा लगा हुआ है, कैमरे के मामले में माइक्रोमैक्‍स का कैनवास टर्बो मिनी ज्‍यादा पॉवरफुल है।

मोटो जी में 4.5 इंच की आईपीएस एलसीडी कैपेसिटिव टच स्‍क्रीन दी गई है जो 720 x 1280 पिक्‍सल रेज्‍यूलूशन सपोर्ट करती है। कैनवास टर्बो मिनी ए 200 में 4.69 इंच की आईपीएस स्‍क्रीन दी गई है जो 1280 x 720 पिक्‍सल सपोर्ट करती है।

पॉवर के मामले में दोनों डिवाइसेस एक दूसरे से कम ज्‍यादा है। मोटो जी में 1.2 गीगाहर्ट का क्‍वॉड कोर कार्टेक्‍स ए7 प्रोसेसर दिया गया है साथ में क्‍वॉलकॉम स्‍नैपड्रैगन 400 चिपसेट लगी हुई है। वहीं माइक्रोमैक्‍स कैनवास टर्बो मिनी में 1.3 गीगाहर्ट का क्‍वॉड कोर प्रोसेसर दिया गया है।

मोटो जी में 1 जीबी कर रैम दी गई साथ में 8 जीबी और 16 जीबी के दो मैमोरी ऑप्‍शन दिए गए हैं। लेकिन डिवाइसेस में मैमोरी एक्‍पेंड करने का कोई ऑप्‍शन नहीं दिया गया है। कैनवास टर्बो में 1 जीबी रैम के साथ 4 जीबी इंटरनल मैमोरी दी गई है। माइक्रोमैक्‍स कैनवास टर्बो मिनी में माइक्रोएसडी कार्ड स्‍लॉट की मदद से 32 जीबी तक मैमोरी एक्‍पेंड कर सकते हैं।

दोनों स्‍मार्टफोन के फीचर और दूसरी कई चीजों को देखने के बाद ये कह सकते हैं माइक्रोमैक्‍स के कैनवास मिनी टर्बो में पॉवरफुल कैमरा सपोर्ट दिया गया है जो मोटो जी में नहीं है इसके अलावा, टर्बो में मोटो जी के मुकाबले ज्‍यादा फास्‍ट प्रोसेसिंग पॉवर दी गई है जबकि मोटो जी की कीमत और किट कैट अपडेट इसे मार्केट में बेहतरीन स्‍मार्टफोन बनाता है। कुल मिलाकर देखा जाए तो मार्केट में मोटो जी और कैनवास टर्बो मिनी में कांटे की टक्‍कर होगी।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्‍या कहते हैं, इस सवाल पर गुस्‍सा गए अरुण जेटली
बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्‍या कहते हैं, इस सवाल पर गुस्‍सा गए अरुण जेटली
JNU में भी मां दुर्गा को कहा गया था 'सेक्स वर्कर', जिसने हनीमून मनाने के बाद महिषासुर को मारा था
JNU में भी मां दुर्गा को कहा गया था 'सेक्स वर्कर', जिसने हनीमून मनाने के बाद महिषासुर को मारा था
Opinion Poll

Social Counting