OnePlus: स्टार्टअप से टॉप स्टैंडर्ड तक का सुनहरा सफर

Written By:

    स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों के लिए भारत एक बड़ा अवसरों वाला देश है। भारत इस वक्त दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्मार्टफोन बेचने बनने वाला है। इस वक्त चीन दुनिया का सबसे बड़ा स्मार्टफोन बेचने वाला देश है। जिसके बाद दूसरा नंबर अमेरिका का आता है लेकिन भारत बहुच जल्द अमेरिका को पछाड़ कर चीन के बाद दूसरे स्थान पर अपनी जगह बनाने वाला है। इसी वजह से इस वक्त स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को अपने फोन में दाम के साथ-साथ आधुनिक फीचर का भी अच्छे से ख्याल रखना पड़ता है।

    OnePlus: स्टार्टअप से टॉप स्टैंडर्ड तक का सुनहरा सफर

    भारत में स्मार्टफोन कंपनियों का राज

    भारत में स्मार्टफोन यूजर्स अब नए-नए इनोवेटिव फीचर्स की मांग करते हैं। कुछ यूजर्स तो हर तीन महीने में अपना स्मार्टफोन बदलते हैं वहीं कुछ यूजर्स लंबे समय तक स्मार्टफोन चलाते हैं और उसे समय-समय पर अपडेट करते रहते हैं। ऐसे यूजर्स उस स्मार्टफोन को खरीदने की चाह रखते हैं जो ज्यादा समय तक चल सके। इसके अलावा स्मार्टफोन बनाने वाले निर्माताओं को भी कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ता है। जैसे बाजार की गतिशीलता, बिक्री मॉडल (ऑफलाइन, ऑनलाइन) बिक्री के बाद का फीडबैक और फिर प्रॉडक्ट को कुछ समय के अंतराल के बाद नए सिरे से बिक्री करने की भी जरूरत होती है।

    भारत में स्मार्टफोन उपयोगकर्ता मूलभूत बातें खोने के बिना चरम नवाचार और नवीनतम सुविधाओं की मांग करते हैं। कुछ उपयोगकर्ता हर तीन महीने में अपने हैंडसेट बदल सकते हैं, और कुछ लंबे समय तक उनके साथ चिपक सकते हैं और नियमित सॉफ्टवेयर अपडेट और दीर्घकालिक प्रदर्शन की अपेक्षा करते हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि एक स्मार्टफोन निर्माता को अन्य महत्वपूर्ण बाजार गतिशीलता जैसे बिक्री मॉडल (ऑफ़लाइन और ऑनलाइन), बिक्री सेवा समर्थन के बाद, और फिर भी पुनर्विक्रय मूल्य की देखभाल करने की आवश्यकता होती है जो कंपनी के उत्पादों के समय के बाद प्रदान करता है।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    वनप्लस स्मार्टफोन निर्माताओं की लिस्ट में सबसे ऊपर

    उपयुक्त सभी बातों को ध्यान में रखते हुए बहुत सारी स्मार्टफोन कंपनियों ने भारतीय बाजार में काफी हद तक सफलता पाने में कामयाबी पायी है। इन सभी कंपनियों में इस वक्त सबसे ऊपर वनप्लस है। वनप्लस अब आधुनिक समय में सबसे मुख्य स्मार्टफोन मेकर्स में से एक है। इस कंपनी ने अपना पहला प्रोडक्ट साल 2014 में लॉन्च किया था, लेकिन अब ये कंपनी एप्पल, सैमसंग, हुवाई जैसी कंपनियों को कड़ी टक्कर दे रही है।

    विशेष रूप से, वनप्लस ने आईडीसी के त्रैमासिक मोबाइल फोन ट्रैकर Q4 2017 के अनुसार Q4, 2017 में 48 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी हासिल की। ​​कंपनी प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में सबसे तेजी से बढ़ते ब्रांड के रूप में उभरा है और भारतीय में आने के बाद सिर्फ 3 वर्षों के भीतर सबसे बड़ा एंड्रॉइड प्रीमियम स्मार्टफोन ब्रांड बन गया बाजार। वनप्लस के बढ़ने का दौर साल 2017 में वनप्लस 5T के लॉन्च करने के बाद ही नहीं रूका, बल्कि वहां से तो असली शुरूआत हुई।

    OnePlus का सुनहरा सफर

    वनप्लस कंपनी ने वनप्लस 6 को मार्केट में लॉन्च करके एक नया बेंचमार्क स्थापित किया है। Q2 के काउंटरपॉइंट डेटा के अनुसार, वनप्लस 6 प्रीमियम सेगमेंट में बेस्ट सेलिंग मॉडल था, इसने इस तिमाही यानि बीते तीन महीने में सबसे आगे रहने में कामयाबी पाई है। जिसकी वजह से कंपनी ने सैमसंग और एप्पल को भी पीछे छोड़ दिया। वनप्लस के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है। कंपनी की प्रोडक्ट लिस्ट में अभी तक सिर्फ 8 स्मार्टफोन ही है लेकिन प्रत्येक प्रोडक्ट के पास कुछ शानदार चीजें हैं और नया स्मार्टफोन कंपनी को एक नई बुलंदी तक पहुंचा रहा है। आइए कंपनी के पोर्टफोलियो और उपलब्धियों पर नज़र डालें।

     

    OnePlus 1

    वनप्लस वन के रूप में कंपनी ने पहले फ्लैगशिप किलर स्मार्टफोन के साथ अपने सफर की शुरुआत की। वनप्लस ने अपने पहले स्मार्टफोन वनप्लस वन के माध्यम से एक मैसेज दे दिया कि वो आने वाले टाइम में बड़ी उबलब्धियां हासिल करने वाले हैं। उसके बाद वनप्लस ने एक के बाद एक कई नए स्मार्टफोन को नई-नई आधुनिक और यूनिक फीचर्स के साथ लॉन्च करना शुरू कर दिया।

    OnePlus 2

    हम अभी भी वर्ष 2015 में उस दिन को याद करते हैं जब वनप्लस ने टाइप-सी पोर्ट के साथ वनप्लस 2 पेश किया था। वो एक ऐसी सुविधा थी, जो धीरे-धीरे आजकल मानक बन रही है, और आजकल बाजार में हर मूल्य वाले फ्लैगशिप स्मार्टफोन में आसानी से देखी जा सकती है। उस समय, इसने स्टार्टअप ब्रांड की अगली और नई सोच दिखायी और स्पष्ट रूप से कहा कि वनप्लस जोखिम और प्रयोग करने से डरता नहीं है।

    कम दाम में फ्लैगशिप स्मार्टफोन

    असंभव लक्ष्य को हासिल करने की दौड़ में वनप्लस ने समय-समय पर एक नया स्मार्टफोन प्रोडक्ट को पेश करना जारी रखा। वनप्लस स्मार्टफोन ने फ्लैगशिप चिपसेट और बेजोड़ सॉफ़्टवेयर प्रदर्शन की पेशकश की है। यहां तक की दुनिया की टॉप स्मार्टफोन मेकर कंपनी भी अपने ज्यादा दाम वाले स्मार्टफोन में भी वनप्लस के इस तकनीक को टक्कर नहीं दे पाई। वनप्लस के बजट स्मार्टफोन वनप्लस एक्स में भी AMOLED डिस्प्ले था। आपको बता दें कि AMOLED डिस्प्ले सैमसंग के अल्ट्रा-प्रीमियम गैलेक्सी एस स्मार्टफोन रेंज में शामिल थी।

    OnePlus 3 ने दिया सबसे तेज चार्जिंग तकनीक

    इसके बाद कंपनी ने वनप्लस 3 को मार्केट में पेश किया। कंपनी ने इस स्मार्टफोन से मेटल डिजाइन और क्रांतिकारी 'डैश' चार्जिंग तकनीक की शुरुआत की जो कि अब तक यूज़ किए गए सभी चार्जिंग तकनीक में सबसे तेज़ चार्जिंग तकनीक है। वनप्लस ने वनप्लस 3 और 3 टी के साथ फ्लैगशिप क्लास कैमरे भी पेश किए जो कि काफी अधिक कीमत वाले प्रोडक्ट को चुनौती देते थे।

    OnePlus 5 और 5T ने दिलाई एक नई पहचान

    इसके बाद मार्केट में आया वनप्लस 5 और वनप्लस 5टी। इन दोनों स्मार्टफोन का दुनिया के सभी बड़े से बड़े ब्रांड ने स्वागत किया। वनप्लस 5 और 5 टी ने दोहरे-लेंस कैमरा सेटअप, नए डिज़ाइन और बड़े और बेहतर डिस्प्ले के साथ अपने स्मार्टफोन और कंपनी का स्तर ऊंचा कर दिया। दिलचस्प बात यह थी कि उस वक्त सिर्फ वनप्लस के फैन या तकनीकी व्यक्ति ही वनप्लस के नए स्मार्टफोन के लिए उत्साहित नहीं थे, ब्लकि अन्य स्मार्टफोन ब्रांड भी उत्साहित थे। उन्होंने वनप्लस के नए स्मार्टफोन के मार्केट में आने के बाद उसका स्वागत किया और कंपनी को बधाई भी दी। उस दौरान इनॉक्स, ज़ोमैटो, हेल्थकार्ट इत्यादि जैसे अग्रणी ब्रांड वनप्लस के साथ हाथ मिलाकर सोशल नेटवर्क्स और अन्य मीडिया चैनलों पर पोस्ट और बैनर लगाए।

    OnePlus 6 ने तोड़ दिए सभी रिकॉर्ड

    वनप्लस के इस सफर को अब हम साल 2018 में लेकर आ गए हैं। साल 2018 वनप्लस के लिए एक बड़ा बदलाव लेकर आया है। इस साल कंपनी ने अपना नया प्रीमियम स्मार्टफोन वनप्लस 6 को मार्केट में लॉन्च किया। इस स्मार्टफोन के इंतजार में दुनियाभर के यूजर्स कायल हो चुके थे। सभी इस स्मार्टफोन के लॉन्च होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। यह नया और लेटेस्ट फ्लैगशिप किलर स्मार्टफोन कंपनी के अपने डेडीकेशन के प्रति पूरे समर्पण को दिखाता है। इसके साथ वनप्लस के इंजीनियर थे जिन्होंने इस स्मार्टफोन के जरिए फीचर्स और उसके प्रदर्शन का एक नया स्टैंडर्ड ही मार्केट में सेट कर दिया। वनप्लस ने इस स्मार्टफोन के लिए एक आर एंड डी डिवीजन की टीम को स्थापित किया था।

    टीम एफएसई (फास्ट, स्थिर, कुशल) ने कंपनी के नवीनतम फ्लैगशिप उपकरणों की शक्ति को अधिकतम यानि ज्यादा से ज्याद बढ़ाने पर काम किया। टीम कंपनी के संस्थापक और सीईओ, पीट लॉ, के अंडर में काम करती है। OnePlus का मानना है कि स्मार्टफोन हमारे जीवन का बोझ नहीं होना चाहिए; इसके बजाय, उन्हें इसे बेहतर और स्मार्टर बनाना चाहिए। वनप्लस 6 के प्रदर्शन ने कंपनी के इस सिद्धांत को काफी हद तक सहीं करके दिखाया है।

    हमने वनप्लस 6 की समीक्षा की है और हम कह सकते हैं कि यह स्मार्टफोन अपने प्राइस रेंज में सबसे शक्तिशाली और सबसे बेहतर प्रदर्शन देने वाला हैंडसेट है। इस स्मार्टफोन ने अब स्पष्ट कर दिया है कि यह भारतीय बाजार में अब सिर्फ एक योग्य कंप्टीटर ही नहीं ब्लकि सभी स्मार्टफोन का सरदार है।

    फैन्स में वनप्लस का विश्वास

    इन सभी प्रोडक्ट को लॉन्च करने के बाद अब वनप्लस ने अपने फैन्स के साथ एक अनोखा और प्यारा रिलेशन बना लिया है। अपने फैन्स के दिलों में वनप्लस ने पूरा विश्वास जमा लिया है। इस ब्रांड ने अपने फैन्स की सुविधा के लिए फ़ोरम, संस्थापकों के साथ संगठित प्रशंसक मिल-अप और वनप्लस पॉप-अप स्टोर भी पेश किए जहां कोई भी कंपनी के नवीनतम उत्पादों का अनुभव कर सकता है और उन्हें खरीद सकता है।

     

     

    OnePlus ने Disney में भी भाग लिया

    वनप्लस ने मोबाइल दुनिया के इतिहास में अपनी तरह की साझेदारी के लिए डिज्नी (Disney) में भी भाग लिया। ब्रांड ने पहले स्टार वार्स एडिशन वनप्लस 5 टी पेश किया और हाल ही में वनप्लस 6 मार्वेल्स एवेनर्स एडिशन के साथ मार्केट में आया। ये केवल वनप्लस स्मार्टफोन के एकत्रित एडिशन हैं जो हमेशा के लिए जीते रहेंगे, और इसलिए वनप्लस 6 हमें एक आश्चर्यजनक स्मार्टफोन लगता है।

     


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    The OnePlus Company has launched a new benchmark by launching OnePlus 6 in the market. According to the counterpoint data of Q2, the OnePlus 6 was the best selling model in the premium segment, it has managed to succeed in the quarter that is in the last three months. Because of this, the company also surpassed Samsung and Apple.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more